लोकसभा चुनाव 2019: तीसरे चरण में 117 सीटों पर मतदान, अमित शाह-राहुल गांधी की प्रतिष्ठा दांव पर, पीएम मोदी ने डाला वोट, देखें लाइव अपडेट्स

1

देश की जनता तीसरे चरण में 117 सीटों के लिए मंगलवार (23 अप्रैल) को अपने मताधिकार का प्रयोग कर रही है।
ये मतदान 14 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेश में हो रहे है। जम्मू एवं कश्मीर के अनंतनाग लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र में भी मतदान हो रहा है। त्रिपुरा पूर्व में भी मतदान हो रहा है, जहां 18 अप्रैल को दूसरे चरण में मतदान होना था लेकिन सुरक्षा कारणों से चुनाव आयोग द्वारा स्थगित कर तीसरे चरण के लिए निर्धारित कर दिया गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को लोकसभा चुनाव के तीसरे चरण में अहमदाबाद के रानिप में एक मतदान केंद्र पर वोट डाला जो गुजरात के गांधीनगर संसदीय क्षेत्र का एक हिस्सा है।

इस चरण की सबसे खास बात यह है कि बीजेपी और कांग्रेस, दोनों मुख्य पार्टियों के राष्ट्रीय अध्यक्ष चुनाव मैदान में हैं। बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह पहली बार लोकसभा चुनाव लड़ रहे हैं। वह गांधीनगर से पार्टी के प्रत्याशी हैं, जबकि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी इस चरण में केरल के वायनाड संसदीय क्षेत्र से उम्मीदवार हैं। लोकसभा चुनाव 7 चरणों में हो रहे हैं। नतीजें 23 मई को घोषित होंगे।

इस चरण के साथ गुजरात, केरल, गोवा, कर्नाटक, छत्तीसगढ़, असम, दादर नागर हवेली और दमन-दीव की सभी लोकसभा सीटों पर मतदान पूरा हो जाएगा। तीसरे चरण में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) और कांग्रेस, दोनों दलों के प्रमुख चुनाव मैदान में हैं। बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह पहली बार लोकसभा चुनाव में उतर हैं। वह गांधीनगर से पार्टी के प्रत्याशी हैं, जबकि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी इस चरण में केरल के वायनाड संसदीय क्षेत्र से उम्मीदवार हैं।

पीएम मोदी ने डाला वोट (PHOTO: The Indian Express)

इस बार बीजेपी की परीक्षा उसका गढ़ रहे गुजरात में होगी जहां प्रदेश की सभी 26 लोकसभा सीटों पर मतदान होगा। इसके अलावा, कर्नाटक, छत्तीसगढ़ और उत्तर प्रदेश में भी बीजेपी की परीक्षा होगी जहां पिछले लोकसभा चुनाव 2014 में पार्टी का प्रदर्शन काफी अच्छा रहा था। तीसरे चरण की 117 सीटों में से बीजेपी का लक्ष्य अपनी 62 सीटों को बचाने का होगा जहां पार्टी ने 2014 मे जीत हासिल की थी।

इसलिए यह चरण बीजेपी के लिए काफी अहम है। पिछले चुनाव में इनमें से 16 सीटों पर कांग्रेस के प्रत्याशी जीते थे, जबकि अन्य सीटें बीजद (6), माकपा (7), राकांपा (4), समाजवादी पार्टी (3), शिवसेना (2), राजद (2), एआईयूडीएफ (2), आईयूएमएल (2), लोजपा (1), पीडीपी (1), आरएसपी (1), केरल कांग्रेस-एम (1), भाकपा (1), स्वाभिमानी पक्ष (1), तृणमूल कांग्रेस (1) और निर्दलीय (3) की झोली में गई थीं।

देखें, लाइव अपडेट्स:

  • गुजरात: वित्त मंत्री और बीजेपी नेता अरुण जेटली ने अहमदाबाद के एक मतदान केंद्र पर अपना वोट डाला।

