चार्ल्स डार्विन के सिद्धांत को खारिज करने वाले मोदी के मंत्री सत्यपाल सिंह पर कुमार विश्वास ने कसा तंज

0

केंद्र की नरेंद्र मोदी कैबिनेट में मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री सत्यपाल सिंह ने दावा किया है कि मानव के क्रमिक विकास का चार्ल्स डार्विन का सिद्धांत ‘वैज्ञानिक रूप से गलत है।’ साथ ही डार्विन के सिद्धांत को खारिज करते हुए उन्होंने स्कूल और कॉलेजों के पाठ्यक्रम में इसमें बदलाव की भी वकालत की। सत्यपाल सिंह ने कहा कि हमारे पूर्वजों ने कभी किसी बंदर के इंसान बनने का उल्लेख नहीं किया है।

PHOTO: GOOGLEडार्विन के सिद्धांत को गलत बताने वाले केंद्रीय मंत्री पर आम आदमी पार्टी (AAP) के वरिष्ठ नेता और मशहूर कवि कुमार विश्वास ने चुटकी लेते हुए उन्हें इशारों ही इशारों में उन्हें बंदर करार दे दिया है। विश्वास ने हिंदुस्तान टाइम्स में छपी सिंह के बयान पर ट्वीट कर कहा कि, ‘हां, मिस्टर मिनिस्टर, कुछ बंदर हमेशा बंदर ही रहते हैं। इसे साबित करने के लिए आपका धन्यवाद।’

बता दें कि समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार ऑल इंडिया वैदिक सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए महाराष्ट्र पहुंचे केंद्रीय मंत्री ने मानव के क्रमिक विकास पर चार्ल्स डार्विन के सिद्धांत को ‘वैज्ञानिक रूप से गलत’ बताया। यही नहीं, उन्होंने स्कूल और कॉलेज के पाठ्यक्रम में इसमें बदलाव की भी हिमायत की। बता दें कि कुछ दिन पहले राजस्थान के शिक्षामंत्री ने गुरुत्वाकर्षण के सिद्धांत का जनक न्यूटन की जगह भारतीय गणितज्ञ ब्रह्मगुप्त को बताया था।

मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री सिंह ने कहा कि, ‘हमारे पूर्वजों ने कभी किसी एप (Ape) के इंसान बनने का उल्लेख नहीं किया है।’ उन्होंने शुक्रवार को संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि, ‘(इंसानों के विकास संबंधी) चार्ल्स डार्विन का सिद्धांत वैज्ञानिक रूप से गलत है। स्कूल और कॉलेज पाठ्यक्रम में इसे बदलने की जरूरत है। इंसान जब से पृथ्वी पर देखा गया है, हमेशा इंसान ही रहा है।’

उन्होंने कहा कि, ‘हमारे किसी भी पूर्वज ने लिखित या मौखिक रूप में एप को इंसान में बदलने का जिक्र नहीं किया था।’ केंद्रीय का यह बयान सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। लोग इस पर तरह-तरह का मजाकिया जोक्स बना रहे हैं। एक यूजर ने तंज कसते हुए लिखा है, ‘इंसान को बंदर बनते सब देख रहा हैं।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here