मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने BJP की गुजरात जीत को बताया ‘नैतिक हार’

0

गुजरात और हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनावों में एक बार फिर ‘ब्रांड मोदी’ का असर दिखा। इसकी बदौलत भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) जहां गुजरात में अपनी सरकार बचाने में सफल रही, वहीं हिमाचल प्रदेश की सत्ता कांग्रेस से छीन ली है। इसी बीच, पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी ने बीजेपी की गुजरात विधानसभा चुनाव में जीत को ‘अस्थायी’ और ‘लाज बचाने वाली’ बताया। ममता ने बीजेपी की जीत को ‘नैतिक हार’ करार दिया।

ममता बनर्जी

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सोमवार (18 दिसंबर) को ट्वीट करते हुए लिखा कि, ‘मैं गुजरात के मतदाताओं को इस दौर में बहुत ही संतुलित फैसले के लिए बधाई देती हूं। यह अस्थायी व लाज बचाने वाली जीत है, लेकिन यह बीजेपी की ‘नैतिक हार’ को दिखाती है।’

साथ ही उन्होंने लिखा कि, ‘गुजरात ने आम लोगों पर हुए अत्याचारों, व्यग्रता व अन्याय के खिलाफ वोट दिया। गुजरात ने 2019 का आगाज कर दिया।’

वहीं दूसरी ओर बीजेपी के आलोचक रहे अभिनेता प्रकाश राज ने सोमवार को गुजरात चुनावों में भगवा पार्टी की जीत पर उसकी तारीफ की लेकिन साथ ही पूछा कि पार्टी 150 से ज्यादा सीट लाने के अपने लक्ष्य को हासिल क्यों नहीं कर पाई।

बता दें कि, सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने गुजरात में सत्ता बरकार रखने में सफल रही है और हिमाचल प्रदेश में जीत दर्ज की है। बीजेपी लगातार छठी बार गुजरात में सरकार बनाएगी। बता दें कि, गुजरात की 182 सीटों में से बीजेपी को 99 पर जीत मिली है। कांग्रेस ने सहयोगी दलों के साथ यहां 80 सीटें जीती हैं।

गुजरात-हिमाचल में ‘मोदी मैजिक’

बता दें कि गुजरात और हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनावों में एक बार फिर ‘ब्रांड मोदी’ का असर दिखा। इसकी बदौलत भाजपा जहां गुजरात में अपनी सरकार बचाने में सफल रही, वहीं हिमाचल प्रदेश की सत्ता कांग्रेस से छीन ली है। गुजरात की 182 सीटों में से भाजपा को 99 पर जीत मिली है। कांग्रेस ने सहयोगी दलों के साथ यहां 80 सीटें जीती हैं। भाजपा लगातार छठी बार गुजरात में सरकार बनाएगी।

कांग्रेस बहुमत से काफी पीछे है लेकिन राहुल गांधी के सघन प्रचार अभियान और हार्दिक पटेल के साथ से कांग्रेस को फायदा मिलता दिख रहा है। वर्ष 2012 के गुजरात विधानसभा चुनाव में 182 सीटों वाली सदस्यीय विधानसभा में बीजेपी को 115, कांग्रेस को 61 और अन्य दलों को छह सीटों पर जीत मिली थी।

उधर हिमाचल प्रदेश में हर 5 साल बाद सत्ता में परिवर्तन का क्रम जारी रहा और कांग्रेस की जगह एक बार फिर बीजेपी सरकार प्रचंड बहुमत से सत्ता में आ रही है। 68 सीटों वाली हिमाचल विधानसभा में पार्टी को 44 सीटें मिली हैं वहीं कांग्रेस 21 सीट पर सिमट कर रह गई है।

हालांकि भाजपा के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार प्रेम कुमार धूमल सुजानपुर से चुनाव हार गए हैं। पिछले चुनाव में कांग्रेस को 36 और भाजपा को 26 सीटें मिली थीं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here