राजकोट : नोटबंदी से बेटी की शादी के लिए परेशानी का सामना कर रहे परेशान व्यक्ति ने की खुदकुशी

0

गुजरात के राजकोट में अपनी बेटी की शादी के लिए नकदी की किल्लत से परेशान 45-वर्षीय दलित व्यक्ति ने मंगलवार तड़के अपने आवास में फांसी लगाकर कथित तौर पर आत्महत्या कर ली।

त्रिभुवन सुमेसारा का शव एजी जीआईडीसी के निकट खोदियारनगर इलाके स्थित उसके घर में पंखे से लटका हुआ पाया गया।

पुलिस उप निरीक्षक एसबी सोलंकी ने बताया, ‘सुमेसारा के बेटे अजय ने अपने पिता के शव को सुबह पंखे से लटका पाया। इसके बाद उसने एंबुलेंस के लिए ‘108’ नंबर पर फोन किया। डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।’

Also Read:  आत्महत्या से पहले Whatsapp पर लिखा, "मुझे ऐसी दुनिया में नही रहना जहाँ इंसान से ज्यादा पैसो की कीमत है"

उनके एक रिश्तेदार ने पुलिस को बताया कि सुमेसारा पहले एक अनियमित श्रमिक के तौर पर काम करता था लेकिन दो बार दिल का दौरा पड़ने के बाद उसने काम छोड़ दिया उसका 21-वर्षीय बेटा अजय जीआईडीसी इलाके के एक कारखाने में काम करता है।

Also Read:  पीएम मोदी ने दांव पर लगाया अपना करियर, देश बन गया है इंस्टेंट नूडल्स- विवेक ओबरॉय

पुलिस की जांच में यह बात सामने आई है कि सुमेसारा अगले महीने अपनी बेटी की शादी के लिए रुपये की व्यवस्था करने में नाकाम रहने को लेकर बहुत अधिक निराश था।

भाषा की खबर के अनुसार, सोलंकी ने कहा, ‘सुमेसारा ने अगले महीने अपनी बेटी की शादी तय की थी। अपनी सीमित आय के कारण उसने अपने रिश्तेदारों से रुपये उधार मांगे थे।

Also Read:  कोच्चि के अमाल को मार्क ज़करबर्ग ने सस्तें में ही निपटा डाला

हालांकि रिश्तेदारों ने अपने पास केवल 500 और 1000 रुपये के नोट होने का हवाला देते हुए रकम नहीं दे पाने की बात कही थी।’

उन्होंने बताया, ‘हमारा मानना है कि सुमेसारा ने खुदकुशी की होगी, क्योंकि खर्चों की व्यवस्था नहीं हो पाने के कारण वह अपनी बेटी की शादी को लेकर बहुत अधिक चिंतित था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here