भारत- पाक तनाव ने टीवी कार्यक्रमों के प्रसारण का एयरटाइम युद्ध छेडा

0

पाकिस्तान ने सोमवार (3 अक्टूबर) को कहा कि वह भारतीय चैनलों के प्रसारण के लिए उतना ही समय देगा, जिनता कि उसके चैनलों को उसने दिया है। इसके साथ ही, पाकिस्तानी चैनलों पर लोकप्रिय भारतीय धारावाहिकों और फिल्मों के प्रसारण में छूट के मुशर्रफ काल के नियम को पलट दिया।

Also Read:  अमेरिका: कैलिफोर्निया की मस्जिदों को मिले नफरत भरे पत्र, मुसलमानों के नरसंहार की धमकी, पत्र में ट्रंप की प्रशंसा

भाषा की खबर के अनुसार, पाकिस्तान इलेक्ट्रॉनिक मीडिया रेगुलेटरी ऑथरिटी (पीईएमआरए) ने उरी हमला और पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में आतंकी शिविरों पर भारत के लक्षित हमले (सर्जिकल स्ट्राइक) के बाद भारत-पाक संबंधों में आए तनाव के बीच यह घोषणा की।

Also Read:  'भारत-पाकिस्तान के बीच तनाव कम करने में अहम भूमिका निभा रहा है अमेरिका'
Congress advt 2

यहां हुई संस्था के 119 वें सत्र में इसने फैसला किया कि यदि भारत ने पाकिस्तानी कार्यक्रमों के प्रसारण को इजाजत दी तभी पीईएमआरए भारतीय कार्यक्रमों के प्रसारण की इजाजत देगा। पीईएमआरए नियमों के मुताबिक स्थानीय चैनल सिर्फ पांच फीसदी विदेशी कार्यक्रम दिखा सकते हैं लेकिन कई पाकिस्तानी चैनल विदेशी कार्यक्रमों पर निर्भर हैं जिनमें ज्यादातर भारत, तुर्की, अमेरिका, यूरोप के हैं।

Also Read:  भारत की खराब रेलवे प्रणाली पर चीनी मीडिया ने चिंता जताते हुए कहा- भारत को तत्काल सुधार की ज़रूरत

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here