मलेशिया में तानाशाह किम जोंग के सौतेले भाई की हत्या

0

उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन को तानाशाही भरे फैसलों के लिए जाना जाता है, लेकिन अब खबर उनके परिवार से जुड़ी है। नॉर्थ कोरिया के नेता किम जोंग-उन के सौतेले भाई की मलेशिया में हत्या हो गई। एक टीवी केन्द्र के अनुसार- उन पर जहरीली सुई से हमला किया गया था।

बताया जा रहा है कि सुरक्षा खामियों का फायदा उठाकर उनकी हत्या को अंजाम दिया गया। सूचना मिली है कि शव का आज पोस्टमार्टम होगा। किम के सौतेले भाई की मलेशियाई हवाईअड्डे पर हत्या हुई थी। पुलिस ने यह जानकारी दी। पुलिस हत्यारे की तलाश कर रही है।

सोल ने कहा कि यह हत्या किम जोंग उन के नेतृत्व वाले प्योंगयांग प्रशासन की ‘‘बर्बर एवं अमानवीय’’ प्रकृति को दर्शाती है।मलेशिया में पुलिस कुआलालम्पुर अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे की सीसीटीवी फुटेज की जांच करके यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि सोमवार सुबह किए गए हमले के दौरान क्या हुआ।

चाचा को भूखे कुत्तों के आगे छुड़वा दिया था
इससे पहले उत्तर कोरियाई नेता के चाचा जांग सोंग-थाएक की दिसंबर 2013 में हत्या हुई थी। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक- उन्हें भूखे कुत्तों के आगे छोड़ दिया गया था।

दक्षिण कोरियाई सरकार के सूत्रों के हवाले से खबर
बढ़ते अंतरराष्ट्रीय दबावों के बीच किम जोंग-उन सत्ता पर अपनी पकड़ मजबूत कर रहे हैं। उन्होंने कथित रूप से अनेक हत्याओं को अंजाम दिलाया है। दक्षिण कोरिया की संवाद समिति योनहाप ने अपनी एक रिपोर्ट में दक्षिण कोरियाई सरकार के सूत्रों के हवाले से कहा कि किम जोंग-नाम की हत्या सोमवार को हुई। सूत्र ने इस संबंध में कोई अतिरिक्त जानकारी नहीं दी।

सुरक्षा खामियों का फायदा उठाया
योनहाप ने एक अन्य सूत्र के हवाले से दावा किया है कि उत्तर कोरिया की जासूसी एजेंसी ‘द रेकन्नोयसां जनरल ब्यूरो’ ने हवाई अड्डे पर जोंग-नाम के अंगरक्षकों और मलेशियाई पुलिस के बीच सुरक्षा खामियों का लाभ उठा कर हत्या को अंजाम दिया है।

दो महिलाओं ने दिया हत्या को अंजाम
दक्षिण कोरियाई प्रसारक टीवी चोसुन के अनुसार-दो महिला एजेंटों ने कुआलालंपुर के एक हवाई अड्डे पर जहर की सुई का उपयोग कर 45 वर्षीय जोंग-नाम की हत्या की। इस रिपोर्ट में अनेक सरकारी सूत्रों के हवाले का दावा किया गया और कहा गया है कि दोनों महिलाएं एक कार से फरार हो गईं।

ऐसे दिया गया हत्या को अंजाम
सेलांगोर राज्य के आपराधिक जांच प्रमुख फदजिल अहमद के हवाले से मलेशिया के ‘द स्टार’ समाचार पत्र ने कहा, ‘उन्होंने प्रस्थान हॉल में रिसेप्शनिस्ट को बताया कि किसी ने उनका चेहरा पीछे से पकड़ा और उन पर कोई तरल पदार्थ छिड़क दिया।’ फदजिल ने कहा, ‘उन्होंने मदद मांगी और उन्हें तत्काल हवाईअड्डे के क्लीनिक भेजा गया।

पीटीआई की खबर के अनुसार, उस समय उनके सिर में दर्द हो रहा था और वह अंतिम सांसें ले रहे थे। उन्होंने कहा, ‘क्लीनिक में पीड़ित को हल्का दौरा पड़ा। उन्हें एम्बुलेंस के जरिए पुत्रजय अस्पताल ले जाया गया जहां उन्हें मृत घोषित किया गया।’ किम जोंग नाम एक समय उत्तर कोरिया का नेतृत्व संभालने वाले थे लेकिन वर्ष 2001 में फर्जी पासपोर्ट के सहारे जापान में प्रवेश की शर्मनाक कोशिश के बाद उन्हें समर्थन नहीं मिल पाया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here