उत्तर प्रदेश: लखनऊ में पुलिस ने संदिग्ध समझ एपल कंपनी के एरिया मैनेजर को मारी गोली, मौत

0

उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद राज्य को अपराध मुक्त बनाने के लिए दनादन एनकाउंटर जारी है। राज्य को अपराधमुक्त बनाने के लिए पुलिस द्वारा किए जा रहे दनादन एनकाउंटर पर उठ रहे सवालों के बीच लखनऊ में पुलिस ने एक युवक को संदिग्ध समझकर गोली मार दी, जिससे उसकी मौत हो गई।

पुलिस के मुताबिक, देर रात संदिग्ध लगने पर कार सवार युवक को सिपाही प्रशांत चौधरी ने रोकने का प्रयास किया। युवक ने रुकने की बजाय कार कथित तौर पर पुलिसकर्मी की मोटरसाइकिल पर चढ़ा दी। जिसके बाद पुलिसकर्मी ने युवक पर गोली चला दी, जिसमें वह घयाल हो गया। घायल को नजदीक के अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

यह घटना रात करीब डेढ़ बजे लखनऊ के गोमती नगर एक्टेशन इलाके की बताई जा रहीं है। ख़बरों के मुताबिक, गाड़ी के शीशे पर कांस्टेबल की तरफ से की गई फायरिंग में गोली कार सवार के गले में जा लगी। उसके बाद गाड़ी वह पुल के पिल्लर से जा टकराई।

एबीपी न्यूज़ की रिपोर्ट के मुताबिक, युवक की पहचान विवेक तिवारी के रुप में हुई है जो एपल कंपनी में एरिया मैनेजर के पद कार्यरत थे। विवेक तिवारी सुल्तानपुर के रहने वाले थे, घर में उनकी पत्नी और दो बेटियां हैं। इस बीच विवेक तिवारी की सहयोगी सना को पुलिस ने मीडिया से दूरी बनाए रखने के लिए नजरबंद कर दिया है। सना सिपाही द्वारा युवक को गोली मारने में आई-विटनेस है। उन्हें गोमतीनगर के विनयखंड 3 स्थित उनके घर में पुलिस ने नजरबंद किया है। जिसके बाद पुलिस की इस कार्रवाई पर कई सवाल उठ रहे हैं।

नवभारतटाइम्स.कॉम की रिपोर्ट के मुताबिक, आरोपी कॉन्स्टेबल के खिलाफ हत्या का केस दर्ज करने के बाद उसे गिरफ्तार किया गया है। वहीं, मृतक की पत्नी ने इसे हादसा नहीं हत्या करार दिया है। एसएसपी लखनऊ के मुताबिक आरोपी कॉन्स्टेबल प्रशांत चौधरी को गिरफ्तार कर लिया गया है।

लखनऊ के एसएसपी कलानिधि नैथानी ने इस मामले में जानकारी देते बताया कि गोमतीनगर थाने में आईपीसी की धारा 302 के तहत हत्या का मामला दर्ज कर लिया गया है। फिलहाल, पुलिस इस पूरे मामले की जांच कर रहीं है।

इस बीच पुलिस के दावे पर विवेक की पत्नी कल्पना ने भी सवाल उठाए हैं। एक टीवी चैनल से बातचीत में उन्होंने पुलिस पर हत्या का आरोप लगाते हुए कहा, ‘यह हादसा नहीं हत्या है। पुलिस ने मेरे पति की गाड़ी पर गोली क्यों चलाई। सीएम योगी आदित्यनाथ आएंगे तभी अंतिम संस्कार किया जाएगा।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here