जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने पर भड़कीं पाकिस्तानी एक्ट्रेस माहिरा खान और वीना मलिक

0

मोदी सरकार ने सोमवार को ऐतिहासिक फैसला लेते हुए जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को खत्म कर दिया है। आज सुबह 11 बजे राज्यसभा में गृह मंत्री अमित शाह ने भारी हंगामे के बीच इसका ऐलान किया। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की अगुवाई वाली केंद्र सरकार के इस फैसले को लेकर बॉलीवुड हस्तियों से लेकर तमाम दिग्गज हस्तियों ने अपने विचार सोशल मीडिया पर शेयर किए हैं।

जम्मू कश्मीर

सरकार के इस फैसले का जहां देश में कई लोग दिल खोलकर स्वागत कर रहे हैं वहीं कांग्रेस जमकर विरोध कर रही हैं। इसी बीच, पाकिस्तानी एक्ट्रेस भी सोशल मीडिया पर अपनी भड़ास निकाल रही हैं। पाकिस्तानी एक्ट्रेस माहिरा खान और वीना मलिक ने एक के बाद एक ट्वीट कर भारत सरकार पर अपनी नाराजगी जाहिर की।

पाकिस्तानी अभिनेत्री माहिरा खान ने जम्मू-कश्मीर के मुद्दे पर अपनी चिंता व्यक्त करते हुए ट्वीट किया, ‘जिस पर हम चर्चा नहीं करना चाहते हैं, उस पर हमें बहुत ही आसानी से खामोश कर दिया गया है। ये रेत पर लकीर खींचने की तरह है… जन्नत जल रही है और हम खामोशी से आंसू बहा रहे हैं।’

बता दें कि 34 वर्षीया माहिरा खान ने पाकिस्तान के साथ ही भारत में भी जबरदस्त पहचान बनाई थी। माहिरा खान ने फिल्म ‘रईस’ में शाहरुख खान की बीवी का किरदार अदा किया था, जिसके जरिए उन्होंने लोगों के दिल में भी खूब जगह बनाई थी।

वहीं ‘बिग बॉस’ की पूर्व प्रतियोगी व पाकिस्तानी अभिनेत्री वीना मलिक ने भी भारत सरकार पर अपनी भड़ास निकाली है। वीना ने ट्वीट किया, शर्म है…!!!भारत कैसे धारा 370 को रद्द कर सकता है। कश्मीर अभी भी एक विवादित क्षेत्र है!!!। इसके साथ ही वीना ने अपने एक और ट्वीट में लिखा, एक मिलियन सैनिक बलों के साथ की ताकत के साथ कश्मीर को कर्फ्यू जैसी स्थिति में डाल दिया गया। और इससे साफ तौर जाहिर होता है कि Article 370 को जबरदस्ती हटाया जा रहा है। ऐसे में यूनाईटेड नेशन की भूमिका को याद किया जाना चाहिए।

माहिरा खान और वीना मलिक के अलावा एक और पाकिस्तानी अभिनेत्री ने कश्मीर के हालात को लेकर प्रतिक्रिया दी। मावरा हॉकेन ने ट्वीट किया, ‘यह अमानवीय है। क्या हम लोग अंधेरे में रहते हैं? मानव जीवन की रक्षा के लिए अनगिनत परंपराएं? उस सभी नियमों और अधिकारों का क्या हुआ जो किताब में पढ़ते हैं? क्या उसका कोई मतलब है?’

बता दें कि, केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने सोमवार सुबह राज्यसभा में जम्मू-कश्मीर से धारा 370 खत्म करने की सिफारिश की। इसके बाद राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने इसे मंजूरी दे दी। इसके साथ ही जम्मू-कश्मीर से विशेष राज्य का दर्ज छिन गया। अमित शाह ने लद्दाख के लिये केंद्र शासित प्रदेश के गठन की घोषणा की जहां चंडीगढ़ की तरह से विधानसभा नहीं होगी। अमित शाह ने राज्यसभा में घोषणा की कि कश्मीर और जम्मू डिवीजन विधान के साथ एक अलग केंद्र शासित प्रदेश होगा जहां दिल्ली और पुडुचेरी की तरह विधानसभा होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here