जस्टिस काटजू ने कहा, मध्य प्रदेश एनकाउंटर फर्जी, दोषियों को मिले सज़ा-ए-मौत

0

सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश जस्टिस मार्कण्डेय काटजू ने भोपाल केन्द्रीय कारागार से कथित तौर पर भागे सिमी के 8 सदस्यों के एन्काउन्टर को फर्जी बताया है।

जस्टिस काटजू ने अपने आधिकारिक फेसबुक पेज पर लिखा- “जहाँ तक मुझे जानकारी प्राप्त हुयी है कथित एनकाउंटर फेक है। जो भी इसके लिए ज़िम्मेदार है, ना केवल वो जिन्होंने इसे अंजाम दिया है, बल्कि आदेश देने वाले वरिष्ठ अधिकारीयों और नेताओं को भी मौत की सजा दी जानी चाहिए ।” उन्होंने अपनी पोस्ट में प्रकाश कदम बनाम रामप्रसाद विश्वनाथ गुप्ता केस का हवाला भी दिया।

Also Read:  अगले पांच साल में बंद हो जाएंगे दो हजार के नोट : RSS

जस्टिस काटजू

जस्टिस काटजू ने आगे  लिखा, दूसरे विश्वयुध्द के बाद नूरेमबर्ग ट्रायल्स के दौरान नाजी युध्द अपराधियों ने ये दलील दी की आर्डर तो आर्डर होता है लेकिन उनकी याचिका खारिज कर दी गई थी और अधिकतर को फांसी की सजा हुई थी । इसलिए जो पुलिस वाले सोचते है कि वे न्यायिक हत्या कर सकते हैं उन्हे मालूम हो कि फंदा उनके इंतजार में है।

Also Read:  वायरल हो रहा सिमी के सदस्यों के एनकाउंटर का ये विडियो जो बहुत सारे सवाल खड़े कर रहा है

 

Also Read:  जे.एस. खेहर होंगे देश के नए 44वें चीफ जस्ट‍िस

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here