विवादों में घिरे केरल के सीएम, मुख्यमंत्री के कदम से येचुरी भी असहमत

0
>

केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन सरकार बनाने से पहले ही विवादों में घिर गए है। केरल के नए सीएम पिनराई विजयन के शपथ समारोह का कई बड़े अखबारों में फुल पेज विज्ञापन दिया गया था।

_1301540e-1e42-11e6-878c-ac18b651cb15

इस विज्ञापन में विजयन की तस्वीर थी और पीछे लाल रंग का बैकग्राउंड। इसकी टैगलाइन थी, ‘केरल को भगवान का खुद का देश बनाने के प्रति वचनबद्ध’।

Also Read:  बसपा सुप्रीमो मायावती के भाई से जुड़ी कंपनियों पर आयकर विभाग का छापा

जनसत्ता के मुताबिक मुख्यमंत्री के इस कदम से गठबंधन की बाकी पार्टियों सहमत नहीं हैं। इसके बाद सीपीआई(एम) में बैचेनी पैदा हो गई और इससे लेफ्ट नेतृत्व भी हैरान है। केरल के एलडीएफ गठबंधन की दूसरी बड़ी पार्टी सीपीआई ने चेताया है कि इस तरह की गतिविधियों का कम्यूनिस्ट पार्टियां समर्थन नहीं करती। सीपीआई(एम) के महासचिव सीताराम येचूरी ने कहा कि सरकार को बुधवार (25 मई) को शपथ लेनी थी। उससे पहले सरकार को कैसे जिम्मेदार ठहराया जा सकता है। हम देखेंगे की यह क्या है और कैसे हुआ। मैंने विज्ञापन नहीं देखा। मैं कोलकाता में था। मैं वहीं से केरल गया हूं।

Also Read:  रेयान इंटरनेशनल हत्याकांड: मीडिया अपने कीमती समय को बेचते हुए एक-दो दिन और इस खबर को दिखाएंगा और नेता सख्त कार्रवाई की बात करेंगे

सीपीआई के महासचिव एस सुधाकर रेड्डी के मुताबिक विज्ञापन में विजयन सरकार कहने की बजाय एलडीएफ सरकार कहना सही होता। अकसर इस तरह की गतिविधियां लेफ्ट और कम्यूनिस्ट पार्टियों में नहीं होतीं। इनको बढ़ावा नहीं दिया जाएगा। इस तरह के विज्ञापन पर पैसा खर्च नहीं होना चाहिए।

Also Read:  बंगलुरु में गोरैया की कमी के बाद कौओं की संख्या में भी हुई गिरावट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here