BJP की ‘रथयात्रा’ कार्यक्रम में शामिल नहीं होंगे सिंगर कुमार सानू, कहा- ‘अब मैं भाजपा का सदस्य नहीं हूं’

0

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की पश्चिम बंगाल इकाई द्वारा इस महीने के आखिर में राज्य में ‘‘रथ यात्रा’’ निकाले जाने के दौरान वक्ताओं की सूची में मशहूर गायक कुमार सानू का नाम शामिल किए जाने पर सोमवार (3 दिसंबर) को विवाद पैदा हो गया। अपना नाम शामिल किए जाने से आश्चर्यचकित गायक ने कहा कि वह अब बीजेपी के सदस्य नहीं है और न ही उनका नाम रखने से पहले उनसे पूछा गया था।

(Source: File Photo)

मशहूर पार्श्वगायक कुमार सानू ने सोमवार को इस बात से इनकार किया कि उन्होंने पश्चिम बंगाल में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) द्वारा आयोजित रथयात्रा कार्यक्रम में हिस्सा लेने की अनुमति दे दी है। उन्होंने आरोप लगाया कि इस आयोजन से उनके नाम को जोड़ना एक ‘साजिश’ है। आपको बता दें कि कुमार सानू वर्ष 2012 में बीजेपी में शामिल हुए थे।

कुमार ने कहा कि पार्टी के लोगों ने कोई सूची बनाई है, लेकिन मेरा नाम शामिल करने से पहले मुझे सूचित करना चाहिए था। कोलकाता के लोग मुझे प्यार करते हैं, इसलिए मुझे लगता है कि यह एक साजिश है। लेकिन मैं इसमें नहीं आ रहा, क्योंकि यह संभव नहीं है। उन्होंने कहा कि इस बारे में मुझसे कोई चर्चा नहीं हुई है।

दरअसल, बीजेपी सात, नौ और 14 दिसंबर को क्रमश: उत्तर बंगाल के कूच बिहार, दक्षिणी 24 परगना जिले के गंगासागर और बीरभूम जिले के तारापीठ से तीन रथयात्राएं आयोजित कर रही है। समाचार एजेंसी आईएएनएस के मुताबिक, सानू ने कहा कि वह अब बीजेपी के सदस्य नहीं हैं। उन्होंने कहा, “मैं बीजेपी से 2012 में इसलिए जुड़ा, क्योंकि मुझे लगा था कि मेरे संगीत विद्यालय को कुछ मदद मिलेगी, लेकिन अनाथ बच्चों के लिए विभिन्न शहरों में संचालित मेरे विद्यालय को कोई मदद नहीं मिली, इसलिए मैंने पार्टी छोड़ दी थी।”

कुमार सानू ने कहा कि उन्होंने कई मौकों पर स्पष्ट कर दिया है कि वह किसी राजनीतिक पार्टी से संबद्ध नहीं हैं, और वह सिर्फ संगीत के बारे में सोचते हैं। वहीं दूसरी तरफ, बीजेपी की राज्य इकाई के महासचिव सायंतन बसु ने कहा कि पार्टी चाहती थी कि वह कार्यक्रम में आएं, क्योंकि वह अभी भी पार्टी के सदस्य हैं। उन्होंने कहा कि हमें नहीं पता कि वह क्यों नहीं आ रहे हैं या अपनी सदस्यता से इनकार क्यों कर रहे हैं और वह किसके दबाव में हैं। लेकिन हम चाहते थे कि वह आएं, इसलिए हमने इसके लिए केंद्र से संपर्क किया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here