कर्नाटक LIVE: कुमारस्वामी का सनसनीखेज आरोप, कहा- BJP ने विधायकों को दिया 100 करोड़ रुपये और मंत्री पद देने का ऑफर, जावड़ेकर ने आरोपों को बताया आधारहीन

0

कर्नाटक में मंगलवार (15 मई) को विधानसभा चुनाव के नतीजे तो आ गए लेकिन सरकार किसकी बनेगी ये अब तक साफ नहीं हो पाया है। त्रिशंकु की परिस्थिति में राज्यपाल वजुभाई आर. वाला की भूमिका अहम हो जाती है। यही वजह है कि राज्य में चुनाव परिणाम की घोषणा के साथ नया सियासी दंगल शुरू हो गया है। दोपहर तक के रुझानों में बहुमत के करीब दिख रही भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) शाम होते-होते सरकार बनाने की दौड़ में पिछड़ती नजर आई। यह देख कांग्रेस ने तुरंत जनता दल सेक्युलर (जेडीएस) को सरकार बनाने के लिए समर्थन दे दिया।कर्नाटक के निवर्तमान मुख्यमंत्री सिद्धरमैया ने कहा है कि एच डी कुमारास्वामी कांग्रेस के समर्थन वाली जद-एस नीत सरकार के मुख्यमंत्री होंगे। सरकार बनाने को लेकर दोनों दलों के बीच बैठक के बाद उन्होंने यह बयान दिया। सबसे बड़े दल के रूप में उभरी बीजेपी भी पीछे नहीं रही और उसने भी राज्यपाल से मिलकर अपना दावा पेश कर दिया। सत्ता के इस पेच में अब सारी नजरें राज्यपाल वजुभाई वाला पर टिक गई है कि वह किसे मौका देते हैं। सरकार बनाने के इंतजार में बैठी बीजेपी और कांग्रेस+जनता दल (सेक्युलर) राज्यपाल वजुभाई के फैसले का इंतजार कर रही हैं।

बता दें कि कर्नाटक विधानसभा की 224 में से 222 सीटों के लिए 12 मई को मतदान हुआ था। 224 सदस्यीय विधानसभा में सरकार बनाने के लिए 112 सीटें जरूरी हैं। 224 सीटों में से 222 के नतीजे घोषित हो गए हैं और बीजेपी को 104, कांग्रेस को 78, जेडीएस गठबंधन को 38 और अन्य को दो सीटें मिली हैं। ऐसे में कोई भी पार्टी बहुमत के जादुई आंकड़े 112 को नहीं छू सकी है।

104 सीटों के साथ बीजेपी सबसे बड़े दल के रूप में उभरी है लेकिन वह बहुमत के आंकड़े से 8 सीट पीछे है। यही देख कांग्रेस ने 78 सीटें होने के बावजूद 38 सीटों वाले जेडीएस को समर्थन देने का दांव चला। थोड़ी देर बाद जेडीएस ने भी समर्थन और एचडी कुमारस्वामी को मुख्यमंत्री बनाने की कांग्रेस की पेशकश मंजूर कर ली। कांग्रेस और जेडीएस को मिलाकर 116 सीटें हो जाती हैं, जो बहुमत से 4 ज्यादा है।

