जस्टिस काटजू ने कहा, मध्य प्रदेश एनकाउंटर फर्जी, दोषियों को मिले सज़ा-ए-मौत

0

सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश जस्टिस मार्कण्डेय काटजू ने भोपाल केन्द्रीय कारागार से कथित तौर पर भागे सिमी के 8 सदस्यों के एन्काउन्टर को फर्जी बताया है।

जस्टिस काटजू ने अपने आधिकारिक फेसबुक पेज पर लिखा- “जहाँ तक मुझे जानकारी प्राप्त हुयी है कथित एनकाउंटर फेक है। जो भी इसके लिए ज़िम्मेदार है, ना केवल वो जिन्होंने इसे अंजाम दिया है, बल्कि आदेश देने वाले वरिष्ठ अधिकारीयों और नेताओं को भी मौत की सजा दी जानी चाहिए ।” उन्होंने अपनी पोस्ट में प्रकाश कदम बनाम रामप्रसाद विश्वनाथ गुप्ता केस का हवाला भी दिया।

Also Read:  भोपाल एनकाउंटर में मारे गए 8 सिमी कार्यकर्ताओं में तीन को कोर्ट ने किया था बरी, प्राप्त सबूतों को बताया था अविश्वसनीय

जस्टिस काटजू

Congress advt 2

जस्टिस काटजू ने आगे  लिखा, दूसरे विश्वयुध्द के बाद नूरेमबर्ग ट्रायल्स के दौरान नाजी युध्द अपराधियों ने ये दलील दी की आर्डर तो आर्डर होता है लेकिन उनकी याचिका खारिज कर दी गई थी और अधिकतर को फांसी की सजा हुई थी । इसलिए जो पुलिस वाले सोचते है कि वे न्यायिक हत्या कर सकते हैं उन्हे मालूम हो कि फंदा उनके इंतजार में है।

Also Read:  न्यायपालिका पर आक्रामकता का खतरा, जजों की नियुक्ति प्रक्रिया को कोई हाईजैक नहीं कर सकता: चीफ जस्टिस टीएस ठाकुर

 

Also Read:  मध्य प्रदेश की जेलमंत्री ने कहा, सिमी के लोगों को मार गिराने के लिए हमारी तारीफ होनी चाहिए

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here