मजीठिया से माफी पर AAP में घमासान जारी: संजय सिंह ने केजरीवाल के बयान से किया किनारा, कहा- ‘मजीठिया ड्रग्स डीलर है और उसे जेल जाना चाहिए’

0

दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी (AAP) के संयोजक अरविंद केजरीवाल द्वारा शिरोमणि अकाली दल के महासचिव व पंजाब के पूर्व कैबिनेट मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया से मांफी मांगने पर आम आदमी पार्टी (AAP) में घमासान मच गया है। AAP के कई वरिष्ठ नेता इससे खासे नाराज हैं। मजीठिया से माफी मांगने से नाराज कई नेताओं ने सार्वजनिक रूप से केजरीवाल पर हमला बोला है।

संजय सिंह
फाइल फोटो

NDTV के मुताबिक, पार्टी की ओर राज्यसभा भेजे गए संजय सिंह ने इस प्रकरण में अरविंद केजरीवाल से दूरी बना ली है। संजय ने कहा है कि वह अरविंद केजरीवाल के मसले पर कुछ नहीं कहेंगे। लेकिन उन्होंने फिर साफ कहा कि मैं अपनी बात पर कायम हूं कि मजीठिया ड्रग्स डीलर है और उसे जेल जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि पार्टी की राज्य इकाई में नाराजगी है और आप नेताओं को भगवंत मान से बात करनी चाहिए।

वहीं समाचार एजेंसी ANI से बातचीत में मजीठिया से केजरीवाल की माफी को लेकर कहा कि कई लोग नाखुश हैं। मुझे लगता है कि न्याय होगा, बी.एस. मजीठिया जैसे लोगों को जेल में होना चाहिए। इसके अलावा एक खबर को शेयर करते हुए संजय सिंह ने ट्विटर पर लिखा है कि ‘विक्रम मजीठिया ने पंजाब के युवाओं की ज़िंदगी बर्बाद की है, STF की रिपोर्ट में हुए ख़ुलासे के आधार पर मजीठिया की तत्काल गिरफ़्तारी होनी चाहिये।’

भगवंत मान ने पंजाब अध्यक्ष पद से दिया इस्तीफा

वहीं, आम आदमी पार्टी (AAP) संयोजक और दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल के अकाली नेता बिक्रम मजीठिया से लिखित माफी मांगने के मामले पर पार्टी में घमासान मच गया है। इसे लेकर नाराज चल रहे AAP के पंजाब प्रभारी और सांसद भगवंत मान ने प्रदेश अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया है। भगवंत मान ने कहा है कि पंजाब के ड्रग माफिया और भ्रष्टाचार के खिलाफ उनकी लड़ाई आम आदमी के रूप में जारी रहेगी।

भगवंत मान ने फेसबुक पर पंजाबी और अंग्रेजी भाषा मे पोस्ट करते हुए अपने इस्तीफे की जानकारी दी है। भगवंत मान ने लिखा, “मैं आम आदमी पार्टी के पंजाब अध्यक्ष पद से इस्तीफ़ा दे रहा हूं, लेकिन ड्रग माफिया और तमाम भ्रष्टाचार के खिलाफ मेरी लड़ाई एक ‘आम आदमी’ की तरह जारी रहेगी।”

बता दें कि केजरीवाल द्वारा बिक्रम मजीठिया से लिखित में माफी मांगने के मामले पर आम आदमी पार्टी (AAP) की पंजाब इकाई में खासी नाराजगी है। भगवंत मान के अलावा आप विधायक व पंजाब में नेता प्रतिपक्ष सुखपाल सिंह खैरा और विधायक कंवर संधू ने इसे गलत बताते हुए विरोध जताया। खैरा ने कहा कि केजरीवाल ने पार्टी से चर्चा किए बगैर यह कदम उठाया है। वहीं, पार्टी के नाराज नेता कुमार विश्वास ने भी इसे लेकर बिना नाम लिए केजरीवाल पर तंज कसा है।

सुखपाल सिंह खैरा ने केजरीवाल के इस फैसले पर हैरानी जताते हुए ट्वीट कर कहा है कि, ‘हम केजरीवाल द्वारा माफी मांगे जाने से आश्‍चर्यचकित हैं और हमें यह कहने में कोई हिचक नहीं है कि उनके जैसे कद के नेता द्वारा इस तरह समर्पण करने से पहले हमसे संपर्क नहीं किया गया।’