  • गुजरात: दिग्गज बीजेपी नेता लालकृष्ण आडवाणी ने अहमदाबाद के शाहपुर हिंदी स्कूल में एक मतदान केंद्र पर अपना वोट डाला।

  • महाराष्ट्र के अहमदनगर जिले के रालेगण सिद्धि में वोट डालने के बाद सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे।

  • बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने अपनी पत्नी सोनल शाह के बाद अहमदाबाद के नारनपुरा बूथ पर वोट डाला।

  • वोट डालने के बाद पीएम मोदी ने मीडिया से बातचीत में कहा- आतंकवाद के शस्त्र IED से भी बड़ा है लोकतंत्र का शस्त्र वोटर आईडी।

  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को लोकसभा चुनाव के तीसरे चरण में अहमदाबाद के रानिप में एक मतदान केंद्र पर वोट डाला जो गुजरात के गांधीनगर संसदीय क्षेत्र का एक हिस्सा है।

  • अहमदाबाद बाद के रानिप में निशान सैकेंडरी स्कूल में अपना वोट डालने पहुंचे पीएम मोदी। साथ में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह।

  • पीएम नरेंद्र मोदी ने वोट डालने से पहले अपनी मां से उनके घर जाकर आशीर्वाद लिया।

गुजरात की सभी सीटों पर BJP की नजर

बीजेपी ने इस चरण में मतदान वाली सीटों पर 2014 में गुजरात की सभी 26 सीटों, कर्नाटक की 14 में से 11 सीटों और उत्तर प्रदेश की 10 सीटों में से आठ पर, छत्तीसगढ़ की सात में से छह सीटों पर, महाराष्ट्र की 14 में से छह सीटों पर, गोवा की दोनों सीटों पर और असम, बिहार, दादर नागर हवेली और दमन-दीव की एक-एक सीटों पर जीत हासिल की थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का गृह राज्य होने के कारण बीजेपी इस बार भी गुजरात की सभी सीटों पर जीत हासिल करने की उम्मीद लगाए बैठी है। लेकिन, कांग्रेस ने 2017 के विधानसभा चुनाव में प्रदेश में बीजेपी को कड़ी चुनौती थी, इसलिए कांग्रेस भी 10 से 15 सीटों पर इस बार जीत की उम्मीद कर रही है।

गुजरात के तीन युवा नेता हाíदक पटेल, अल्पेश ठाकोर और जिग्नेश मेवाणी ने विधानसभा चुनाव में प्रदेश में कांग्रेस की पकड़ मजबूत बनाने में मदद की थी, लेकिन इस बार वे चुनाव की दौड़ में शामिल नहीं हैं। पाटीदार नेता पटेल पिछले महीने कांग्रेस में शामिल हुए, लेकिन दंगा से संबंधित मामले में अभियुक्त होने के कारण वे चुनाव नहीं लड़ पाए, जबकि ठाकोर ने इसी महीने कांग्रेस का दामन छोड़ दिया। कर्नाटक में मंगलवार को जिन 14 सीटों पर मतदान हो रहा है, वहां भाजपा की स्थिति मजबूत मानी जा रही है, लेकिन उसे कांग्रेस-जनता दल (एस) गठबंधन से कड़ी चुनौती मिल रही है।

यूपी में मिलेगी कड़ी चुनौती

उधर, बीजेपी को उत्तर प्रदेश में भी तीसरे चरण में यादव बहुल इलाके में कड़ी चुनौती मिल रही है। समाजवादी पार्टी का गढ़ रहे मैनपुरी, बदायूं और संभल लोकसभा क्षेत्रों में मंगलवार को मतदान होने जा रहा है और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के साथ गठबंधन होने के बाद इन क्षेत्रों में सपा की संभावना को मजबूती मिली है। यह भी एक राय है कि कांग्रेस भी बीजेपी का ही वोट काटेगी।

