हार्दिक पांड्या विवाद को लेकर कई रातों तक सो नहीं पाए करण जौहर, बोले- ‘मैं इस नुकसान की भरपाई कैसे कर सकता हूं’

0

भारतीय क्रिकेटर हार्दिक पांड्या और केएल राहुल टेलिविजन के चर्चित शो ‘कॉफी विद करन’ के दौरान महिलाओं को लेकर दिए विवादास्पद बयान के बाद मुश्किलों में घिर गए हैं। बीसीसीआई द्वारा महिलाओं पर गई टिप्पणियों के लिए जांच लंबित होने तक दोनों को निलंबित कर दिया गया है। इस कार्रवाई के कारण उन्हें ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज से भी बाहर होना पड़ा और बीसीसीआई ने दोनों को ऑस्ट्रेलिया से वापस बुला लिया था। सोशल मीडिया पर अभी भी इनकी आलोचना हो रही है।

इस बीच पांड्या और राहुल के आपत्तिजनक बयानों को लेकर हुए विवाद पर आखिरकार चुप्पी तोड़ते हुए फिल्मकार करण जौहर ने कहा कि जो हुआ, उसके लिए वह माफी मांगते हैं। ‘कॉफी विद करण’ चैट शो के मेजबान करण ने एक इंटरव्यू में स्वीकार किया कि कार्यक्रम के दौरान हुई बातचीत ने शायद सीमाएं लांघ दीं। फिल्मकार ने यह भी कहा कि वह उनके कार्यक्रम में दिए गए बयानों को लेकर अपनी जिम्मेदारी महसूस करते है और उन्हें कई रातों तक यह सोच कर नींद नहीं आई कि इस नुकसान की भरपाई कैसे की जाए।

करण जौहर ने ‘ईटी नाउ’ को दिए एक इंटरव्यू में कहा कि मैं उस एपिसोड में हुई बातों को सही नहीं ठहरा रहा। मैं कह रहा हूं कि जो बातें कही गईं, उन्होंने शायद सीमा लांघ दी। यह मेरे मंच पर हुआ, इसलिए मैं माफी मांगता हूं। करण विश्व आर्थिक मंच की बैठक में हिस्सा लेने के लिए दावोस में हैं। उन्होंने कहा कि उस एपिसोड में जो हुआ, लड़कों ने उसकी कीमत चुका दी है।

‘इस नुकसान की भरपाई कैसे कर सकता हूं’

करण ने इंटरव्यू में कहा कि मैंने वास्तव में इसके बारे में बात नहीं की। यह मेरा कार्यक्रम और मेरा मंच था, इसलिए मैं अपनी जिम्मेदारी महसूस करता हूं। मैंने उन्हें मेहमान के रूप में आमंत्रित किया था और इसलिए कार्यक्रम के प्रभाव और नतीजे की जिम्मेदारी मेरी है। उन्होंने कहा कि मैं इस चिंता में कई रातों तक सो नहीं सका कि मैं इस नुकसान की भरपाई कैसे कर सकता हूं। मेरी बात कौन सुनेगा? यह अब मेरे नियंत्रण से बाहर की बात हो गई है।

खुद को बताया नारीवादी

करण ने स्वयं को नारीवादी बताते हुए कहा कि मैं अपने बचाव में यह नहीं कह रहा कि मैंने दोनों लड़कों से जो सवाल पूछे, वे मैं महिलाओं समेत सभी से पूछता हूं। जब दीपिका (पादुकोण) और आलिया (भट्ट) कार्यक्रम में आई थीं, मैंने उनसे भी यही सवाल किए थे। मेरा जवाबों पर कोई नियंत्रण नहीं होता। मेरे कार्यक्रम के नियंत्रण कक्ष में 16-17 लड़कियां है। ‘कॉफी विद करण’ को महिलाएं ही चलाती हैं। इसके संचालन से जुड़ा केवल मैं ही एकमात्र पुरुष हूं।

करण ने कहा कि किसी लड़की ने मेरे पास आकर यह नहीं कहा कि ‘करण यह अनुचित है’। उन्होंने कहा कि कुछ लड़कियों को पांड्या मूर्ख और कुछ को मजाकिया भी लगे। उन्होंने कहा कि उन्हें टीआरपी से फर्क नहीं पड़ता। बता दें कि शो महिलाओं पर आपत्तिजनक टिप्पणियां करने के कारण पांड्या और राहुल की खासी आलोचना हुई है और बीसीसीआई ने दोनों को जांच पूरी होने तक निलंबित कर दिया है।

हार्दिक ने खुद को घर में किया ‘कैद’

हरफनमौला खिलाड़ी हार्दिक पंड्या पर इस विवाद का गहरा असर पड़ा है। ऑस्ट्रेलिया से भारत लौटने के बाद वे घर से बाहर नहीं निकल रहे हैं और न ही किसी का फोन उठा रहे हैं। पंड्या के पिता ने पिछले दिनों एक इंटरव्यू में अपना दर्द बयां करते हुए कहा बताया था कि उन्होंने (हार्दिक) सोशल मीडिया का इस्तेमाल करना भी बंद कर दिया है। यहां तक हार्दिक मकर संक्रांति भी नहीं मनाई, जबकि उनका परिवार बड़ौदा से है और गुजरात में यह त्योहार के बेहद खास महत्व है।

पिता ने कहा है कि हाल ही में हुए विवाद के बाद वह (हार्दिक) घर से बाहर नहीं निकल रहे हैं और न ही किसी का फोन उठा रहे हैं। यहां तक कि हार्दिक ने सोशल मीडिया का इस्तेमाल करना बंद कर दिया है। उन्होंने मकर संक्रांति भी नहीं बनाई। हार्दिक के पिता हिमांशू ने अंग्रेजी अखबार मिड-डे से कहा, ‘यह त्योहार है, गुजरात में पब्लिक हॉलिडे रहता है, लेकिन हार्दिक पतंग नहीं उड़ा रहा हैं। उन्हें पतंग उड़ाना पसंद है, लेकिन उन्हें क्रिकेट के व्यस्त कार्यक्रम के कारण घर पर रहने का मौका नहीं मिला था।’

उन्होंने कहा, ‘इस बार वह घर पर है और उसके पास पतंग उड़ाने का मौका है, लेकिन अजीब स्थिति के कारण वह त्योहार मनाने के मूड़ में नहीं है।’ हिमांशू ने कहा, ‘वह प्रतिबंध से काफी निराश हैं और टीवी पर उसने जो कहा उसका उसे पछतावा है। उसने ऐसा दोबारा न करने की कसम खाई है।’ उन्होंने कहा, ‘हमने फैसला किया है कि हम इस मसले पर उससे बात नहीं करेंगे। उसके बड़े भाई क्रुणाल ने भी इस पर बात नहीं की है। हम बीसीसीआई के फैसले का इंतजार कर रहे हैं।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here