पंजाब में इंसानियत शर्मसार: दलित लड़के की टांग काटकर ले गया शराब माफिया, मौत

0

पंजाब मानसा के गांव घरागणां में सोमवार रात 20 साल के दलित युवक सुखचैन सिंह को शराब माफिया ने अगवा किया। फिर दोनों पांव काट डाले। दोनों हाथ भी तोड़ दिए। इस वजह से युवक ने तड़पकर दम तोड़ दिया। आरोपियों को शक था कि सुखचैन अवैध शराब की तस्करी की खबर पुलिस को देता है। आरोपी उसकी कटी हुई एक टांग भी साथ ले गए।

छह लोगों के खिलाफ हत्या का एक मामला दर्ज कर लिया गया है और आरोपियों में से एक दलित भी है।

पुलिस ने बताया कि दोनों समूह अवैध शराब के करोबार में शामिल थे और पहले भी उनके बीच झगड़े हो चुके हैं ।

सोमवार को दूसरे समूह ने एक मामला सुलझाने का प्रलोभन देकर पीड़ित सुखचैन सिंह और उसके दोस्तों को बुलाया।

fotorcreated

मनसा के एसएसपी मुखविंदर सिंह ने आज बताया, ‘‘सोमवार रात में उन्होंने सुखचैन और उसके दोस्तों पर धारदार हथियारों से हमला किया। हालांकि सुखचैन के दोस्त भागने में सफल रहे। दूसरे समूह ने धारदार हथियार से सुखचैन की बेरहमी से हत्या कर दी।’’ पुलिस ने बताया कि एक आरोपी बलवीर के घर से उसका शव बरामद किया गया।

भाषा की खबर के अनुसार, एसएसपी ने बताया कि आरोपी को पकड़ने के लिए पुलिस अधिकारियों की एक टीम गठित की गयी है।

उन्होंने बताया, ‘‘हमने छह आरोपियों के खिलाफ हत्या का एक मामला दर्ज किया है और हम जल्द ही उसे गिरफ्तार कर लेंगे’’ आरोपियों की पहचान बलबीर सिंह, हरदीप सिंह, अमनदीप सिंह, साधु सिंह, बाबरिक सिंह और सीता सिंह के रूप में की गयी है।

इस बीच, पीड़ित के परिवार ने कटा हुआ पांव नहीं मिलने तक शव का अंतिम संस्कार करने से इंकार कर दिया है।

राज्य में पिछले साल भी ऐसी ही एक घटना हुयी थी।

पिछले साल फाजिल्का के अबोहर में एक दलित भीम टांक और उसके दोस्त गुरजंत सिंह पर धारदार हथियार से कथित तौर पर हमला किया गया था। भीम के अंग कटे हुये थे और अस्पताल में बाद में उसकी मौत हो गयी थी।

LEAVE A REPLY