अनुपम और किरन खेर रच रहे थे जमीन हड़पने की साजिश, किरन खेर की भाभी ने लगाया आरोप

0

मोदी सरकार के आने के बाद से अनुपम खैर और किरन खैर के हौसले बेहद बुलन्द हो गए है। अनुपम और किरन खेर को लगता है कि कानून का वह अपनी मर्जी से चला सकते है लेकिन चाटूकारिता करके अवार्ड पाया जा सकता है किसी की जमीन को नहीं हड़पा जा सकता है।

पिछले दिनों किरन की भाभी ने अनुपम और किरन खैर पर गम्भीर आरोप लगाते हुए खुद को खेर दंपति द्वारा प्रताडि़त करने की बात कहीं थी।

सांसद किरण खेर के खिलाफ उनकी भाभी ने शिकायत दर्ज कराई है। शिकायत में किरण खेर की भाभी गुरिंदर संधु ने खेर और उनकी बहन कवर ठाकुर कौर पर आरोप लगाया है कि उनके घर पर चार वर्षों से खड़ी कार को पुलिस पर दबाव बनाकर उसे इंपाउंड करवा दिया है।

जानकारी के अनुसार सेक्टर-8 स्थित कोठी नंबर 65 में रहने वाली सांसद किरण खेर की भाभी गुरनदेश संधु ने खेर और उनकी बहन कौर पर आरोप लगाया है कि पिछले चार साल से घर के गेट के पास उन्होंने अपनी ऑल्टो कार पार्क की हुई थी। उन्होंने बताया कि 2003 में पति के देहांत के बाद ननद सांसद किरण खेर और कवरठाकुर घर से निकालने के लिए नए-नए षड्यंत्र रचती रहीं हैं।

उनके बीच चल रहे इस विवाद पर पिछले चार वर्षों से केस अदालत में विचाराधीन है। उनका कहना है कि गेट पर कार खड़ी होने के मामले में कोर्ट से स्टे के आॅर्डर जारी हुए हैं। जबकि 8 फरवरी को डीसी ने कोर्ट के आदेशों की अवहेलना करते हुए आदेश दिए थे कि उक्त घर पर एक लावारिस कार है, इसे उठाया जाए।इसके बाद चंडीगढ़ पुलिस आल्टो कार को उठाकर सेक्टर-3 थाने में ले गई।

वहीं गुरनदेश कौर ने बताया कि पुलिस की ओर से गाड़ी उठाने की कार्रवाई घर पर लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई है। उन्हें इस मामले में धमकियां भी दी जा रही हैं। उन्होंने कहा कि अगर किरण अपने घर का मामला नहीं सुलझा पा रही हैं तो शहर की समस्याएं क्या सुलझाएंगी। इस घटना के मीडिया में बड़ी खबर बन जाने से अनुपम और किरन खेर ने चुप्पी साध ली है लेकिन मोदी सरकार के रहते वह चुप रहे सकते है ऐसा कम ही सम्भव है।

LEAVE A REPLY