किसानों को किन पापों की सजा और पूँजीपति मित्रों को किन कर्मों का पुण्य दे रहे हो…मोदी जी: लालू प्रसाद यादव

0

पीएम मोदी के नोटबंदी के फैसले के बाद से विपक्षी दलों ने मोदी सरकार को आड़े हाथों लिया है। अरविन्द केजरीवाल, मायावती, ममता बनर्जी ने अपनी प्रेस काॅफे्रंस में मोदी सरकार की कड़ी निंदा करते हुए कहा था कि नोटबंदी का फैसला एक राष्ट्रीय आपदा है।

जबकि दिल्ली के मुख्यमंत्री ने पीएम मोदी पर आरोप लगाया था कि नोटबंदी की सूचना पहले से ही बीजेपी के लोगों को मालूम थी। अब इस कड़ी में राष्ट्रीय जनता दल प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने मोदी सरकार के इस फैसले पर कड़े सवाल उठाए हैं।

पीएम मोदी
photo courtesy: jansatta
उन्होंने कई ट्वीट् कर मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि नोट बंद करने की आपकी ये सर्जिकल स्ट्राइक नहीं बल्कि फर्जिकल स्ट्राइक है। लालू ने ट्वीट् करते हुए लिखा की अगर ये सब करने के बाद भी लोगों को 15लाख नही मिले तो इसका मतलब होगा कि यह ‘फर्जिकल स्ट्राइक’ था। और इसके साथ ही आम जनता का ‘फेक-एनकाउंटर’ भी।
अगले ट्वीट् में लालू ने कहा कि मोदीजी आप 50 दिनों की “सीमित असुविधा” की बात कर रहे हैं, तो क्या समझा जाए कि आपके वादानुसार 50 दिनों बाद सबके खातों में 15-15 लाख आ जाएँगे? किसानों की खरीब पैदावार पड़ी है। कोई खरीदने वाला नही है।
रबी की बुआई का पैसा नही है। एसी कमरों में नीति बनाने वालों को किसानी का “क” भी नही पता। गाँवो में बैंक नहीं, है तो उनमें पैसे नहीं। किसानों को किन पापों की सजा और पूँजीपति मित्रों को किन कर्मों का पुण्य दे रहे हो? बताओ
अगले ट्वीट् में लालू ने हमला बोलते हुए कहा नौटँकी बंद करो। किसान मर रहा है,रबी की बुआई कैसे करेगा। बीज व खाद किससे खरीदेगा? तुम्हारे पूंजीपति मित्र किसानों को बीज खरीदवाने आएंगे क्या? हम काले धन के विरुद्ध हैं पर आपके कृत्य में दूरदर्शिता और क्रियान्वयन का पूर्ण अभाव दिख रहा है। आम आदमी की सहूलियत का ख्याल रखना चाहिए।
आपको बता दे कि इससे पहले भी लालू ने नरेन्द्र मोदी पर जोरदार हमला बोला था और कहा है कि उनकी सरकार सिर्फ सुर्खियां बटोरने वाली सरकार बनकर रह गई है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here