कश्मीरी युवक को जीप पर बांधकर घुमाने वाले मेजर गोगोई को पुलिस ने होटस से लड़की के साथ कथित तौर पर हिरासत में लिया

0

पिछले साल एक कश्मीरी युवक फारूख अहमद डार को जीप के बोनेट पर बांधकर चर्चा में आए मेजर नितिन लीतुल गोगोई कथित तौर पर होटल और लड़की के विवाद में फंस गए हैं। मेजर गोगोई को जम्‍मू कश्‍मीर पुलिस ने बुधवार (23 मई) को कथित तौर पर एक लड़की के साथ हिरासत में लिया है। बता दें कि मेजर गोगोई वही सेना के अधिकारी हैं जिन्‍होंने पिछले वर्ष फारूक अहमद डार नामक युवक को अपनी जीप पर बांधा था। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक मेजर गोगोई को एक स्‍थानीय लड़की के साथ होटल से हिरासत में लिया गया है।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक गोगोई के खिलाफ कानूनी कार्रवाई शुरू कर दी गई है। मेजर गोगोई सेंट्रल कश्‍मीर के बडगाम जिले में पोस्‍टेड हैं। कश्मीर पुलिस ने मेजर गोगोई को एक स्थानीय लड़की और एक युवक के साथ होटल से थाना लाया और उनका बयान दर्ज करके उन्हें सेना के हवाले कर दिया है। पुलिस प्रवक्‍ता की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक बुधवार को सुबह करीब 11 बजे इस बात की जानकारी मिली थी।

मीडिया रिपोर्ट होटल में मेजर गोगोई ने एक कमरा बुक किया था जिसकी बुकिंग में उन्होंने 2 लोगों के ठहरने की बात बताई थी। उन्होंने बुकिंग में ये भी लिखा था को बिजनेस के सिलसिले में आ रहे हैं, इसलिए अपना बिजनेस क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करेंगे। बुधवार की सुबह 11 बजे पुलिस को होटल ग्रैंड ममता से फोन गया कि यहां एक लड़की और एक लड़का हंगामा कर रहे हैं, क्योंकि उन्हें रिसेप्शन ने मेजर गोगोई के कमरे में नहीं जाने दिया।

पुलिस की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक सुबह करीब 11 बजे खानयार पुलिस स्‍टेशन को होटल ग्रैंड ममता से काफल आई थी। इस फोन कॉल में होटल में झगड़ा और कहा-सुनी की बात कही गई थी। सूत्रों के मुताबिक एक लड़की और एक लड़का मेजर गोगोई से मिलने आए थे जो पहले ही होटल में चेक-इन कर चुके थे। लेकिन होटल मैनेजर ने लड़की को कमरे में जाने की मंजूरी नहीं दी और इसी वजह से झगड़ा शुरू हो गया। पुलिस ने होटल में एक पार्टी को तैनात कर दिया।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक लड़की की उम्र 19 साल के करीब है और उसका नाम गोपनीय रखा गया है, जबकि उसके साथ रहे युवक की पहचान बडगाम के शमीर अहमद के रूप में हुई है। पुलिस ने सेना के अधिकारी मेजर गोगोई, लड़की और उसके साथ रहे शमीर अहमद को थाना लेकर आई। मेजर गोगोई का बयान दर्ज करने के बाद पुलिस ने उन्हें सेना के हवाले कर दिया। महिला का बयान दर्ज करके पुलिस आगे की जांच कर रही है। कश्मीर जोन के आईजी एसपी सैनी ने श्रीनगर नॉर्थ के एसपी को मामले की जांच का आदेश दिया है।

बता दें कि श्रीनगर में पिछले साल 9 अप्रैल को वोटिंग के दौरान बीड़वाह समेत कई इलाकों में वोटिंग बूथ पर हिंसा हुई थी। इसी दौरान मेजर लीतुल गोगोई ने पत्थरबाजी कर रहे लोगों की भीड़ से कथित रूप से कश्मीरी युवक डार को पकड़कर जीप के आगे बांधकर मानव ढाल बनाया था। इसका वीडियो वायरल होने पर सेना की काफी आलोचना हुई थी।साथ ही कश्मीरी युवक फारूख अहमद डार ने भी इस कृत्य के लिए मेजर डार और सेना पर सवाल उठाया था।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here