कर्नाटक में किसकी बनेगी सरकार, जानें हर अपडेट:-

  • जेडीएस-कांग्रेस के नेता आज शाम 5 बजे राज्यपाल वजुभाई वाला से करेंगे मुलाकात।
  • कर्नाटक LIVE: अगर कांग्रेस और JD(S) को राज्यपाल द्वारा सरकार बनाने के लिए बुलाया नहीं जाता है तो विधायक कल से राज भवन के बाहर धरने पर बैठेंगे। इस धरने में सांसद भी उनके साथ शामिल हो सकते हैं: सूत्र (ANI)
  • कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा, ‘विधायकों की चोरी की इजाजत नहीं होनी चाहिए। कोई भी राज्यपाल संविधान के खिलाफ नहीं जा सकता। हम आपको नहीं बता सकते किसने हमसे बात की किसने नहीं। ऐसे वक्त पर हमें राज्यपाल पर पूरा भरोसा है कि वह संविधान के अनुसार चलेंगे न कि पार्टी की राजनीति के’
  • बीजेपी ने एचडी कुमारास्वामी के आरोपों को खारिज किया है। बेंगलुरु में मीडिया से बात करते हुए कर्नाटक बीजेपी के प्रभारी प्रकाश जावड़ेकर ने कहा, “बीजेपी की ओर से कोई खरीद-फरोख्त की कोशिश नहीं की गई है। उनके खुद के विधायक इस गठबंधन से खुश नहीं हैं।” उन्होंने कहा कि वह बीजेपी पर झूठे आरोप लगा रहे हैं। बीजेपी हॉर्स ट्रेडिंग नहीं करती, कांग्रेस इसके लिए मशहूर है।
  • मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, बेंगलुरु में कांग्रेस विधायक दल की बैठक से गैरहाजिर रहने वाले सभी विधायक वापस आ गए हैं। खबरों के मुताबिक सभी विधायक पार्टी के साथ हैं। विधायक दल की बैठक में 78 विधायकों में से 66 विधायक ही पहुंचे थे, बैठक से 12 विधायक गैरहाजिर थे।
  • जेडीएस विधायक दल के नेता एचडी कुमारस्‍वामी ने बीजेपी पर विधायकों की खरीद-फरोख्‍त के आरोप लगाए हैं। उन्‍होंने मीडिया से कहा, ”ऑपरेशन कमल के सफल होने की बात भूल जाइए। कई ऐसे लोग हैं जो भाजपा छोड़ हमारे साथ आने को तैयार हैं। अगर तुम (बीजेपी) हमारे विधायकों का शिकार करने की कोशिश करोगे तो हम भी ऐसा ही करेंगे और तुमसे दोगुने विधायक तोड़ेंगे। मैं गवर्नर को भी यह कहने जा रहा हूं कि कोई ऐसा फैसला न करें जिससे हॉर्स ट्रेडिंग को बढ़ावा मिले।”
  • कांग्रेस विधायक टीडी राजगौड़ा का सनसनीखेज आरोप, कहा- बीजेपी लगातार फोन करती रही लेकिन हम उसके बारे में चिंता नहीं करते। मैंने उनसे साफ तौर पर कह दिया है कि वे मुझे फोन न करें। मैं एक कांग्रेसी हूं। वे ऐसा लंबे वक्त से करते आ रहे हैं, यही उनका काम है।
  • बीजेपी लगातार फोन करती रही लेकिन हम उसके बारे में चिंता नहीं करते। मैंने उनसे साफ तैर पर कह दिया है कि वे मुझे फोन न करें। मैं एक कांग्रेसी हूं। वे ऐसा लंबे वक्त से करते आ रहे हैं, यही उनका काम है: टीडी राजगौड़ा, कांग्रेस
  • यह सरकार बनाने का सवाल नहीं है। यह विचारधारा के खिलाफ खड़े रहने का सवाल है और हम बीजेपी की विचारधारा के खिलाफ हैं: कुमारस्वामी
  • मुझे दोनों तरफ से प्रस्ताव आए थे। मैं ऐसे ही नहीं कह रहा हूं। मेरे पिता के करियर में काला धब्‍बा लगा, क्‍योंकि मैं 2004 और 2005 में बीजेपी के साथ चला गया था। अब भगवान ने मुझे इस काले धब्‍बे को मिटाने का एक मौका दिया है। इसलिए मैं कांग्रेस के साथ जा रहा हूं: कुमारस्‍वामी
  • आयकर विभाग और अन्य एजेंसियों का इस्तेमाल विपक्ष को निशाना बनाने के लिए किया जा रहा है: कुमारस्वामी
