कठुआ गैंगरेप-हत्या मामला: निचली अदालत की सुनवाई पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक

0

सुप्रीम कोर्ट ने जम्मू-कश्मीर के कठुआ जिले में 8 साल की नाबालिग मासूम बच्ची के साथ हुए गैंगरेप और हत्या मामले की सुनवाई चंडीगढ़ में कराने और इसकी जांच सीबीआई को सौंपने की याचिका पर विचार करने के बाद इस मामले मे कठुआ में चल रही सुनवाई पर रोक लगा दी है, इस मामले में अगली सुनवाई 7 मई को होगी।

Vedanta
file photo

एनडीटीवी की रिपोर्ट के मुताबिक, सुप्रीम कोर्ट ने आरोपियों के केस ट्रांसफर करने वाली याचिका पर सुनवाई करते हुए कहा कि आरोपियों को भी अपना पक्ष रखने का अधिकार है। कोर्ट ने आरोपियों को अपना जवाब दाखिल करने के लिए 7 मई तक का समय दिया। सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई जांच की मांग पर आरोपियों की दलील सुनने के बाद लेगा। कठुआ गैंग रेप मामले में पीड़ित की पिता की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई की। पिछली सुनवाई में सुप्रीम कोर्ट ने सभी पक्षों को नोटिस जारी किया था। पीड़ित के पिता सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर केस को जम्मू कश्मीर से बाहर ट्रांसफर करने की मांग की है।

रिपोर्ट के मुताबिक, याचिका में मांग की गई है कि केस को चंडीगढ़ ट्रांसफर कर दिया जाए क्योंकि जम्मू में केस का ट्रायल सही से नहीं हो पाएगा। ये भी मांग की गई है कि नेताओं को नाबालिग़ आरोपी से मिलने से रोका जाए। याचिका में ये भी कहा गया है कि जांच की प्रगति रिपोर्ट को सुप्रीम कोर्ट के सामने रखी जाए। याचिका में ये भी मांग की गई है कि कठुआ की अदालत तब तक इस मामले की सुनवाई न करे जब तक सुप्रीम कोर्ट केस को ट्रान्सफर करने को लेकर दाखिल याचिका का निपटारा न कर दें।

बता दें कि, पिछले दिनों जम्मू-कश्मीर के कठुआ और उत्तर पर्देश के उन्नाव रेप केस को लेकर पूरे देश में कफी विरोध प्रदर्शन हुए। कठुआ जिले में 8 वर्षीय नाबालिग मासूम बच्ची के साथ हुए गैंगरेप-हत्या और उन्नाव रेप केस ने पूरे देश को हिला कर रख दिया है। लोग आरोपियों को कठोर सजा दिलाने की मांग कर रहे हैं।

कठुआ केस में आरोपियों पर आरोप है कि उन्होंने आठ साल की लड़की को जनवरी में एक सप्ताह तक कठुआ जिले के एक गांव के मंदिर में बंधक बनाकर रखा गया था और उसे नशीला पदार्थ देकर उसके साथ बार-बार बलात्कार किया गया और बाद में उसकी हत्या कर दी गई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here