कर्नाटक: मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने से पहले येदियुरप्पा ने बदली अपने नाम की स्पेलिंग, ‘D’ हटाकर ‘I’ जोड़ा

0

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता बीएस येदियुरप्पा थोड़ी देर बाद एक बार फिर कर्नाटक के मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लेंगे। कर्नाटक भाजपा अध्यक्ष येदियुरप्पा ने शुक्रवार को कहा कि राज्यपाल वजुभाई वाला आज (शुक्रवार) शाम छह बजे उन्हें मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाएंगे। इस बीच शपथ से पहले येदियुरप्पा ने एक बड़ा बदलाव किया है। उन्होंने अपने नाम की अंग्रेजी स्पेलिंग में बदलाव कर लिया है। राज्यपाल को जो पत्र उन्होंने सौंपा है उसमें उन्होंने अपने नाम में से एक ‘D’ को हटाकर अब स्पेलिंग में ‘I’ जोड़ दिया है।

(PTI FILE Photo)

न्यूज 18 के मुताबिक, येदियुरप्पा ने अब अपने नाम के स्पेलिंग में से ‘डी’ को हटाकर ‘आई’ जोड़ लिया है। येदियुरप्पा अभी तक अपने नाम की स्पेलिंग B. S. Yeddyurappa लिखते आए हैं, लेकिन अब कर्नाटक के राज्यपाल को जो उन्होंने सरकार बनाने का दावा पेश किया है, उसमें B.S. Yediyurappa लिखा है। कहा जा रहा है कि अंकशास्त्रियों से सलाह-मशविरे के बाद उन्होंने यह फैसला किया है।

साभार: News18.com

येदियुरप्पा के 2018 के चुनावी हलफनामे में उनका नाम ‘B. S. Yeddyurappa’ ही लिखा था। वीकिपीडिया में भी (खबर लिखे जाने तक) B. S. Yeddyurappa ही आ रहा है। येदियुरप्पा ने ट्विटर (@BSYBJP) पर भी अपने नाम के स्पेलिंग में बदलाव कर दिया है। कुछ मीडिया रिपोर्ट में दावा किया जा रहा है कि 2007 से पहले येदियुरप्पा का नाम की स्पेलिंग यही थी, जो उन्होंने अब कर ली है।

इससे पहले येदियुरप्पा ने राजभवन में राज्यपाल से मुलाकात के बाद पत्रकारों से कहा, ‘‘मैंने राज्यपाल से मुझे शाम छह बजे से सवा छह बजे के बीच मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाने का अनुरोध किया। राज्यपाल राजी हो गए और मुझे एक पत्र दिया।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मंत्रिमंडल में किसे शामिल किया जाएगा, इसके बारे में मैं हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष से चर्चा करुंगा और उन्हें सूचित करुंगा।’’

येदियुरप्पा ने सरकार बनाने का दावा पेश करने के लिए राज्यपाल से मुलाकात की और उनसे आज ही पद और गोपनीयता की शपथ दिलाने का अनुरोध किया। उन्होंने कहा कि चूंकि वह पहले ही विपक्ष के नेता हैं तो नेता चुनने के लिए विधायक दल की बैठक बुलाने की जरूरत है। येदियुरप्पा ने कहा कि वह शपथ ग्रहण समारोह के लिए निवर्तमान मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी और कांग्रेस विधायक दल के नेता सिद्दारमैया को भी निमंत्रण पत्र भेजेंगे।

उन्होंने कहा, ‘‘मैं कुमारस्वामी और सिद्दारमैया को व्यक्तिगत तौर पर आमंत्रित करने के लिए उनसे फोन पर संपर्क करने की कोशिश करुंगा।’’ येदियुरप्पा मंगलवार को शक्ति परीक्षण के बाद कांग्रेस-जद(एस) गठबंधन सरकार गिरने के बाद सरकार बनाने का दावा पेश करने के लिए पार्टी आलाकमान के ‘निर्देशों’ का इंतजार कर रहे थे।

जगदीश शेट्टार, अरविंद लिम्बावली, जे सी मधुस्वामी, बासवराज बोम्मई और येदियुरप्पा के बेटी वियजेंद्र समेत कर्नाटक भाजपा नेताओं के एक समूह ने गुरुवार को दिल्ली में पार्टी प्रमुख अमित शाह से मुलाकात की और सरकार गठन पर चर्चा की। इससे पहले अध्यक्ष के. आर. रमेश कुमार ने गुरुवार को दल-बदल कानून के तहत कांग्रेस के तीन असंतुष्ट विधायकों को अयोग्य करार दे दिया था।

कर्नाटक में वैकल्पिक सरकार की जरूरत इसलिए पड़ी है, क्योंकि कांग्रेस-जदएस गठबंधन सरकार विधानसभा में विश्वास मत हासिल नहीं कर पाई। कुमारस्वामी के नेतृत्व वाली 14 महीने पुरानी कांग्रेस-जद(एस) गठबंधन सरकार विधानसभा में विश्वास मत हारने के बाद मंगलवार को गिर गई। इसी के साथ राज्य में तीन सप्ताह से चल रहे सत्ता संघर्ष पर विराम लग गया।

कर्नाटक में कांग्रेस-जद(एस) की सरकार मंगलवार (24 जुलाई) को विधानसभा में विश्वास मत हासिल करने में विफल रही और सरकार गिर गई थी। इसी के साथ राज्य में करीब तीन हफ्ते से चल रहे राजनीतिक ड्रामे का अंत हो गया। मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी को संख्या बल का साथ नहीं मिला और उन्होंने विश्वास मत प्रस्ताव पर चार दिन की चर्चा के खत्म होने के बाद हार का सामना किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here