  • बीजेपी ने मेरी पार्टी के लोगों को 100 करोड़ रुपये कैश और कैबिनेट पद देने का वादा किया है। ऐसा पहली बार हुआ है जब कोई पार्टी विपक्ष को इस स्‍तर तक धमका रही है: जेडीएस नेता कुमारस्‍वामी
  • JDS के विधायक दल के नेता चुने गए एचडी कुमारस्वामी, कहा- बीजेपी से गठबंधन का कोई सवाल ही नहीं उठता
  • कांग्रेस और जेडीएस के विधायक दल की बैठक जारी, JDS के 2 विधायक हुए लापता, कांग्रेस की बैठक में हिस्सा लेने 78 में से सिर्फ 66 विधायक पहुंचे
  • येदियुरप्‍पा को BJP विधायक दल का नेता चुना गया, राजभवन के लिए हुए रवाना
  • हमने अपना सरकार बनाने का प्रस्ताव राज्यपाल के सामने रख दिया है उन्होंने कहा है कि वह इस बारे में जल्द फैसला लेंगे: बीएस येदियुरप्पा
  • बेंगलुरु: कांग्रेस की बैठक में हिस्सा लेने 78 में से सिर्फ 66 विधायक पहुंचे।
  • जेडीएस के 2 विधायक राजा वेंकटप्पा नायक और वेंकट राव पार्टी की बैठक से नदारद।
  • यह सब गलत खबर है। उल्टा बीजेपी के 6 विधायक हमारे संपर्क में है: एमबी पाटिल, कांग्रेस
  • हमें लोगों के फैसले को बचाना होगा। बीजेपी गंदी राजनीति कर रही है। हमें उनके स्तर तक नहीं गिरना। हम 118 नंबर में हैं हमें और नहीं चाहिए। मुझे किसी ने रिजॉर्ट में नहीं बुलाया: एनए हैरिस, कांग्रेस
  • मुझे नहीं पता बीजेपी क्या ऑफर कर रही है पर वे हमारे लोगों को फोन करने की कोशिश कर रहे हैं। हम सब साथ हैं, कोई हमारी पार्टी को छू नहीं सकता। हमारे पार्टी के सदस्य पार्टी के प्रति वफादार हैं: जेडीएस नेता
  • जेडीएस को अपने विधायकों पर पूरा भरोसा है, कोई कहीं नहीं जा रहा है। बीजेपी को कोशिश करने दीजिए वे जो करना चाहते हैं: गुलाम नबी आजाद, कांग्रेस
  • कर्नाटक में सरकार बनाने को लेकर राजनीतिक सरगर्मियां तेज हो गई हैं। इस बीच कांग्रेस ने बीजेपी पर गंभीर आरोप लगाया है। कांग्रेस का कहना है कि बहुमत पाने और सरकार बनाने के लिए बीजेपी उसके विधायकों को अपने पक्ष में लाने की कोशिश कर रही है।
  • येदियुरप्पा कल लेंगे सीएम पद की शपथ,विधायक दल की बैठक में नाम पर लगी मुहर
  • बीजेपी नेता बी एस येदियुरप्पा ने कहा है कि विधायक दल की बैठक में नेता चुने जाने के बाद वे फिर से राज्यपाल से मिलने जाएंगे। उन्होंने कहा कि हम राज्यपाल से कल तक का समय मांगेगे
  • बेंगलुरु पहुंचे केंद्रीय मंत्री और बीजेपी नेता प्रकाश जावड़ेकर ने कहा, “जनता राज्य में बीजेपी की सरकार चाहती है। हम सरकार बनाएंगे।” जावड़ेकर ने कहा कि बैठक के बाद राज्य में सरकार बनाने को लेकर जरूरी कदम उठाए जाएंगे।” उन्होंने कहा कि हम सरकार बनाने के लिए पूरी तरह लोकतांत्रिक तरीके का पालन कर रहे हैं।
  • जेडीएस प्रवक्ता दानिश अली ने कहा है कि कांग्रेस और जेडीएस के पास पर्याप्त संख्या है। उन्होंने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि राज्यपाल अपने संवैधानिक कर्तव्य का निर्वहन करते हुए एच डी कुमारस्वामी को सरकार बनाने का न्योता देंगे। उन्होंने कहा कि अगर बीजेपी राज्यपाल पर दबाव बनाती है तो यह लोकतंत्र की हत्या होगी।
  • कांग्रेस नेता रामलिंगा रेड्डी ने कहा है कि उन्हें अपने विधायकों पर विश्वास है। बीजेपी हर तरह की कोशिश कर रही है, क्योंकि उसकी लोकतंत्र में विश्वास नहीं है। बीजेपी को सिर्फ सत्ता चाहिए।

