कन्हैया ने कहा बंगाल और केरल में चुनाव प्रचार का कोई इरादा नहीं, पढ़ाई मेरी पहली प्राथमिकता है

0

जेनएयू छात्र संघ के नेता कन्हैया कुमार जिन्हें पिछले हफ्ते राष्ट्रद्रोह के मामले में दिल्ली उच्च न्यायलय से अंतरिम जमानत मिली थी, आज उन्होंने बताया कि बंगाल और केरल में होने वाले आगामी चुनावों में वह प्रचार नहीं कर पाएंगे।

कन्हैया कुमार ने बताया, “मैं पहले भी कह चुका हूँ कि मैं एक छात्र हूँ और अपनी पढाई ख़त्म करके शिक्षक बनना चाहता हूँ। मुझे राजनीति में आने का कोई इरादा नहीं है”

उन्होंने बताया कि अभी भी ‘हमारे दो साथी जेल में बंद हैं और रोहित वेमुळे के केस के साथ साथ अब इलाहबाद यूनिवर्सिटी के मामले को भी उठाने की जरुरत है जिसकी वजह से मेरे पास चुनाव प्रचार करने का समय नहीं है।

कन्हैया के जोरदार भाषण के बाद सीपीएम के महासचिव सीताराम येचुरी ने ऐलान किया था कि आगामी विधानसभा चुनावों में केरल और बंगाल में कन्हैया कुमार उनका प्रचार करेंगे। लेकिन बाद में सीताराम ने बताया कि अदालती कार्रवाई की वजहों से कन्हैया कुमार चुनाव प्रचार में नहीं आ पाएंगे।

कन्हैया कुमार ने वेंकैया नायडू के उस बयान पर चुटकी ली जिसमें नायडू ने कहा था कि कन्हैया कुमार अब सेलेब्रिटी बन गए हैं। उन्हें पॉलिटिक्स छोड़ कर अब पढाई पर ध्यान देना चाहिए।

कन्हैया कुमार ने जवाब में कहा कि हम जो कर रहे हैं उसे सक्रियता कहते हैं और सरकार जो कर रही है उसे राजनीति कहते हैं।

कन्हैया कुमार ने यह भी कहा कि नायडू जी ने तो खुद आंध्र प्रदेश में विद्यार्थी परिषद के अध्यक्ष रह चुके हैं और वो हमे बता रहे हैं कि हमें पढाई करनी चाहिए राजनीति नहीं।

LEAVE A REPLY