IPL खिलाड़ी मोहनीश मिश्रा पर युवती के अपहरण और छेड़छाड़ का मामला दर्ज, लड़की को अगवा कर मारपीट व कपड़े फाड़ने का आरोप

0

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) खिलाड़ी मोहनीश मिश्रा और उसके साथियों पर एक युवती का अपहरण करने का मामला दर्ज हुआ है। पीड़ित युवती ने मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल के एमपी नगर थाने में दर्ज कराई है। अपहृत युवती मोहनीश के दोस्त की परिचित बताई जा रही है। आरोप है कि मोहनीश और उसके दोस्तों ने कार से युवती को अगवा किया और उसे रेलवे ट्रैक लेकर गए। जहां उन्होंने उसके साथ मारपीट की और उसके कपड़े फाड़े।

साथ ही युवती का गला दबाकर मारने की कोशिश का भी आरोप है। फिलहाल, वारदात के बाद आरोपी घर पर ताला लगाकर फरार हैं। एमपी नगर थाने में एक युवती ने शिकायत दर्ज कराई है कि आशीष नाम के युवक और उसके पांच दोस्त जिनमें मोहनीश मिश्रा भी शामिल है ने उसको एक कोचिंग के बाहर से अगवा किया। युवती ने आशीष और दोस्तों पर मारपीट करने और अश्लील छेड़छाड़ करने के भी आरोप लगाएं हैं। वहीं, मोहनीश मिश्रा ने इस सारे आरोपों को झूठा बताया है।

दैनिक भास्कर की रिपोर्ट के मुताबिक, मूलत: केरल निवासी 27 वर्षीय युवती एमपी नगर जोन-2 स्थित एक कोचिंग में अकाउंटेंट है। एसआई एमपी नगर करिश्मा राजावत ने बताया कि युवती शुक्रवार शाम करीब 6 बजे थाने पहुंची थी। पीड़िता ने अपनी शिकायत में पुलिस को बताया कि वह कोटरा में मां और बहन के साथ रहती है। शुक्रवार दोपहर करीब साढ़े 12 बजे कोचिंग में ड्यूटी पर थी। तभी उसके दोस्त आशीष सिंह ने फोन करके उसे बाहर बुलाया। बाहर आते ही उसे वे जबरन कार में बैठाकर अग्रवाल पूड़ी भंडार के पीछे रेलवे ट्रैक के पास ले गए।

युवती के मुताबिक, कार में आशीष के अलावा रिंकू, गोलू, मोहनीश समेत पांच-सात लोग थे। युवती ने पुलिस को बताया कि वहां पर आशीष ने कहा कि तुम विक्रम के साथ बहुत घूम रही हो…तुम्हारे बीच क्या चल रहा है? आरोपियों ने उसके साथ मारपीट की। युवती ने बताया कि वहां मदद के लिए एक बाइक सवार आया, तो उसे भी धमकाकर भगा दिया। बाद में युवती ने वहां से अपनी कोचिंग में फोन किया। अारोपी वारदात के बाद कोचिंग गए और वहां वाइस प्रेसिडेंट विक्रम सिंह से मारपीट की। युवती ने कोचिंग पहुंचकर प्रबंधन को इसके बारे में बताया। शाम को उन्होंने थाने पहुंचकर इसकी शिकायत की।

आरोपी को 4 साल से जानती है पीड़िता

रिपोर्ट के मुताबिक, युवती ने पुलिस को बताया कि वह आरोपी आशीष को बीते चार साल से जानती है। पुलिस के मुताबिक आशीष युवती का अच्छा दोस्त था। इसी को लेकर वह युवती के ज्यादा करीब आने का प्रयास करने लगा था। उसे शक था कि युवती का विक्रम से कुछ चल रहा है। इसी कारण उसने इस तरह की वारदात को अंजाम दिया। हालांकि पुलिस को आता देख सभी आरोपित फरार हो गए। युवती की शिकायत पर पुलिस ने आरोपितों के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज कर लिया है। फिलहाल, अभी किसी भी आरोपी की गिरफ्तारी नहीं हुई है।

 

 

Pizza Hut

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here