PM मोदी के खास रहे हैं राज्यपाल वजुभाई

कर्नाटक में विधानसभा चुनाव के नतीजे कुछ ऐसे आए हैं कि कोई भी पार्टी अकेले सरकार बना पाने की स्थिति में नहीं है। दावा दोनों पक्षों की ओर से किया गया है, ऐसे में फैसला अब राज्यपाल को अपने विवेक के आधार पर लेना है। गोवा, मणिपुर जैसे राज्यों में सबसे बड़ी पार्टी बनने के बावजूद सरकार बनाने में चूक गई कांग्रेस खुद ही देवेगौड़ा के पुत्र और जेडीएस नेता कुमारस्वामी के सामने मुख्यमंत्री बनाने का न्योता लेकर पहुंच गई। कुमारस्वामी ने राज्यपाल वजुभाई वाला को पत्र लिखकर कांग्रेसी समर्थन स्वीकारने की सूचना दी और बाद में मिलकर सरकार बनाने का दावा भी ठोक दिया। वहीं, बीजेपी नेता येद्दयुरप्पा ने भी राज्यपाल से मुलाकात कर सबसे बड़ी पार्टी होने के नाते सरकार बनाने का दावा पेश कर दिया है।

जाहिर है कि अब बहुत कुछ कर्नाटक के राज्यपाल पर निर्भर करेगा कि वह पहले किसे सरकार गठन के लिए आमंत्रित करते हैं। राज्यपाल जिस पार्टी को पहले सरकार बनाने के लिए आमंत्रित करेंगे, वो अपने हिसाब से विधायकों को ‘जोड़-तोड़ कर’ संख्याबल जुटाने का प्रयास करेगी। यह बहुत संभव है कि जोड़-तोड़ कर कर्नाटक में सरकार बना ली जाए और इसीलिए सभी की नजरें अब राज्यपाल के फैसले पर टिकी हैं। राज्यपाल वजुभाई आर वाला के बारे में यदि आपको पता हो तो वे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सबसे करीबी लोगों में से एक रहे हैं।

गुजरात सरकार में वित्त मंत्री और विधानसभा अध्यक्ष रहे वजुभाई ने एक वक्त पीएम मोदी के लिए खुद की सीट भी छोड़ दी थी। ताकि उस समय पहली बार मुख्यमंत्री बने नरेंद्र मोदी 2001 में अपना पहला चुनाव लड़ पाएं। ऐसे में यह देखना दिलचस्प होगा कि वह अपनी ‘वफादारी’ साबित करते हैं या फिर दूसरे पक्ष को मौका देते हैं। राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ (आरएसएस) के साथ लंबे समय तक जुड़े रहने वाले वजुभाई जनसंघ के संस्थापकों में से एक हैं। पीएम मोदी के करीबी समझे जाने वाले 79 वर्षीय वाला आरएसएस के पुराने स्वयंसेवक हैं और उनके नाम पर गुजरात के वित्त मंत्री के तौर पर 18 बजट पेश करने का रिकॉर्ड है।

बीजेपी की गुजरात इकाई में संकट प्रबंधक की छवि हासिल कर चुके वजुभाई वाला को 1990 के दशक के मध्य में तब प्रदेश पार्टी अध्यक्ष बनाया गया था जब शंकरसिंह वाघेला ने बगावत कर दी थी और केशुभाई पटेल सरकार गिर गई थी। वह गुजरात के वित्त मंत्री के रूप में 2002 से 2012 तक मोदी के बाद दूसरे नंबर पर थे। केशुभाई पटेल के दौर में भी उनका यही दर्जा था। वाला ने अपने गृह नगर राजकोट से आरएसएस के साथ अपनी राजनीतिक पारी की शुरुआत की थी। उस दौरान वह जनसंघ से जुड़े और आपातकाल में जेल में भी गए।

 

Pizza Hut

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here