प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव फिरोजाबाद से अपने भतीजे व सपा उम्मीदवार अक्षय यादव के खिलाफ चुनाव मैदान में हैं और वह सपा-बसपा गठबंधन के विरोध में लोगों को वोट करने कह रहे हैं।सपा के संरक्षक मुलायम सिंह यादव मैनपुरी से चुनाव लड़ रहे हैं। महाराष्ट्र में तीसरे चरण में बारामती, माधा, कोल्हापुर और सतारा समेत राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के गढ़ में मतदान हो रहा है। राकांपा अध्यक्ष शरद पवार की पुत्री सुप्रिया सुले बारामती से चुनाव मैदान में हैं।

छत्तीसगढ़ में कांग्रेस से मिल रही है चुनौती

छत्तीसगढ़ में बीजेपी ने अपनी सभी मौजूदा सांसदों को बदल दिया है। पार्टी को प्रदेश में 15 साल बाद पिछले साल सत्ता में वापस आई कांग्रेस से चुनौती मिल रही है। बिहार में इस चरण में जिन क्षेत्रों में चुनाव हो रहा है उनमें से बीजेपी को 2014 में सिर्फ एक सीट पर जीत मिली थी और पार्टी इस बार भी इनमें से एक ही सीट पर चुनाव लड़ रही है, जबकि भाजपा की सहयोगी पार्टी जनता दल (युनाइटेड) तीन सीटों पर और लोकजनशक्ति पार्टी (लोजपा) एक सीट पर चुनाव लड़ रही है।

वहीं, महागठबंधन में शामिल राष्ट्रीय जनता दल (राजद) तीन सीटों पर जबकि कांग्रेस और विकासशील इन्सान पार्टी (वीआईपी) एक-एक सीट पर चुनाव लड़ रही हैं। मुख्य मुकाबला मधेपुरा में है जहां वर्तमान सांसद पप्पू यादव (पिछली बार राजद के टिकट पर) इस बार अपने ही दल जन अधिकार पार्टी के टिकट पर चुनाव मैदान में हैं और उनके खिलाफ राजद उम्मीदवार शरद यादव चुनाव लड़ रहे हैं, जबकि राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन में शामिल जदयू के टिकट पर दिनेश चंद्र यादव चुनाव मैदान में हैं। मधेपुरा में इस बार त्रिकोणीय संघर्ष है।

संबित पात्रा पर सभी की नजर

ओडिशा के पुरी लोकसभा क्षेत्र में भी त्रिकोणीय संघर्ष है जहां तीन प्रमुख दलों के प्रवक्ताओं के बीच लड़ाई है। वर्तमान सांसद और बीजू जनता दल (बीजद) प्रवक्ता पिनाकी मिश्र का मुकाबला बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा से है, जबकि कांग्रेस के मीडिया सेल अध्यक्ष सत्यप्रकाश नायक भी चुनावी मैदान में हैं। असम में चार लोकसभा क्षेत्रों में मंगलवार को मतदान होगा जहां कांग्रेस और ऑल इंडिया युनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (एआईयूडीएफ) को नागरिकता (संशोधन) विधेयक को लेकर भाजपा के विरोध का लाभ मिलने की उम्मीद है।

केरल में राहुल गांधी वायनाड लोकसभा क्षेत्र से चुनाव मैदान में हैं। प्रदेश की 20 लोकसभा सीटों में से आठ पर पार्टी ने 2014 में जीत दर्ज की थी और उसके सहयोगियों ने भी कुछ सीटों पर जीत हासिल की थी। बीजेपी भी केरल में चार सीटों पर जीत की उम्मीद लगा रही है। पश्चिम बंगाल में बहुकोणीय संघर्ष है जहां तृणमूल कांग्रेस, बीजेपी, मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा), कांग्रेस अपने-अपने दावे ठोंक रहे हैं। (IANS के इनपुट के साथ)

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here