दिल्ली में कांग्रेस को वोट देने का मतलब है, AAP के वोट काटकर BJP को जिताना: केजरीवाल

0

आम आदमी पार्टी(आप) के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्‍ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल आगामी लोकसभा चुनाव की तैयारियों में जुट गए हैं। वहीं, दिल्ली में आगामी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर आप और कांग्रेस के बीच गठबंधन की संभावनाओं को खत्म करते हुए दोनों दलों ने अपना रास्ता अलग कर लिया है।

केजरीवाल
FILE PHOTO: @AamAadmiParty

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को कांग्रेस के साथ गठजोड़ की चर्चाओं पर विराम लगाते हुए दिल्ली के वोटरों को साफ संदेश दिया। केजरीवाल ने बुधवार (29 अगस्त) को ट्वीट करते हुए लिखा, “दिल्ली में कांग्रेस को वोट देने का मतलब है, आम आदमी पार्टी के वोट काटकर भाजपा को जिताना।”

बता दें कि केजरीवाल ने हाल ही में विपक्षी दलों के महागठबंधन की कोशिशों से खुद को अलग करते हुए AAP के अकेले ही चुनाव लड़ने की घोषणा की थी।

बता दें कि इससे पहले कुछ दिनों पहले ही केजरीवाल ने ट्वीट करते हुए लिखा था कि, “जनता भाजपा के सांसदों से ख़ासी नाराज़ है। जनता आम आदमी की दिल्ली सरकार से बहुत ख़ुश है। वहीं जनता भाजपा से इस बात पर भी बहुत ज़्यादा नाराज़ है कि भाजपा ने दिल्ली सरकार के कामों में रोड़े अटकाए। 2019 लोकसभा चुनावों में भाजपा को दिल्ली में बड़ा झटका लगने वाला है।”

गौरतलब है कि अगले साल देश में लोकसभा चुनाव होने वाले हैं और इसके लिए सभी राजनीतिक पार्टियां अभी से ही अपनी कमर कसने लग गई है। बता दें कि साल 2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने दिल्ली की सातों सीटें जीती थीं और कांग्रेस व आप खाता तक नहीं खोल सकी थीं।

Pizza Hut

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here