“देश के विद्यार्थियों, पत्रकारों, विपक्षियों और सामाजिक कार्यकर्ताओं को जेल में डालते हैं और चीन-अमरीका के सामने दुम दबा लेते हैं”

0

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष एवं भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा) नेता कन्हैया कुमार ने बिना नाम लिए केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि, अपने देश के विद्यार्थियों, पत्रकारों, विपक्षियों और सामाजिक कार्यकर्ताओं को आँख दिखाते हैं, जेल में डालते हैं और चीन-अमरीका के सामने दुम दबा लेते हैं।

बेगूसराय
फाइल फोटो: कन्हैया कुमार

कन्हैया कुमार ने रविवार (21 जून) को ट्वीट कर कहा, “बिहार में एक कहावत है “घर हरावन बाहर जितावन।” साहेब भी ऐसा ही कर रहे हैं। अपने देश के विद्यार्थियों, पत्रकारों, विपक्षियों और सामाजिक कार्यकर्ताओं को आँख दिखाते हैं, जेल में डालते हैं और चीन-अमरीका के सामने दुम दबा लेते हैं।”

एक अन्य ट्वीट में कन्हैया कुमार ने लिखा, “इनका कागज़ी शेर चीनी बिल्ली बन गया और ये लोग ‘गद्दार’ उन्हें बोल रहे हैं जो इनके फर्जीवाडे़ पर सवाल उठा रहे हैं। एक तो चोरी, ऊपर से सीनाजोरी।”

कन्हैया कुमार ने एक अन्य ट्वीट में लिखा, “क्या नोटबन्दी से कालाधन आया? क्या जीएसटी से कर की चोरी रुक गई? क्या पुलवामा हमले के दोषी पकड़े गए? क्या गलवान घाटी में सब ठीक है? सावधान! ये सवाल पूछते ही आप देशद्रोही, गद्दार, चीनी एजेंट, हिन्दू और सेना विरोधी घोषित किए जा सकते हैं।”

गौरतलब है कि, 15 जून को पूर्वी लद्दाख के गलवान घाटी में चीन के पीपल्स लिबरेशन आर्मी के सैनिकों के साथ हुई हिंसक झड़प में एक अधिकारी सहित 20 भारतीय जवना शहीद हो गए थे। चीन ने स्वीकार किया इस झड़प में उसके जवान भी हताहत हुए हैं, लेकिन उसने हताहत सैनिकों की संख्या नहीं बताई है। इस घटना के बाद से ही विपक्ष सत्ता पक्ष पर लगातार निशाना साध रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here