क्या टीम इंडिया के कोच के लिए विराट कोहली से ली गई थी उनकी राय?, कपिल देव ने दिया यह जवाब

0

कपिल देव की अध्यक्षता वाली तीन सदस्यीय क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) ने रवि शास्त्री को भारतीय पुरुष क्रिकेट टीम के मुख्य कोच पद पर बरकरार रखा है। शास्त्री 2021 में होने वाले टी-20 विश्व कप तक टीम के कोच बने रहेंगे।तीन सदस्यीय क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) ने शुक्रवार को संवाददाता सम्मेलन मे जानकारी दी, रवि शास्त्री 2021 में होने वाले टी-20 विश्व कप तक टीम के कोच बने रहेंगे। वह इस समय टीम के साथ विंडीज दौरे पर हैं और उन्होंने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से सीएसी के समक्ष इंटरव्यू दिया।

सीएसी के चेयरमैन कपिल देव ने कहा, “नंबर तीन पर आस्ट्रेलिया के ऑलराउंडर टॉम मूडी थे और नंबर दो पर न्यूजीलैंड के माइक हेसन। आपने जैसी उम्मीद लगाई थी रवि शास्त्री नंबर एक रहे। लेकिन यह काफी करीबी मुकाबला था।” उन्होंने कहा, “हम तीनों ने आमसहमति से फैसला किया है कि रवि शास्त्री भारतीय टीम के मुख्य कोच पद पर बने रहेंगे।”

कपिल ने कहा, “तीनों के बीच काफी जबरदस्त प्रतिस्पर्धा थी और शास्त्री काफी करीबी अंकों से आगे रहे। हमने चुनाव करते हुए कोचिंग स्किल्स, उनके अनुभव, खेल की जानकारी, उपलब्धियां और जो भी हमें पैरामीटर दिए गए थे उनको ध्यान में रखा। हमने उनके प्रेजेंटेशन को ध्यान से सुना और उनको सुनने के बाद उनको अंक दिए।”

शास्त्री ने इस रेस में आस्ट्रेलिया के टॉम मूडी और न्यूजीलैंड के माइक हेसन को पीछे छोड़ा। इन तीनों के अलावा भारत के पूर्व मैनेजर रह चुके लालचंद राजपूत और रोबिन सिंह भी रेस में थे लेकिन यह दोनों आखिरी तीन में नहीं पहुंच पाए। वहीं वेस्टइंडीज के पूर्व कोच फिल सिमंस ने अपना नाम वापस ले लिया था।

शुरूआत से ही ऐसी अटकलें थीं कि शास्त्री इस पद पर बने रहेंगे। विंडीज दौरे पर जाने से पहले टीम के कप्तान विराट कोहली ने भी शास्त्री का समर्थन किया था। शास्त्री के नेतृत्व में टीम ने पिछले साल आस्ट्रेलिया में 71 साल बाद टेस्ट सीरीज जीती थी। इंग्लैंड में खेले गए विश्व कप में भी टीम ने सेमीफाइनल का सफर तय किया था।

अंशुमन गायकवाड़ और शांता रंगास्वामी सीएसी के दो अन्य सदस्य थे। अंशुमन ने शास्त्री को चुनने की वजह बताते हुए कहा, “वह पहले से ही टीम के बारे में जानते हैं, वह टीम के खिलाड़ियों को बेहतर तरीके से जानते हैं। वह जानते हैं कि टीम में क्या समस्याएं हैं और उन्हें दूर कैसे करना है। वह टीम के सिस्टम को भी जानते हैं। वहीं अगर दूसरा होता तो उसे दोबारा से शुरू करना पड़ता। इसलिए हमें लगा कि उन्हें बरकरार रखना ही सही होगा।”

कोहली से नहीं ली राय

कपिल ने हालांकि इस बात से साफ मना कर दिया कि इस मसले पर कोहली से राय ली गई है। उन्होंने कहा, “कोहली से हमने राय नहीं ली, अगर हम उनकी राय लेते तो हम पूरी टीम की भी राय लेते।”

पूर्व भारतीय क्रिकेटर शास्त्री 2017 में टीम के कोच बने थे। उससे पहले वह 2007 में बांग्लादेश के दौरे के समय समय कुछ समय के लिए टीम कोच बने थे। इसके अलावा वह 2014 से 2016 तक टीम निदेशक भी रहे थे। शास्त्री की कोचिंग में भारत इंग्लैंड में हुए विश्व कप में सेमीफाइनल तक पहुंचा था। (इंपुट: आईएएनएस के साथ)

"
"

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here