ऐसा क्या हुआ कि किरण बेदी को छोड़ना पडे़गा पुदुच्चेरी ?

0

सफाई अभियान में सरकारी अधिकारियों से सहयोग न मिलने के कारण पुदुच्चेरी की राज्यपाल किरण बेदी गुस्से में हैं यहां तक की उन्होंने पुदुच्चेरी से चले जाने की चेतावनी भी दे डाली।

किरण बेदी ने रविवार को कहा कि केंद्र शासित प्रदेश पुदुच्चेरी की सफाई में अगर जनता, सरकारी अधिकारियों और मंत्रियों ने साथ मिलकर काम नहीं किया, तो वह पुदुच्चेरी से चली जाएंगी। जवाहरलाल इंस्टीट्यूट आॅफ पोस्टग्रेजुएट मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च (जिपमर) की स्टूडेंट काउंसिल द्वारा आयोजित मेराथन में बेदी ने ये बातें कही

Also Read:  नवजोत सिंह सिद्धू की 'आवाज-ए-पंजाब' का गठजोड़ टूटा , 2 सदस्यों के 'आम आदमी पार्टी' में शामिल होने की उम्मीद

Kiran Bedi

उन्होंने आयोजन के दौरान कहा कि वह अक्टूबर की शुरुआत तक इंतजार करेंगी और अगर लोगों, सरकारी अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों ने सफाई अभियान में सहयोग नहीं किया तो वह प्रदेश छोड़ देंगी।
बेदी ने आगे कहा, ‘मैं आपको चार हफ्तों का समय देती हूं. बचा हुआ अगस्त और पूरा सितंबर।अक्टूबर में फैसला करूंगी कि मुझे यहां रहना है या यहां से जाना है। क्या आप इस चुनौती को स्वीकार करना चाहते हैं?

Also Read:  Kiran Bedi changes tune, says CM V Narayanasamy providing good governance

आपको मानसून से पहले सभी सड़कें और बाजार साफ कर लेने चाहिए वरना सभी घर बाढ़ से भर जाएंगे।हम एक हफ्ते में पुदुच्चेरी को साफ कर सकते हैं।या तो मैं सफल हो जाऊंगी या वापस चली जाऊंगी।

Also Read:  Kiran Bedi and CM functioning in different directions, alleges AIADMK

उन्होंने कहा कि जबसे उन्होंने कार्यभार संभाला है वह 20 बार निरीक्षण कर चुकी हैं।गलियों को साफ करना राज्यपाल का काम नहीं है। आप सड़कों को गंदा करते हैं और निकासी को ब्लॉक कर देते हैं।प्रदेश को साफ रखना जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों का काम है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here