मीडियाकर्मियों द्वारा बहिष्कार के फैसले के बावजूद कंगना रनौत ने माफी मांगने से किया इनकार, पत्रकारों को बताया देशद्रोही, नालायक और बिकाऊ, बोलीं- ‘तुम लोग 50 रुपये में बिकते हो’

0

बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत और पत्रकार के बीच का विवाद काफी बढ़ गया है। भारतीय मनोरंजन पत्रकार गिल्ड ने समाचार एजेंसी पीटीआई के पत्रकार के साथ एक प्रचार कार्यक्रम के दौरान की गई तू-तू मैं-मैं को लेकर अभिनेत्री कंगना रनौत के बहिष्कार का फैसला लिया है। गिल्ड के प्रतिनिधिमंडल ने मंगलवार को फिल्म निर्माता एकता कपूर के साथ बैठक कर उन्हें इस बात की जानकारी दी। बैठक में मौजूद रहे पत्रकारों ने कहा कि गिल्ड के सदस्यों ने एकता और कंगना से सार्वजनिक रूप से माफी मांगने के लिए कहा है।

(IANS)

घटना को लेकर सोशल मीडिया पर कंगना के खिलाफ विवाद खड़ा हो गया था। प्रतिनिधिमंडल ने एकता को लिखे पत्र में कहा, “हमने एक गिल्ड के रूप में मिल-जुलकर कंगना का बहिष्कार करने और उन्हें मीडिया कवरेज नहीं देने का फैसला किया है।” प्रतिनिधिमंडल ने कहा कि बहिष्कार का फिल्म और उसकी बाकी टीम पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा।

कंगना रनौत ने माफी मांगने से किया इनकार

हालांकि, मामला बढ़ता देख एकता कपूर ने इस मामले पर माफी मांग ली है। एकता कपूर के प्रोडक्शन हाउस ने बालाजी टेलीफिलम्स ने सोशल मीडिया पर एक आधिकारिक बयान जारी करके माफी मांगी, लेकिन कंगना रनौत ने माफी मांगने से साफ तौर पर इनकार कर दिया है। कंगना की बहन रंगोली चंदेल ने ट्विटर पर कंगना का दो वीडियो शेयर किया है जिसमें कंगना ने इस पूरे मामले पर अपनी बात रखी है।

इस वीडियो में कंगना ने भारतीय मीडिया के बारे में बात करते हुए पत्रकारों को उन्होंने न सिर्फ ‘देशद्रोही’ बल्कि ‘दोगली बातें करने वाला’, ‘अनपढ़’ और ’50 से 60 रुपयों में बिकने वाला’ बताया है। इसके अलावा कंगना ने अपने वीडियो में किसी भी पत्रकार का नाम न लेते हुए मीडियाकर्मियों पर गंभीर और बेतुका आरोप लगाई हैं। सोशल मीडिया पर शेयर किए गए पहले वीडियो में तो उन्होंने मीडिया को उन्हें प्रोत्साहित करने के लिए धन्यवाद कहा, लेकिन इसके बाद उन्होंने दूसरे वीडियो में पत्रकारों को काफी बुरा भला बोली हैं।

कंगना ने अपने वीडियो में कहा कि ये मीडिया देश के लिए गंदे, भद्दे विचार फैलाते हैं, साथ ही देशद्रोहिता को बढ़ावा देते हुए देश की एकता पर प्रहार करते हैं। उन्होंने कहा कि ये पत्रकार मुफ्त में खाने के लिए प्रेस कॉन्फेंस में पहुंच जाते हैं। वीडियो में कंगना रनौत ने बताया कि मैंने एक पत्रकार को अपने काम की, इवेंट और फिल्म की खिल्ली उड़ाते देखा था। इनके पास कोई तर्क-वितर्क या विचार नहीं हैं, बल्कि ये मुफ्त का खाना खाने प्रेस कॉन्फ्रेंस में पहुंचते हैं।

कंगना ने अपने वीडियो में पत्रकारों को नालायक बताते हुए कहा कि तुम लोग इतने सस्ते हो कि 50 से 60 रुपए में बिक जाते हो। कंगना ने मीडिया से खुद को बैन करने का अनुरोध करते हुए कहा कि मैं नहीं चाहती कि मेरी वजह से तुम्हारे घर में चूल्हा जले, इसलिए मुझे बैन करो।

पत्रकारों ने एकता से कहा है कि जब तक कंगना इस मामले के लिए माफी नहीं मांग लेतीं, तब तक वह भविष्य के उनके कार्यक्रमों का बहिष्कार करते रहेंगे। गिल्ड के सदस्यों ने कहा कि फिल्म के प्रमोशन के लिए बुलाए गए संवाददाता सम्मेलन में कंगना ने पीटीआई के पत्रकार जस्टिन राव के सवाल को बीच में काटते हुए कहा कि वह उन्हें “बदनाम करने के लिए अभियान” चला रहे हैं। इस दौरान कंगना ने राव पर उनकी फिल्म “मणिकर्णिका” को लेकर नकारात्मक लेखन का भी आरोप लगाया था।

दरअसल, कंगना रनौत ने अपनी अपकमिंग फिल्म ‘जजमेंटल है क्या’ के गाने ‘वखरा स्वैग’ की प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी। इस दौरान पीटीआई के पत्रकार के साथ उनकी बहस हो गई जो बाद में काफी आगे बढ़ गई। प्रेस कॉन्फ्रेंस में पत्रकार ने जैसे ही अपना नाम बताया, कंगना उस पर भड़क उठीं और कई मिनट तक वो पत्रकार से झगड़ती रहीं। रिपोर्ट्स के मुताबिक कंगना ने पत्रकार से कहा, ‘तुम तो हमारे दुश्मन बन गए हो यार। बड़ी घटिया बातें लिख रहे हो।कितनी ज्यादा गंदी-गंदी बातें लिख रहे हो। इतना गंदा सोचते कैसे हो।’

पत्रकार द्वारा इस बात का विरोध करने पर उन्होंने आगे कहा, ‘तुम्हारे लिए ऐसा करना ठीक है? तुमने कहा कि मैं जिंगोस्टिक महिला हूं, जिसने मणिकर्णिका बनाई है। क्या राष्ट्रवाद पर फिल्म बनाकर मैंने कोई गलती कर दी?’ इसके बाद कंगना रनौत की काफी निंदा शुरू हो गई और सोशल मीडिया पर इस बर्ताव के लिए कंगना से माफी की मांग होने लगी।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here