यूपी: बजरंग दल के नक्शे कदम पर चला लखनऊ यूनिवर्सिटी, वैलेंटाइन डे पर कैंपस में छात्रों की एंट्री बैन, गेट पर जड़ा ताला

0

वैलेंटाइन डे (14 फरवरी) यानी प्रेम के इजहार का आज खास दिन है। प्यार का इजहार किए जाने वाले इस दिन का युवा कपल्स पूरे साल इंतजार  कर रहे होते हैं। इस दिन सभी प्रेमी जोड़े मिलते हैं और खूबसूरत पलों को साथ में बिताते हैं।वहीं वैलेंटाइन डे के विरोध ने एक नया रूप ले लिया है। हिंदू संगठन बजरंग दल वेलेंटाइन डे के विरोध में देशभर में रैली निकाल रहे हैं। रैली निकाल रहे बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने कहा कि अगर उन्हें वेलेंटाइन डे मनाने का हक है तो हमें अपनी संस्कृति बचाने का भी हक है।

Photo: Amar Ujala

वहीं, बजरंग दल के नक्से कदम पर चलते हुए वैलेंटाइन डे यानी 14 फरवरी को उत्तर प्रदेश की राजधानी में स्थित लखनऊ विश्वविद्यालय को बंद कर दिया गया है। ताकी किसी भी तरह से छात्र कैंपस में एंट्री न ले लें। इसके लिए अतिरिक्त सावधानी बरतती देखी गई है। विश्वविद्यालय के सभी गेट तालों में जकड़ दिया गया है। इतना ही नहीं विश्वविद्यालय के हर द्वार पर छात्रों को प्रवेश से रोकने के लिए पुख्ता इंतजाम किए गए।

विश्वविद्यालय प्रशासन की सख्ती के चलते पूरे साल छात्रों की चहलकदमी गुलजार रहने वाले विश्वविद्यालय परिसर में सन्नाटा पसरा रहा। विश्वविद्यालय प्रशासन भले ही शिवरात्रि की छुट्टी की आड़ लेकर इसे सामान्य कार्रवाई बताने में जुटा हो, लेकिन छात्रों का कहना है कि साल के अन्य अवकाशों में भी परिसर में प्रवेश पर इस तरह पाबंदी नहीं लगाई जाती।

बता दें कि एक दिन पहले ही मंगलवार को विश्वविद्यालय प्रशासन ने नोटिस चस्पा कर छात्र-छात्राओं को वैलेंटाइन डे पर कैंपस न आने की चेतावनी जारी की थी। चेतावनी में साफ लिखा था कि वैलंटाइंस डे वाले दिन यूनिवर्सिटी परिसर में घूमते पाए गए छात्रों पर अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी।

विश्वविद्यालय के प्रॉक्टर विनोद सिंह ने 10 फरवरी को जारी नोटिस में कहा कि, ‘मैं पूर्व के वर्षों से देखता आ रहा हूं कि पश्चिमी संस्कृति से प्रभावित कुछ छात्र छात्राएं 14 फरवरी को वैलेंटाइन डे मनाते हैं। हम विश्वविद्यालय के सभी विद्यार्थियों को सूचित करना चाहते हैं कि विश्वविद्यालय परिसर 14 फरवरी को महाशिवरात्रि के मौके पर बंद रहेगा। कोई एक्स्ट्रा क्लास, प्रैक्टिकल या सांस्कृतिक कार्यक्रम नहीं होगा। छात्र-छात्राएं 14 फरवरी को परिसर में न आएं।’

नोटिस में यह भी कहा गया है कि हम छात्र-छात्राओं के माता पिता से अपील करते हैं कि वे अपने बच्चों को विश्वविद्यालय न भेजें। जो लोग परिसर में घूमते या बैठे नजर आएंगे, उनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई होगी। छात्रों का कहना है कि यह छोटी सोच का एक उदाहरण है। छात्रों को यूनिवर्सिटी कैंपस में प्रवेश नहीं करने के लिए कह देना सही नहीं है।

बता दें कि हिंदू संगठन विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल संगठन कई साल से वैलेंटाइन डे को भारत और हिंदू विरोधी कहते आए हैं और देश भर में इसके खिलाफ प्रदर्शन तथा प्रेमी जोड़ों की पिटाई के मामले भी सामने आए हैं, लेकिन यह पहली बार है जब किसी विश्वविद्यालय द्वारा इस तरह का फरमान जारी किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here