कमलेश तिवारी हत्याकांड के दोनों मुख्य आरोपी गिरफ्तार, ATS ने गुजरात-राजस्थान बॉर्डर से पकड़ा, जानें कैसे हुई गिरफ्तारी

0

गुजरात पुलिस के आतंकवाद निरोधक दस्ते (एटीएस) ने उत्तर प्रदेश के लखनऊ में हिन्दू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी की सनसनीखेज हत्या के मामले को सुलझाने और इसके तीन साजिशकर्ताओं को पकड़ने के बाद अब दोनों मुख्य आरोपियों को मंगलवार को राजस्थान-गुजरात सीमा पर शामलाजी के निकट से पकड़ लिया। बता दें कि, यूपी पुलिस ने दोनों आरोपियों पर ढाई-ढाई लाख रुपये के ईनाम का ऐलान किया था।

कमलेश तिवारी
फोटो: सोशल मीडिया

गुजरात आतंक रोधी दस्ते (एटीएस) के पुलिस उपमहानिरीक्षक हिमांशु शुक्ला ने बताया कि मंगलवार शाम गुजरात-राजस्थान सीमा पर शामलाजी के पास से उन्हें तब गिरफ्तार किया गया जब वे गुजरात में घुसने वाले थे। पुलिस अधिकारी ने बताया कि तकनीकी सर्विलांस के जरिए उनकी स्थिति का पता लगाया गया, जब दोनों ने फरार होने के बाद अपने परिवार और दोस्तों से बात की। दोनों को कमलेश तिवारी की हत्या की जांच कर रही उत्तर प्रदेश पुलिस के हवाले किया जाएगा।

हिमांशु शुक्ला के मुताबिक, सूरत के लिंबायत निवासी मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव अशफाक जाकिर हुसैन शेख (34) और सूरत के ही उमरवाड़ा निवासी मोइनुद्दीन खुर्शीद पठान (27), जो पेशे से फूड डिलिवरी ब्वॉय का काम करता था, उसने ही इस हत्या को अंजाम दिया था। दोनों को मंगलवार को गुप्त सूचना और तकनीकी निगरानी के आधार पर पकड़ा गया है। 18 अक्टूबर को तिवारी की हत्या के बाद दोनों नेपाल फरार हो गए थे।

उनके पास पैसे खत्म होने के बाद जब उन्होंने अपने परिजनों और कुछ पहचान वालों से और पैसे के लिए फोन पर संपर्क किया तो उनकी तकनीकी निगरानी शुरू कर दी गई। दोनों दो दिन पहले नेपाल से उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर आए थे और मंगलवार को राजस्थान सीमा से गुजरात में प्रवेश करने वाले थे। तभी उनको पकड़ा गया। उन्होंने शुरुआती पूछताछ में ही हत्या की बात स्वीकार कर ली।

बता दें कि, मुस्लिम समुदाय और इसके पैगंबर मोहम्मद के बारे में विवादास्पद टिप्पणी के चलते पहली बार 2015 में सुर्खियों में आए कमलेश तिवारी (45) की लखनऊ के खुर्शीदबाग स्थित उनके कार्यालय में बेरहमी से दो अज्ञात लोगों ने गला रेत कर और गोली मार कर हत्या कर दी थी। हत्या मामले में सूरत के तीन लोगों और महाराष्ट्र के नागपुर से एक व्यक्ति के साथ कुल छह लोगों को पहले ही हिरासत में लिया जा चुका है।

बता दें कि, बीते रविवार को उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने कमलेश तिवारी के परिजनों से रविवार को मुलाकात की थी। कमलेश तिवारी की मां ने इस मुलाकात पर असंतोष जताया था। (इंपुट: एजेंसी के साथ)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here