पीएम मोदी के रडार वाले बयान पर अब लालू ने ली चुटकी, ट्विटर पर लिखा- ‘हट बुड़बक…’, वायरल हुआ ट्वीट

0

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बालाकोट एयर स्ट्राइक के बारे में रडार वाले ताजा बयान से विवाद खड़ा हो गया है। दरअसल, हाल ही में पीएम मोदी ने एक इंटरव्यू में बालाकोट एयर स्ट्राइक पर बात करते हुए एक ‘दिव्य ज्ञान’ दिया और कहा कि बादल और बारिश रडार से बचा सकते हैं। पीएम मोदी अपने रडार वाले बयान को लेकर सोशल मीडिया पर सुर्खियों में बने हुए हैं। बयान के बाद मोदी सोशल मीडिया पर ट्रोलर्स के साथ-साथ राजनीतिक दलों के भी निशाने पर हैं।

लालू यादव ने बताई भाजपा की नई परिभाषा

कांग्रेस सहित अन्य विपक्षी पार्टियों के बाद अब राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के प्रमुख और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव ने भी पीएम मोदी के रडार वाले बयान पर ट्वीट कर तंज कसा है। लालू ने ट्वीट कर लिखा है, ‘ऐ हट बुड़बक, तेरा ध्यान किधर है, रडार इधर है।’ लालू का यह ट्वीट सोशल मीडिया पर जंगल में आग की तरह फैल गया है।

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को एक टेलीविजन चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा था कि बालाकोट पर एयरस्ट्राइक की रात को मौसम अचानक खराब हो गया था और विशेषज्ञों ने एयर स्ट्राइक को टालने की सलाह दी थी लेकिन उन्होंने (प्रधानमंत्री) वायु सेना को एयर स्ट्राइक की मंजूरी देते हुए कहा कि हमें बादलों और बारिश का फायदा उठाकर राडार से बचते हुए कार्रवाई करनी चाहिए।

अपने इस बयान के बाद से पीएम मोदी जमकर ट्रोल हो रहे हैं। इतना ही नहीं पीएम मोदी के इस बयान को खुद बीजेपी ने अपने ट्विटर हैंडल से शेयर भी किया, लेकिन बाद में उसे डिलीट करना पड़ा। मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस ने इस पर कटाक्ष करते हुए कहा कि मोदी पांच साल तक जुमले ही फेंकते रहे हैं। पार्टी ने टि्वट किया, “जुमला ही फेंकता रहा पांच साल की सरकार में, सोचा था कि ‘क्लाउडी’ है मौसम, नहीं आऊंगा रडार में।”

इससे अलावा मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) महासचिव सीताराम येचुरी ने भी पीएम मोदी के इस बयान की आलोचना की थी। उन्होंने टि्वट किया था, “मोदी के शब्द शर्मनाक और गैर जिम्मेदाराना हैं। उनके शब्दों से वायु सेना का अपमान भी हुआ है, क्योंकि इनमें वायु सेना को अज्ञानी तथा गैरेपेशेवर बताया गया है। उनका इस तरह का बयान अपने आप में देशद्रोही है। कोई देशभक्त ऐसा बयान नहीं देगा।”

वहीं, नेशनल कांफ्रेन्स के नेता उमर अब्दुल्ला ने भी तंज करते हुए कहा है कि प्रधानमंत्री मोदी की यह सलाह भविष्य के हमलों में काम आएगी। उन्होंने टि्वट किया है, “पाकिस्तानी रडार बादलों को भेदने में सक्षम नहीं हैं। यह रणनीतिक दृष्टि से महत्वपूर्ण जानकारी है जो भविष्य में हवाई हमलों की योजना बनाते समय काम आएगी।”

क्या कहा था पीएम मोदी ने?

गौरतलब है कि हाल ही में एक इंटरव्यू के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दावा किया था कि भारतीय वायुसेना खराब मौसम के कारण पाकिस्तान के बालाकोट में एयर स्ट्राइक करने में हिचकिचा रही थी। प्रधानमंत्री ने दावा किया कि विशेषज्ञ स्ट्राइक को स्थगित कर देने के पक्ष में थे, लेकिन उन्होंने उनकी राय के विरुद्ध निर्णय लिया।

मोदी ने शनिवार को न्यूज नेशन चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा कि बालाकोट पर एयरस्ट्राइक की रात को मौसम अचानक खराब हो गया था और विशेषज्ञों ने एयर स्ट्राइक को टालने की सलाह दी थी लेकिन उन्होंने (प्रधानमंत्री) वायु सेना को एयर स्ट्राइक की मंजूरी देते हुए कहा कि हमें बादलों और बारिश का फायदा उठाकर राडार से बचते हुए कार्रवाई करनी चाहिए।

पीएम मोदी ने कहा कि आसमान बादलों से घिरा था। उन्हें लगा कि इसका फायदा उठाया जा सकता है। बादलों के कारण वायुसेना के विमान पाकिस्तानी रडार के दायरे में आने से बच जाएंगे। मोदी ने यह भी कहा कि उन्हें विशेषज्ञों की आशंकाएं दूर करने वाले अपने ‘कच्चे ज्ञान’ (रॉ विज्डम) पर भरोसा था।

उल्लेखनीय है कि गत 14 फरवरी को पुलवामा में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के काफिले पर आतंकवादी हमले के बाद भारतीय वायु सेना ने गत 26 फरवरी को पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के निकट बालाकोट में आतंकवादी संगठन जैश ए मोहम्मद के शिविर पर कार्रवाई कर उसे ध्वस्त कर दिया था।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here