रानू मंडल की प्रसिद्धि पर अपनी प्रतिक्रिया को लेकर सोशल मीडिया यूजर्स के निशाने पर आईं लता मंगेशकर, फैंस ने जताई नाराजगी

0

पश्चिम बंगाल के रानाघाट रेलवे स्टेशन पर बैठकर लता मंगेशकर का लोकप्रिय गाना ‘एक प्यार का नगमा है’ गाना गाने वाली बुजुर्ग महिला रानू मंडल इन दिनों इंटरनेट सनसनी बन चुकीं है। रानू मंडल को अब एक के बाद एक कई ऑफर मिल रहे हैं। रानू मंडल को बॉलीवुड सिंगर और एक्टर हिमेश रेशमिया ने सॉन्ग ‘तेरी मेरी कहानी’ के बाद कई और गाने का ऑफर दिया है। वहीं, खुद लता मंगेशकर ने भी हाल ही में रानू मंडल पर अपना रिएक्शन दिया था। लेकिन लता मंगेशकर का यह रिएक्शन सोशल मीडिया यूजर्स को पसंद नही आईं और उन्होंने लता को ट्रोल करना शुरु कर दिया।

रानू मंडल

हिंदूस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक रानू मंडल की इस प्रसिद्धि को लेकर लता मंगेशकर ने कहा कि, ‘अगर मेरे नाम और काम से किसी का भला होता है तो मैं अपने आप को खुश किस्मत समझती हूं।’ उन्होने रानू मंडल पर अपनी राय पेश करते हुए कहा, ‘लेकिन मैं यह भी महसूस करती हूं नकल सफलता के लिए स्थाई और टिकाऊ साधन नहीं है। मेरे, किशोर दा (किशोर कुमार), मोहम्मद रफी और आशा भोंसले के गाने गाकर आप कुछ समय के लिए लोगों का ध्यान आकर्षित कर सकते हैं। लेकिन यह लंबे समय तक नहीं चलती है।’

रानू मंडल के अलावा लता मंगेशकर ने अन्य सिंगर्स को भी सलाह दी। उन्होंने कहा, ‘वास्तविक रहें। हर तरह से मेरे और अन्य लोगों के सदाबहार गाने गाए जाते हैं। लेकिन एक बिंदू के बाद गायक को अपना गाना खुद ढूंढना चाहिए।’ इस बारे में बात करते हुए लता मंगेशकर ने अपनी ही बहन आशा भोसले का उदाहरण दिया। उन्होंने कहा, ‘अगर आशा भोसले ने अपने अंदाज में गाने नहीं गाए होते तो वह हमेशा मेरी परछाईं बनकर ही रह जाती। वह इस बात का उदाहरण हैं कि किसी एक व्यक्ति की प्रतिभा उसे कितनी दूर तक ले जा सकती है।’

लेकिन लता मंगेशकर का यह बयान सोशल मीडिया यूजर्स को पसंद नहीं आया। उनके इस बयान से उनके फैंस नाराज दिख रहे हैं। लता मंगेशकर के इस बयान का विरोध करते हुए कई लोगों ने अपनी प्रतिक्रिया दी।

एक यूजर ने लिखा, “मैं लता मंगेशकर जी की बहुत बड़ी फैन हूं, लेकिन उनकी इस प्रतिक्रिया ने यह जाहिर कर दिया है कि बड़े लोग छोटे लोगों से कैसा व्यवहार करते हैं।” एक अन्य यूजर ने लिखा, एक गरीब औरत, जो रेलवे स्टेशन पर गाना गाती थी। अपनी आवाज और सोशल मीडिया की दम पर स्टार बन गई। ये प्रेरणात्मक है ऐसे में उसके लिए गलत कहना गलत है।

एक अन्य यूजर ने लिखा, “शमशाद बेगम की नक़्ल करने वाली ब्राह्मण लता मंगेशकर अब रानू मंडल को कह रही है कि नक़्ल मत करो। हर रोज रियाज करनेवाली लता मंगेशकर गाना गाकर पेट पालनेवाली रानू मंडल से डर गई। क्या यही है ब्राह्मणों का मेरिट?” एक अन्य यूजर ने लिखा, “नूरजहाँ की नकल करके लता मंगेशकर बनने वाली एक गरीब रानू मंडल से जलने लगी।”

वहीं एक अन्य यूजर ने लता मंगेशकर का समर्थन करते हुए लिखा, “हमारे देश के कुछ लोग इतनी घटिया मानसिकता के हैं की वह लता मंगेशकर जैसी महान हस्ती पर उंगली कर रहे हैं। उन्होंने क्या गलत कहा एक अध्यापक अपने शिष्यों को जो शिक्षा देता है वहीं व बोली सिर्फ रानू मंडल ही नहीं सभी गायकों के लिए वह यही बोलती है अपनी पहचान बनाये।” इसी तरह तमाम यूजर्स लता मंगेशकर के बयान पर अपनी प्रतिक्रिया दे रहें है।

देखिए कुछ ऐसे ही ट्वीट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here