रायपुर: BJP कार्यालय में पिटाई के बाद अब अपनी ‘सुरक्षा’ के लिए हेलमेट पहनकर भगवा पार्टी के नेताओं से बात कर रहे हैं पत्रकार

0

छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में इन दिनों पत्रकार भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की कवरेज के दौरान हेलमेट लगाए हुए दिखाई दे रहे हैं। कई ऐसी वीडियो और फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं जिसमें रिपोर्टर हेलमेट पहनकर बीजेपी नेताओं के बयान ले रहे हैं। इतना ही नहीं यह पहला मौका होगा जब रिपोर्टर किसी न्यूज का कवर करने एम्बुलेंस पर बैठकर गए हों और हेलमेट पहनकर बीजेपी नेताओं की बाइट ली।

PHOTO: @thealokputul

बुधवार को राजधानी में ऐसा नजारा देखने को मिला जब नगर निगम रायपुर में बीजेपी पार्षदों के प्रदर्शन को कुछ पत्रकारों ने हेलमेट पहनकर कवर किया। दरअसल, बीते शनिवार (2 फरवरी) को बीजेपी की एक बैठक के दौरान कथित तौर पर पार्टी कार्यकर्ताओं ने सुमन पांडेय नामक एक पत्रकार के साथ मारपीट की थी। जिस पत्रकार से मारपीट हुई थी, उसने कार्यालय में बैठक के दौरान हुए नेताओं के कथित झगड़े का वीडियो चोरी से बना लिया था, जिसके बाद वीडियो डिलीट करने की मांग को लेकर बीजेपी नेताओं ने उसके साथ मारपीट की थी।

उस दिन बीजेपी के प्रदेश कार्यालय एकात्म परिसर में बैठक आयोजित की गई थी। इसके कवरेज के दौरान एक पत्रकार सुमन पांडेय के साथ बीजेपी नेताओं ने मारपीट की। इस मामले में पुलिस ने रायपुर बीजेपी प्रमुख राजीव अग्रवाल और तीन पार्टी पदाधिकारियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की थी। राजीव अग्रवाल सहित तीन अन्य पार्टी कार्यकर्ताओं को पत्रकार सुमन पांडे के साथ मारपीट के आरोप में गिरफ्तार भी किया गया था। हालांकि, उन्हें उसी शाम को जमानत मिल गई।

पत्रकारों ने शुरू किया अनूठा पदर्शन

रिपोर्टर के साथ मारपीट से नाराज पत्रकारों ने अनूठे अंदाज में अपना विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया है। तमाम पत्रकारों ने रायपुर में बीजेपी के जिला मुखिया राजीव अग्रवाल के खिलाफ प्रदर्शन शुरू कर दिया है। बुधवार को जब तमाम पत्रकार बीजेपी नेताओं से बात करने के लिए आए तो उन लोगों ने हेलमेट पहन रखा था। इतना ही नहीं मंगलवार को पत्रकारों द्वारा एक बाइक रैली का आयोजन किया गया था। इस दौरान बीजेपी कार्यालय के सामने पत्रकारों ने जमकर नारेबाजी की गई।

रायपुर प्रेस क्लब के अध्यक्ष दामू अमेदरे ने द प्रिंट से बातचीत में कहा कि हमने विरोध करने के लिए हेलमेट पहन रहे हैं। अमेदरे ने बताया कि अब जब भी बीजेपी नेता की प्रेस कॉफ्रेंस होगी या वह बाइट देंगे हम अपनी सुरक्षा को लेकर किसी भी तरह का जोखिम नहीं उठा सकते हैं, लिहाजा हम हेलमेट पहनकर ही इसमे हिस्सा लेंगे। उन्होंने बताया कि 500-600 सिटी रिपोर्टर्स हेलमेट पहनकर अपना विरोध प्रदर्शन दर्ज करा रहे हैं। पत्रकार हेलमेट पहनकर और बाइक रैली निकालकर पत्रकार के साथ मारपीट की घटना का विरोध कर रहे हैं।

PHOTO: Theprint

क्या है पूरा मामला?

द प्रिंट के मुताबिक, शनिवार को पीयूष पांडे अन्य पत्रकारों के साथ बीजेपी के मंडल कार्यालय में मौजूद थे। यहां पत्रकार आंतरिक समीक्षा को कवर करने के लिए आए थे। यह समीक्षा बैठक प्रदेश में पार्टी की हाल में हुई हार की वजह पर मंथन को लेकर की गई थी। इस बैठक के दौरान पार्टी नेताओं के बीच किसी बात को लेकर विवाद शुरू हो गया और पत्रकार पांडे अपने फोन में इस घटना को रिकॉर्ड करने का प्रयास करने लगे। इसी दौरान पार्टी के नेताओं की पांडे से इस बात को लेकर बहस हुई कि वह फोन पर घटना को रिकॉर्ड कर रहे थे।

समाचार एजेंसी पीटीआई के एक वरिष्ठ पत्रकार संजीव गुप्ता ने द प्रिंट को बताया कि इस दौरान बीजेपी नेताओं ने उन्हें (पत्रकार पांडे) रोकने की कोशिश की और उन्हें आईडी कार्ड दिखाने के लिए कहा, लेकिन शायद उनके पास आईडी कार्ड नहीं था। गुप्ता ने बताया कि इसके बाद बीजेपी नेता पत्रकार का फोन लेने और वीडियो डिलीट करने की कोशिश। इन सबके बीच उन्होंने पत्रकार को थप्पड़ भी मारे। रायपुर के स्थानीय पत्रकारों का कहना है कि हम चाहते हैं कि राजीव अग्रवाल को बीजेपी पार्टी से बाहर निकाले।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here