अलीगढ़ के बाद अब दिल्ली के कॉलेज में सांप्रदायिक रंग देने की कोशिश, सेंट स्टीफेंस के चर्च के गेट पर लिखा, ‘मंदिर यहीं बनेगा’

0

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) में पाकिस्तान के संस्थापक मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर को लेकर जारी विवाद के बाद अब दिल्ली में भी सांप्रदायिक रंगे देने की कोशिश हो रही है। दिल्ली विश्वविद्यालय के प्रतिष्ठित सेंट स्टीफेंस कॉलेज के अंदर बने चैपल (चर्च) के गेट पर कुछ अराजक तत्वों ने शुक्रवार को भड़काऊ शब्द लिख दिए है। इतना ही नहीं चैपल के बाहर लगे क्रॉस को भी नुकसान पहुंचाया गया है। बीजेपी और कांग्रेस समर्थित छात्र संगठनों के नेता एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगा रहे हैं।दरअसल, डीयू के सेंट स्टीफेंस कॉलेज स्थित चर्च के मुख्य द्वार पर किसी शरारती तत्वों ने रोमन लिपि में काले अक्षरों में  ‘मंदिर यहीं बनेगा’ लिख दिया है। साथ ही गिरिजाघर के बाहर बने ईसाइयों के पवित्र धार्मिक क्रास पर भी ओम लिखकर ‘मैं नरक जा रहा हूं’ लिखा गया है। कॉलेज प्रशासन के सूत्रों का कहना है कि वह इस मामले की जांच कर रहे हैं कि आखिर यह किसने लिखा है। वहीं, बीजेपी समर्थित एबीवीपी और कांग्रेस समर्थित एनएसयूआई दोनों छात्र संगठनों ने निंदा की है। जिस गेट पर शरारती तत्वों ने यह बातें लिखी हैं।

वहीं, समाचार एजेंसी भाषा के मुताबिक दिल्ली पुलिस ने शनिवार को कहा कि दिल्ली विश्वविद्यालय के शीर्ष कॉलेज सेंट स्टीफेंस में एक ईसाई प्रार्थना गृह के मुख्य द्वार पर कथित रूप से विवादित बातें लिखे होने के संबंध में उन्हें कोई सूचना नहीं मिली है। छात्र संघ के अध्यक्ष साई आशीर्वाद ने इससे पहले कहा था कि ‘मंदिर यहीं बनेगा’ जैसी भड़काऊ बातें ईसाई प्रार्थना गृह के मुख्य द्वार पर लिखी पाई गई हैं।

जबकि चैपल के क्रॉस के पीछे कल (शुक्रवार) ‘ओम’ का संकेत और ‘मैं नर्क जाने वाला हूं’’ लिखा हुआ मिला था। उन्होंने कहा, ‘‘हालांकि, आज (शनिवार) का संदेश स्पष्ट था।’’ दिल्ली पुलिस का कहना है कि उन्हें ऐसी किसी घटना की सूचना नहीं है। कॉलेज प्रशासन ने छात्रों को 28 अप्रैल से परीक्षा की तैयारियों के लिए छुट्टी दे दी है। सिर्फ प्रायोगिक परीक्षा वाले कॉलेज आ रहे हैं। कॉलेज के प्राचार्य जॉन वर्गीज इस बारे में टिप्पणी करने के लिए उपलब्ध नहीं हो सके।

बता दें कि मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर को लेकर अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) में जारी घमासान बढ़ता ही जा रहा है। एएमयू कैंपस के बाब-ए-सैयद गेट पर चौथे दिन छात्रों का विरोध प्रदर्शन जारी रहा। छात्रों ने मांग की है कि दो मई को उपद्रव करने वाले हिन्दू संगठनों के नेताओं और बीजेपी सांसद सतीश गौतम की गिरफ्तारी होनी चाहिए, तभी उनका प्रदर्शन खत्म होगा। बता दें कि विवाद तब शुरू हुआ जब अलीगढ़ से सांसद सतीश गौतम ने एएमयू के छात्र संघ कार्यालय की दीवारों पर पाकिस्तान के संस्थापक की तस्वीर लगी होने पर आपत्ति जताई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here