मध्य प्रदेश उपचुनाव: सेमीफाइनल में मजबूत बनकर उभरी कांग्रेस, ट्विटर पर ट्रेंड हुआ #शिवराज_का_अंत

0

मध्य प्रदेश के मुंगावली और कोलारस विधानसभा उपचुनाव में विपक्षी कांग्रेस ने कड़े मुकाबले में दोनों सीटों पर अपना कब्जा बरकरार रखा, जबकि ओडिशा में सत्तारूढ़ बीजू जनता दल (बीजद) ने बीजेपुर सीट उससे छीन ली। मुंगावली से कांग्रेस उम्मीदवार बृजेंद्र सिंह यादव ने बीजेपी की प्रत्याशी बाई साहब यादव को 2,124 मतों के अंतर से पराजित किया। कांग्रेस उम्मीदवार बृजेंद्र सिंह यादव को कुल 70,808 वोट मिले।

Photo: @neena_zeba

जबकि कोलारस से कांग्रेस उम्मीदवार महेंद्र सिंह यादव ने बीजेपी के उम्मीदवार देवेंद्र जैन को 8,086 मतों के अंतर से हराया। कांग्रेस उम्मीदवार महेंद्र सिंह यादव को कुल 82,523 मत मिले। वहीं, ओडिशा की बीजेपुर सीट पर बीजद उम्मीदवार रीता साहू ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी बीजेपी उम्मीदवार अशोक पाणिग्रही को 41,933 मतों से शिकस्त दी।

शिवराज का नहीं चला जादू

निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि मुंगावली से कांग्रेस उम्मीदवार बृजेंद्र सिंह यादव ने बीजेपी की प्रत्याशी बाई साहब यादव को 2124 मतों के अंतर से पराजित किया। कांग्रेस उम्मीदवार बृजेंद्र सिंह यादव को कुल 70,808 वोट मिले, जबकि बीजेपी की उम्मीदवार बाई साहब यादव को 68,684 मत मिले। वर्ष 2013 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने यह सीट 20,765 मतों के अंतर से जीती थी।

दूसरी ओर, कोलारस से कांग्रेस उम्मीदवार महेंद्र सिंह यादव ने बीजेपी के उम्मीदवार देवेंद्र जैन को 8,086 मतों के अंतर से हराया. कांग्रेस उम्मीदवार महेंद्र सिंह यादव को कुल 82,523 मत मिले, जबकि बीजेपी के देवेंद्र जैन को कुल 74,437 मत हासिल किए। वर्ष 2013 के विधानसभा के आम चुनाव में कांग्रेस ने यह सीट 24,953 मतों के बड़े अंतर से यह सीट जीती थी।

दोनों विधानसभा क्षेत्रों पर 24 फरवरी को मतदान हुआ था। मुंगावली में कांग्रेस के विधायक महेंद्र सिंह कालूखेड़ा और कोलारस में कांग्रेस के विधायक राम सिंह यादव के निधन के कारण उपचुनाव कराए गए हैं। दरअसल, इस चुनाव में सीधे तौर पर राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया की प्रतिष्ठा दाव पर लगा था। उपचुनाव के लिए प्रचार में भी सत्तारूढ़ बीजेपी और कांग्रेस ने कोई कसर नहीं छोड़ी थी।

BJP की रवानगी तय?

मध्य प्रदेश में लंबे समय बाद सत्ता में वापसी की कोशिश में जुटी कांग्रेस के लिए ये नतीजे बेहद महत्वपूर्ण सबित होंगे। वहीं शिवराज सरकार की गिरती साख के बीच बीजेपी के लिए यह चुनाव परिणाम बड़ा झटका दिया है। इस चुनाव को दिसंबर में होने वाले विधानसभा चुनाव का सेमीफाइनल माना जा रहा था। अब कांग्रेस का कहना है कि 8 महीने बाद मध्य प्रेदश से बीजेपी की रवानगी तय है। दोनों सीटें जीत कर कांग्रेस के ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अगले विधानसभा चुनावों के लिए मुख्यमंत्री पद की अपनी दावेदारी और मजबूत कर ली है।

वहीं साल के आखिर में राजस्थान और छत्तीसगढ़ के साथ मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनाव होने हैं, ऐसे में शिवराज कैंप में बेचैनी लाजिमी है। आमतौर पर माना जाता है कि उपचुनावों में सत्ताधारी दलों का पलड़ा ही हावी रहता है। मगर, यह मान्यता राजस्थान और मध्य प्रदेश के हालिया हालिया उपचुनाव के नतीजों ने गलत साबित कर दी है। परिणाम आने के बाद बुधवार रात सीएम शिवराज सिंह चौहान सोशल मीडिया यूजर्स के निशाने पर आ गए। बुधवार रात को ट्विटर पर टॉप-10 में सबसे ऊपर #शिवराज_का_अंत ट्रेंड कर रहा था। इस हैशटैग के जरिए लोगों बीजेपी और मुख्यमंत्री शिवराज पर जमकर हमला बोला।

देखिए, कैसा था ट्विटर यूजर्स की प्रतिक्रियाएं:-

 

https://twitter.com/SirRavish_/status/968880013289418753?ref_src=twsrc%5Etfw&ref_url=http%3A%2F%2Fwww.jantakareporter.com%2Fhindi%2Fmadhya-pradesh-bypoll-results%2F174927%2F

https://twitter.com/ShatruganSinha_/status/968879492247769089

https://twitter.com/DesiPoliticks/status/968882362720444416

https://twitter.com/AntiBjpIndia/status/968894747619205120

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here