बिहार के शिक्षा विभाग के मुताबिक, कश्मीर भारत का हिस्सा नहीं

0

बिहार के शिक्षा विभाग के मुताबिक कश्मीर भारत का हिस्सा नहीं बल्कि एक अलग देश है। जी हां, यह सुनने में भले ही आपको अजीब लगे, लेकिन राज्य के शिक्षा विभाग ने कश्मीर को अलग देश के रूप में ही मान्यता दे दी है। शिक्षा बोर्ड द्वारा तैयार किए गए एक प्रश्‍न-पत्र में पूछा गया कि चीन, नेपाल, इंग्‍लैंड, कश्‍मीर और भारत जैसे देशों के निवासियों को क्‍या कहते हैं?

फाइल फोटो: PTI

यह सवाल सातवीं क्लास की छमाही परीक्षा में अंग्रेजी विषय में पूछा गया है। सवाल है कि जब चीन के लोगों को चायनीज कहते है, तब नेपाल के लोग को क्या कहा जाता है। फिर इंग्लैंड के लोगों को क्या कहा जाता है। उसके बाद कश्मीर के लोगों के बारे में पूछा गया और अंत में भारत के लोगों के बारे में पूछा गया है कि उन्हें क्या कहा जाता है?सोशल मीडिया पर यह प्रश्न पत्र वायरल हो गया है। लोगों का कहना है कि आखिर कैसे नीतीश सरकार के विद्वानों ने भारत के साथ-साथ कश्मीर को भी अलग देश मानकर सवाल पूछ दिया। पांच अक्टूबर को शुरू हुई यह परीक्षा बुधवार (11 अक्‍टूबर) को समाप्‍त होंगी। यह परीक्षा केंद्र सरकार के सर्व शिक्षा अभियान के तहत आयोजित की जा रही है।

इस परीक्षा की देखरेख का जिम्मा बिहार एजुकेशन प्रोजेक्ट काउंसिल (BEPC) के पास है। यह काउंसिल राज्य सरकार के अधीन आती है। जब इस बारे में वैशाली जिला शिक्षा अधिकारी संगीता सिन्‍हा से पूछा गया तो उन्‍होंने अंग्रेजी अखबार टाइम्‍स ऑफ इंडिया से कहा, ‘मैं छुट्टी पर थी और अभी लौटी हूं। मुझे मामला देखना पड़ेगा।’

वहीं, BEPC के राज्‍य कार्यक्रम अधिकारी प्रेम चन्‍द्र ने गलती मानते हुए कहा कि, ‘यह बेहद शर्मिंदा करने वाला है, मैं मानता हूं।’ उन्‍होंने से प्रिंटिंग में गड़बड़ी बताया। BEPC परीक्षाओं के प्रश्‍न-पत्र बनते एक जगह हैं, लेकिन छपते अलग-अलग जगहों पर हैं। फिलहाल इस मामले की जांच का आदेश दिया गया है।

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here