बाढ़ पीड़ितों को लेकर केरल के इस शख्स ने की संवेदनहीन टिप्पणी, नाराज खाड़ी देश की कंपनी ने दिखाया बाहर का रास्ता

0

केरल में तेज बारिश और बाढ़ की वजह से लोगों का जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है, मूसलाधार बारिश और बाढ़ ने भयंकर तबाही मचा रखी है। कई क्षेत्रों में बाढ़ का पानी भर जाने से स्थिति और गंभीर हो गई है। वहां हालात बेहद खराब हो गए हैं। भारी बारिश और बाढ़ के चलते अब तक 370 लोगों की मौत हो चुकी है। पूरे राज्य से बाढ़ की खौफनाक तस्वीरें सामने आ रही हैं। एनडीआरएफ के अलावा, सेना की तीनों फोर्सेज राहत-बचाव कार्यों में लगी हुई हैं।

इस मुश्किल समय में भारत सहित दुनिया भर के लोग केरल के लोगों की मदद के लिए आगे आ रहे हैं। इस बीच केरल में आए इस भयानक तबाही को लेकर एक खाड़ी कंपनी के एक कदम की दुनिया भर में जमकर सराहना हो रही है। दरअसल इस कंपनी में काम कर रहे केरल के ही एक शख्स को इसलिए कंपनी से बाहर निकाल दिया गया क्योंकि उसने केरल बाढ़ पीड़ितों के लिए किए गए सोशल मीडिया पोस्ट पर एक बेहद ही संवेदनहीन टिप्पणी की थी।

दुबई स्थित खलीज टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, लुलू ग्रुप इंटरनेशनल कंपनी ने राहुल चेरु पलायट्टू नाम के शख्स को नौकरी से निकाल दिया है। वह ओमान में कंपनी की एक शाखा में कैशियर के रूप में काम कर रहा था। राहुल ने फेसबुक पर केरल में बाढ़ पीड़ितों की स्वच्छता आवश्यकताओं का मजाक उड़ाया था, जिसके बाद कंपनी ने उसपर कार्रवाई की।

कंपनी की ओमान शाखा के एचआर मैनेजर नासर मुबारक सलेम अल मावली ने बताया कि भारत के केरल में मौजूदा बाढ़ की स्थिति के संबंध में राहुल चेरु पलायट्टू ने सोशल मीडिया पर अत्यधिक असंवेदनशील और अपमानजनक टिप्पणियां की थी, जिसके कारण उनकी सेवा तत्काल प्रभाव से समाप्त कर दी गई है। हालांकि अपनी टिप्पणी पर आलोचना झेलने के बाद राहुल ने रविवार को फेसबुक पर एक वीडियो पोस्ट कर माफी मांगी।

अपनी माफीनामे में राहुल ने कहा ‘मैंने जो किया उसके लिए मैं माफी मांगता हूं। जब मैंने उस संदेश को पोस्ट किया तो मैं शराब के नशे में था। उस समय मुझे नहीं पता था कि मैंने क्या किया। मैंने एक गंभीर गलती की है।’ लुलु ग्रुप इंटरनेशनल नाम की इस कंपनी के ओमान ब्रांच में कार्यरत केरल निवासी राहुल कैशियर का काम करता था। कंपनी ने उसकी इन हरकतों की कड़े शब्दों में निंदा की और उसे कंपनी से बाहर निकाल दिया।

UAE सरकार ने सहायता समिति गठित करने का दिया निर्देश

संयुक्त अरब अमीरात ने केरल बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए एक कमेटी बनाई है। इस मुश्किल समय में अरब अमीरात के राष्ट्रपति शेख खलीफा बिन जायद अल नाह्यान ने केरल में बाढ़ से प्रभावित लोगों की सहायता के लिए राष्ट्रीय आपातकालीन समिति के गठन का निर्देश दिया है। यूएई के उपराष्ट्रपति शेख मोहम्मद बिन राशिद अल मकतूम ने एक ट्वीट में लोगों से मदद के लिए आगे आने की अपील की है।

राष्ट्रपति के निर्देशों के अनुसार, समिति की अध्यक्षता अमीरात रेड क्रिसेंट (ईआरसी) करेगी और इसमें संयुक्त अरब अमीरात के मानवीय संगठनों के प्रतिनिधि शामिल होंगे। स्थानीय मीडिया के अनुसार यह समिति सऊदी अरब में भारतीय निवासी समुदाय के गणमान्य व्यक्तियों की मदद भी लेगी। अरब देश का कहना है कि केरल के लोग यूएई की कामयाबी की कहानी का हिस्सा हैं। खाड़ी के इस देश में केरल से ताल्लुक रखने वाले लोग खासी संख्या में हैं।

NDRF कर्मी ने अपने शरीर को बना दिया सीढ़ी, पीठ पर पैर रखकर नाव पर बैठी महिलाएं

जब केरल बाढ़ पीड़ित महिलाओं को बचाने के लिए NDRF कर्मी ने अपने शरीर को बना दिया सीढ़ी, पीठ पर पैर रखकर नाव पर बैठी महिलाएंhttp://www.jantakareporter.com/hindi/humanity-in-kerala-floods/203615/

Posted by जनता का रिपोर्टर on Sunday, August 19, 2018

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here