निर्मला सीतारमण द्वारा ई-सिगरेट पर पाबंदी की घोषणा पर किरण मजूमदार शॉ ने उठाया सवाल, वित्त मंत्री ने दिया यह जवाब

0

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा ई-सिगरेट पर पाबंदी की घोषणा पर शीर्ष महिला उद्योगपतियों में शुमार किरण मजूमदार शॉ ने सवाल उठाया। किरण मजूमदार शॉ ने एक ट्वीट सवाल उठाया कि ई-सिगरेट को बैन करने की घोषणा के लिए आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में स्वास्थ्य मंत्री के स्थान पर वित्त मंत्री आईं। उन्होंने इकॉनमी को रिवाइव करने के लिए वित्त मंत्रालय के उपायों को लेकर भी सवाल उठाया। उनके इस ट्वीट का निर्मला सीतारमण ने जवाब भी दिया।

निर्मला सीतारमण

ई-सिगरेट पर प्रतिबंध की ख़बर पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए किरण मजूमदार शॉ ने ट्विटर पर लिखा, “वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने ई-सिगरेट पर प्रतिबंध लगाए जाने का ऐलान किया। क्या ये घोषणा स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से नहीं की जानी चाहिए थी? गुटखा पर प्रतिबंध लगाए जाने पर क्या विचार है? वित्त मंत्रालय के बारे में क्या जो अर्थव्यवस्था को पुनर्जीवित करने के लिए कुछ उपायों की घोषणा कर रहा है?”

इसके जवाब में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने एक के बाद एक तीन ट्वीट किए और कहा कि वह वित्त मंत्री के तौर पर काम में जुटी हुई हैं। उन्होंने यह भी बताया कि स्वास्थ्य मंत्री की बजाय उन्होंने क्यों ई-सिगरेट बैन की घोषणा की।

पहले ट्वीट में वित्त मंत्री ने लिखा, “किरण जी, कुछ चीजें हैं। यह प्रेस कॉन्फ्रेंस कैबिनेट के फैसलों को लेकर थी। मैंने शुरुआत में ही कहा था कि मैं इस मुद्दे पर गठित मंत्री समूह की अध्यक्ष के तौर पर हूं। डॉक्टर हर्षवर्धन एक अंतरराष्ट्रीय बैठक के लिए देश से बाहर हैं।”

अगले ट्वीट में उन्होंने कहा, “केंद्रीय मंत्री जरूरत पड़ने पर सूचना और प्रसारण मंत्री के साथ होते हैं। विस्तार से जानकारी देने के लिए स्वास्थ्य सचिव भी मेरे साथ थीं। जैसा कि आप जानती हैं ये प्रोटोकॉल है, जिस पर सरकारी प्रेस कॉन्फ्रेंस में अमल किया जाता है।”

उन्होंने अपने आखिरी ट्वीट में कहा, “वित्त मंत्री के तौर पर, जैसा कि आपने देखा भी होगा, मैं लगातार काम कर रही हूं और अर्थव्यवस्था के मुद्दे पर उठाए गए कदमों को लेकर नियमित तौर पर बोलती हूं।”

वित्त मंत्री की प्रतिक्रिया के बाद किरण मजूमदार शॉ ने ट्वीट कर लिखा, ”मुझे अब समझ में आ गया. मेरी शंका को दूर करने के लिए और आपकी प्रतिक्रिया के लिए वास्तव में आभारी हूं।”

गौरतलब है कि, केंद्रीय कैबिनेट ने ई-सिगरेट पर पाबंदी से जुड़े अध्यादेश को बुधवार को अपनी मंजूरी दे दी. इसके साथ ही देश में ई-सिगरेट के प्रोडक्शन, मैन्युफैक्चरिंग, इम्पोर्ट/एक्सपोर्ट, ट्रांसपोर्ट, सेल, डिस्ट्रीब्यूसन, स्टोरेज और एडवरटाइजिंग पर प्रतिबंध लग गया है। इस दौरान वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा था कि ई-सिगरेट लोगों और खासकर युवाओं के स्वास्थ्य के लिए खतरनाक है। इसलिए केंद्रीय कैबिनेट ने ई-सिगरेट और संबंधित उत्पादों को प्रतिबंधित करने का फैसला किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here