कैबिनेट विस्तारः लालू ने नीतीश कुमार पर साधा निशाना, कहा- BJP ने दिखाया ठेंगा

0

केंद्रीय मंत्रिमंडल में रविवार(3 अगस्त) को तीसरा और संभवत: आखिरी फेरबदल हो गया है। इस नए कैबिनेट फेरबदल में कुल 13 मंत्रियों ने शपल ली है। इनमे चार मंत्रियों का प्रमोशन हुआ है, जबकि नौ नए चेहरों को राज्यमंत्री के रूप में शामिल किया गया है। एक तरफ जहां अनुभवी नेताओं को जगह मिली है, वहीं कुछ युवा चेहरों को भी तरजीह दी गई है।रघुवंशखास बात यह है कि इस फेरबदल में एनडीए के सहयोगी दलों जेडीयू और शिवसेना से किसी को भी मंत्री नहीं बनाया गया है। विस्तार में केवल बीजेपी के मंत्रियों को ही शामिल किया गया है। हालांकि, खबरों के मुताबिक इन सहयोगियों को बाद में मंत्रिमंडल में शामिल किया जा सकता है।

इस बीच मंत्रिमंडल विस्तार के बाद आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला बोला है। लालू ने कहा कि नीतीश कुमार को ठेंगा दिखाया गया है। उन्होंने कहा कि जेडीयू को शपथग्रहण समारोह का निमंत्रण नहीं दिया गया। जो अपने लोगों को छोड़ता है उसे दूसरे लोग भी नहीं अपनाते।

उन्होंने कहा कि नीतीश को कैबिनेट विस्तार की जानकारी तक नहीं दी गई। जबकि उन्होंने महागठबंधन तोड़कर एनडीए का साथ दिया। लालू यादव ने बीजेपी पर हमला करते हुए कहा कि बीजेपी एक शातिर पार्टी है, वो कुछ भी कर सकती है।उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार को शपथ का न्योता तक नहीं दिया गया। उन्होंने आगे कहा कि नीतीश का भाग्य ऐसा ही है वे जिनको छोड़ते हैं फिर उन्हें ही कोई नहीं अपनाता है।

बता दें कि कैबिनेट विस्तार में जिन मंत्रियों का प्रमोशन हुआ है उनमें पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेंद्र प्रधान, बिजली मंत्री पीयूष गोयल, वाणिज्य और उद्योग मंत्री निर्मला सीतारमण और अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी शामिल हैं। इन चारों मंत्रियों को मोदी मंत्रिमंडल में राज्यमंत्री से कैबिनेट का दर्जा दिया गया है।

जबकि, राज्यमंत्री पद की शपथ लेने वालों में पूर्व गृह सचिव और बीजेपी सांसद राजकुमार सिंह, मुंबई पुलिस के पूर्व कमिश्नर और यूपी के बागपत से सांसद सत्यपाल सिंह, उत्तर प्रदेश से राज्यसभा सदस्य शिव प्रताप शुक्ला, बिहार से बीजेपी सांसद अश्विनी कुमार चौबे, पूर्व आईएफएस अधिकारी हरदीप सिंह पुरी, कर्नाटक से सांसद अनंत कुमार हेगड़े, मध्यप्रदेश के डॉ. वीरेंद्र कुमार, राजस्थान के गजेंद्र सिंह शेखावत और पूर्व आईएएस अधिकारी अल्फोंस कन्ननथनम शामिल हैं।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here