जस्टिस काटजू ने प्रधानमंत्री मोदी से कहा, दिखाइए अपनी ’56 इंच की छाती’, मंत्रियों को बताया ‘हिजड़ा’

0

भारतीय सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायधीश जस्टिस मार्कंडेय काटजू अपने बयानों के कारण अक्सर सुर्ख़ियों में रहते हैं। आपको मालूम हो कि देश के मौजूद हालात उड़ी हमले के बाद काफी तनावपुर्ण है। लेकिन काटजू के इस बयान के बाद मानो आग में घी डालने जैसा है।

काटजू ने अपने फेसबुक पेज पर लिखा, “उड़ी हमले के बाद से ही लोग लोग मुझसे ये लगातार पूछ रहे हैं कि भारत सरकार को पाकिस्तान को उड़ी हमले का कैसे मुँहतोड़ जवाब देना चाहिए, मैं बताता हूँ सरकार को क्या करना चाहिए। सरकार को “कड़ी निंदा” करना जारी रखना चाहिए क्योंकि इस काम में ये सारे हिजड़े बहुत माहिर हैं। लेकिन उसके बाद? वहाँ कुछ कार्रवाई भी होनी चाहिए। या कड़ी निंदा शब्द ही कार्रवाई हैं।”

Also Read:  Justice Katju asks for PIL into CJI Dattu's assets

एक अलग ट्वीट में काटजू ने कहा, “एक्शन मिस्टर मोदी एक्शन, सिर्फ बातें नहीं कारवाई भी कीजिये। दिखाइए अपना 56 इंच की छाती।

मोदी सरकार पर व्यंग्य कसते हुए काटजू ने आगे लिखा, “क्या हमारे महिला प्रतिनिधि ने संयुक्त राष्ट्र में उड़ी हमले पर पाकिस्तान कि कड़ी निंदा नहीं किया? और तब? गालियां, गंदी गालियाँ और न जाने क्या-क्या कहा गया, मिसाल के तौर पर बीसी, एमसी क्योंकि भारत में अपने पसंद के हिसाब से गालियां उपलब्ध है। और अगर आप अभी भी गालियों से संतुष्ट नहीं हैं तो आपको नितिन गडकरी से संपर्क करना चाहिए।

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी पर हमला बोलते हुए काटजू ने कहा कि आप साबित कीजिये कि ‘मोदी सरकार मनमोहन सिंह सरकार जैसी पंगु नहीं है। हमें पाकिस्तान के खिलाफ एक सैन्य हड़ताल करना चाहिए या फिर भारत सिंधु नदी समझौता तोड़ देना चाहिए। एक्शन लीजिये गडकरी, एक्शन, एक्शन, यही हर भारतीय चाहता है न कि आपके बड़बोलापन।

गौरतलब है कि हाल ही में काटजू ने अमिताभ बच्चन को निशाने पर लिया था। उन्होंने 17 सितंबर को फेसबुक पेज पर अमिताभ को निशाने पर लेते हुए लिखा था, ‘अमिताभ बच्चन का दिमाग खाली है और चूंकि अधिकतर मीडियाकर्मी उनकी तारीफ करते नहीं अघाते, मुझे लगता है कि उनका भी दिमाग खाली है।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here