भारत के विश्वकप से बाहर होने के बाद धोनी के संन्यास को लेकर उठ रहे सवाल पर भावुक हुईं लता मंगेशकर, ट्विटर पर माही के लिखा इमोशनल मैसेज

0

रविंद्र जडेजा की आकर्षक पारी के बावजूद भारत को शीर्ष क्रम की नाकामी के कारण विश्व कप सेमीफाइनल में बुधवार को न्यूजीलैंड के हाथों 18 रन से हार का सामना करना पड़ा, जिससे उसका क्रिकेट महाकुंभ में सफर भी समाप्त हो गया। विश्व कप सेमीफाइनल मैच में भारतीय टीम की हार के साथ ही महेंद्र सिंह धोनी के संन्यास पर एक बार फिर से बहस शुरू हो गया है।

दरअसल, इस विश्व कप के दौरान धोनी को उनकी कथित धीमी पारी के चलते पिछले कई दिनों से ट्रोल किया जा रहा है और ये कहा जा रहा था कि उन्हें अब रिटायर हो जाना चाहिए। इस बीच देश की जानी-मानी लोकप्रिय गायिका लता मंगेशकर ने ट्विटर पर धोनी के लिए एक भावुक मैसेजकर उनका बचाव किया है।

लता मंगेशकर ने अपने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर लिखा, ‘नमस्कार एम. एस. धोनी जी। आज कल मैं सुन रही हूं कि आप रिटायर होना चाहते हैं। कृपया आप ऐसा मत सोचिए। देश को आपके खेल की जरूरत है और ये मेरी भी विनती है कि आप रिटायरमेंट का विचार भी मन में मत लाइए।’

कोहली ने भी दिया बयान

इससे पहले भारतीय कप्तान विराट कोहली ने भी  महेंद्र सिंह धोनी के संन्यास के कयासों के बीच बुधवार को कहा कि इस अनुभवी विकेटकीपर बल्लेबाज ने भविष्य की अपनी योजनाओं के बारे में उन्हें अभी तक कुछ नहीं बताया है। धोनी ने भारत की विश्व कप सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड के हाथों 18 रन से हार में 72 गेंदों पर 50 रन बनाए तथा कप्तान ने फिर से बीच के ओवरों में इस विकेटकीपर बल्लेबाज की धीमी बल्लेबाजी के लिए उनका बचाव किया।

पीटीआई के मुताबिक, कोहली से पूछा गया कि क्या धोनी ने उसे भविष्य की अपनी योजनाओं के बारे में कुछ बताया है, क्योंकि वेस्टइंडीज दौरे के लिए जल्द ही टीम घोषित की जाएगी, इस पर भारतीय कप्तान ने कहा, ‘‘नहीं। उन्होंने अभी तक हमें कुछ नहीं बताया है।’’ धोनी ने जब क्रीज पर कदम रखा तब स्कोर पांच विकेट पर 71 रन था और उन्होंने रविंद्र जडेजा के साथ मिलकर एक समय टीम की उम्मीदें जगा दी थी।

कोहली ने कहा, ‘‘मेरा मानना है कि धोनी ने एक छोर संभालकर जडेजा को स्वच्छंद होकर खेलने की छूट दी। उन्होंने सही तरीके से बल्लेबाजी की। उन्हें टीम की स्थिति के अनुसार खास भूमिका दी गई थी और उन्होंने उसी तरह से बल्लेबाजी की। उन्होंने उस परिस्थिति में शतकीय साझेदारी निभाई।’’ भारतीय कप्तान का मानना है कि बाहर बैठकर आलोचना करना आसान होता है।

‘‘क्या धोनी अपनी राष्ट्रीयता बदल रहे हैं?’’ 

धोनी को लेकर भारतीय कप्तान विराट कोहली के अलावा न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन से भी सवाल पूछे गए।केन विलियमसन ने कहा कि धोनी का रन आउट होना टर्निंग प्वाइंट रहा। विलियमसन से पूछा गया कि अगर वह कप्तान होते तो क्या वह धोनी को टीम में बनाए रखते, इस पर उन्होंने मजाकिया लहजे में सवाल किया, ‘‘क्या वह अपनी राष्ट्रीयता बदल रहे हैं?’’

दरअसल, विलियमसन से जीत के बाद प्रेस कॉन्फेंस के दौरान एक पत्रकार ने पूछा कि अगर वो भारत के कप्तान होते तो क्या टीम में धोनी को रखते? इस पर उन्होंने हंसते हुए कहा, ”वो न्यूजीलैंड के लिए नहीं खेल सकते! लेकिन वो विश्व स्तरीय खिलाड़ी हैं।”

इसके बाद एक बार फिर पत्रकार ने अपना सवाल दोहराते हुए पूछा कि अगर आप भारत के कप्तान होते तब? इस पर विलियमसन ने कहा, ”बिल्कुल, उनका अनुभव अहम मौके पर बहुत काम का होता है। उनका योगदान आज या कल हमेशा रहा है। जडेजा के साथ उनकी साझेदारी बेहतरीन रही। धोनी विश्व स्तर के क्रिकेटर हैं। क्या वो राष्ट्रीयता बदलने पर विचार कर रहे हैं? अगर ऐसा होता है तो हम उनके चयन पर विचार करेंगे।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here