वहीं, केजरीवाल के माफीनामे की सूचना मिलने पर खरड़ से आप विधायक और पार्टी की मेनिफेस्टो कमेटी के चेयरमैन कंवर संधू ने ट्वीट करके कहा कि, ‘अगर आप सत्य के लिए खड़े होते हैं तो मानहानि के दावों का सामना करना पड़ता है। मैं अभी तक पंजाब केबल माफिया द्वारा दाखिल किए गए केस का सामना कर रहा हूं। हम अंत तक लड़ेंगे। अरविंद केजरीवाल की मजीठिया से माफी ने लोगों को शर्मिंदा किया है, खास तौर पर पंजाब के युवाओं को। पार्टी की पजांब यूनिट से इस बारे में कोई चर्चा नहीं की गई। हमारी लड़ाई जारी रहेगी।’

उधर आम आदमी पार्टी के नेता कुमार विश्‍वास ने मामले पर तल्‍ख टिप्‍पणी की है। उन्‍होंने ट्वीट कर अपनी प्रतिक्रिया जताई है। कुमार ने लिखा है, ‘एकता बाँटने में माहिर है, खुद की जड़ काटने में माहिर है, हम क्या उस शख़्स पर थूकें जो खुद, थूक कर चाटने में माहिर है!’

केजरीवाल ने मजीठिया से मांगी माफी

बता दें कि आम आदमी पार्टी (AAP) के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने शिरोमणि अकाली दल के महासचिव व पंजाब के पूर्व कैबिनेट मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया को ड्रग्स तस्कर बताने के अपने बयान को वापस लेते हुए उनसे लिखित में माफी मांग ली है। गौरतलब है कि पंजाब विधानसभा चुनाव के दौरान केजरीवाल ने हर चुनावी मंच से मजीठिया को ड्रग्स तस्कर बताया था। जिसके बाद मजीठिया ने अमृतसर कोर्ट में केजरीवाल, संजय सिंह और आशीष खेतान पर मानहानि का केस ठोका। इसमें तीनों नेताओं को जमानत लेनी पड़ी थी।

अपने माफीनामे में केजरीवाल ने लिखा है कि मैंने पहले कई बार आप (ब्रिकम मजीठिया) पर ड्रग सप्लाई में शामिल होने के आरोप लगाए। अब मुझे पता चला है कि यह आरोप बेबुनियाद है। इसीलिए मैं अपने सभी बयान और आरोप वापस लेता हूं। आपके परिवार, दोस्तों और उनके शुभचिंतकों के सम्मान को पहुंची चोट के लिए भी माफी मांगता हूं। इसके लिए मुझे खेद भी है। मेरी गुजारिश है कि कोर्ट में चल रहा केस वापस ले लें।

गुरुवार (15 मार्च) शाम को मजीठिया ने केजरीवाल का माफीनामा ट्वीट किया। मजीठिया ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से ट्वीट कर लिखा, ‘मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मुझसे उन सभी निराधार और झूठे आरोपों के लिए कोर्ट में माफी मांगी है जो उन्होंने और उनकी पार्टी ने मुझपर ड्रग को लेकर लगाए थे। इन आरोपों के कारण मेरी मां को काफी तकलीफ पहुंची थी और यह माफी उनका वाहेगुरु के न्याय में अटूट विश्वास का प्रमाण है।’

जेटली से भी मांगेंगे माफी?

बताया जा रहा है कि वह केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली से भी जल्द ही माफी मांग सकते हैं। बता दें कि जेटली ने केजरीवाल समेत आम आदमी पार्टी के पांच नेताओं पर दो केस कर 10-10 करोड़ के मुआवजे की मांग की है। केजरीवाल पर उत्तर प्रदेश, पंजाब, असम, महाराष्ट्र, गोवा में भी मानहानि व चुनाव आचार संहिता उल्लंघन के कई मामले दर्ज हैं। पार्टी प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज का कहना है कि ये मुकदमे हमें कानूनी मामलों में उलझाए रखने के लिए दर्ज कराए गए हैं। इन सभी मामलों को आपसी सहमति से सुलझाने पर विचार चल रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here