शर्मनाक: रेप का आरोप लगाने वाली पीड़िता नन को केरल के विधायक ने बताया ‘वेश्‍या’, कहा- ’12 बार मजे लिए, 13वीं बार यह बलात्‍कार हो गया?’

0

जालंधर के बिशप फ्रैंको मुलक्कल पर बलात्कार का आरोप लगाने वाली नन को लेकर केरल के निर्दलीय विधायक पीसी जॉर्ज ने शर्मनाक बयान दिया है। विधायक ने बिशप पर रेप का आरोप लगाने वाली नन के आरोपों पर ही सवाल खड़ा कर दिया है। इतना ही नहीं जॉर्ज ने सवाल खड़ा करते हुए पीड़िता नन को ‘वेश्या’ बता दिया है। बता दें कि एक नन ने जून में आरोप लगाया था कि मुलाक्कल ने केरल के समीप कोट्टायम के एक कॉन्वेंट में वर्ष 2014 से 2016 के बीच उसके साथ रेप किया।

जालंधर के बिशप फ्रैंको मुलक्कल पर रेप का आरोप लगाने वाली नन को केरल के निर्दलीय विधायक पीसी जॉर्ज ने वेश्या बताया है। न्यूज एजेंसी एएनआई की खबर के मुताबिक विधायक पीसी जोर्ज ने कहा, ‘इसमें कोई शक नहीं कि नन एक वेश्या है। 12 बार उसने मजे लिए और 13वीं बार ये बलात्कार हो गया? जब पहली बार रेप हुआ तो उसने शिकायत क्यों नहीं दर्ज कराई?’

दरअसल, इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, शनिवार (8 सितंबर) को पहली बार पांच ननों ने सार्वजनिक विरोध प्रदर्शन में शामिल होकर उस बिशप को तुरंत गिरफ्तार किए जाने की मांग की जिस पर एक नन ने बलात्कार का आरोप लगाया है। इस साल जून में एक नन ने शिकायत दर्ज कराई कि जालंधर के बिशप फ्रैंको मुल्कल ने उसका 13 बार बलात्कार किया। ये घिनौना अपराध मई 2014 के बाद दो सालों तक किया गया। मामले में 28 जून को कोट्टायाम पुलिस ने केस दर्ज किया और पिछले महीने मुल्लक को पूछताछ के लिए बुलाया गया।

कोट्टायम के कॉन्वेंट की पांच ननों ने प्रदर्शन में हिस्सा लिया। उन्होंने आरोप लगाया कि चर्च, पुलिस और सरकार ने जालंधर डायोसीज के आरोपी बिशप फ्रैंको मुलक्कल के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं करके पीड़िता को न्याय से वंचित किया है। दूसरी तरफ एक अन्य जो विरोध प्रदर्शन में भाग लेने पहुंची उसने प्लेकार्ड पकड़ा था, जिसपर लिखा था, ‘कौन फ्रांसो का बचाव कर रहा है। हमें इंसाफ चाहिए। हमारी जिंदगी खतरे में हैं।’

बिशप फ्रैंको की गिरफ्तारी की मांग वाली तख्तियां लिए प्रदर्शनकारी एक नन ने कहा, ‘हम अपनी सिस्टर के लिए लड़ रहे हैं। उसे चर्च, सरकार और पुलिस से न्याय नहीं मिला है। हम अपनी सिस्टर को न्याय दिलाने के लिए किसी भी हद तक जाने के लिए तैयार हैं। उन्होंने कहा कि बिशप फ्रैंको के खिलाफ पर्याप्त सबूत होने के बाद भी उन्हें क्यों गिरफ्तार नहीं किया गया। उन्होंने इस मामले में चर्च के रुख पर भी सवाल उठाया।

ज्वाइंट क्रिस्चियन काउंसिल के वर्किंग प्रेसिडेंट जोर्ज जोसफ ने कहा, ‘प्रदर्शन राज्य सरकार और पुलिस के खिलाफ था। शिकायतकर्ता को सरकार से इंसाफ चाहिए। बिशब मुल्कल की गिरफ्तारी होनी चाहिए। एक बार वो गिरफ्तार हो जाए। तब चर्च को उसके खिलाफ कार्रवाई करने के लिए मजबूर किया जाएगा। इसलिए सरकार को पहले एक्शन लेना चाहिए।’

 

Pizza Hut

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here