EXCLUSIVE: शामली पिटाई मामले में पीड़ित रिपोर्टर के खिलाफ ही केस दर्ज, धरने पर बैठे पत्रकारों ने की आरोपी पुलिसकर्मियों की गिरफ्तारी की मांग

0

उत्तर प्रदेश के शामली जिले में पटरी से उतरी मालगाड़ी की कवरेज करने गए एक पत्रकार की जीआरपी के कर्मचारियों द्वारा पिटाई का सनसनीखेज मामला सामने आया है। आरोप है कि चैनल के पत्रकार के साथ मारपीट और अमानवीय कृत्य किए गए। रिपोर्टर के मुताबिक, पुलिसकर्मी सादी वर्दी में थे और उन्होंने घटनास्थल पर ही उनके साथ गाली गलौज और मारपीट शुरू कर दी, साथ ही उनका का माइक भी छीन लिया। पीड़ित पत्रकार का नाम अमित शर्मा है, जो समाचार चैनल न्यूज़ 24 का रिपोर्टर हैं।

फोटो: जनता का रिपोर्टर

इस बीच एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। पीड़ित पत्रकार अमित शर्मा ने ‘जनता का रिपोर्टर’ से बातचीत में बताया है कि जीआरपी पुलिस ने उनके खिलाफ ही केस दर्ज कर लिया है। ‘जनता का रिपोर्टर’ से अमित शर्मा ने कहा, “पुलिस ने मेरे खिलाफ ही मुकदमा दर्ज कर लिया है, जब कि मेरी शिकायत पर आरोपी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कोई केस दर्ज नहीं हुआ है। मेरे खिलाफ धारा 34 के तहत केस दर्ज हुआ है।”

पत्रकार ने आरोप लगाया है कि कवरेज के दौरान पुलिसवाले उनसे कैमरा छीनने लगे और कैमरा नीचे गिर गया। वह कैमरा उठाने के लिए झुके तो सादी वर्दी में एक पुलिसवाले ने पिटाई शुरू कर दी और भद्दी गालियां देने लगा। इतना ही नहीं रिपोर्टर ने आरोप लगाया है कि पुलिस ने उन्हें लॉकप में बंद कर दिया और फिर कथित रूप से उसके मुंह में जबरन पेशाब की। शर्मा ने आरोप लगाया है कि उन्हें लगातार पुलिसकर्मियों द्वारा धमकी दी जा रही है।

धरने पर बैठे पत्रकारों ने की आरोपी पुलिसकर्मियों की गिरफ्तारी की मांग

शर्मा ने बताया कि मेरे खिलाफ केस दर्ज होने की जानकारी उन्हें बुधवार सुबह मिली। पीड़ित पत्रकार ने कहा, “मैं और मेरे मीडिया के दर्जनों साथी यहां धरने पर बैठे हैं। हमारी मांग हैं कि एसएचओ और 6 पुलिसकर्मियों की गिरफ्तारी हो और उन्हें जेल भेजा जाए, क्योंकि उन्होंने मुझे लॉकप में बंदकर मेरे मुंह में पेशाब किए हैं। मैंने अपना मेडिकल करवाया है, जिसमें पुलिसकर्मियों द्वारा पिटाई की वजह से उनके शरीर में कई जगह गंभीर चोटें आई हैं।” पीड़ित पत्रकार ने बताया कि उन्हें जिले के सभी पत्रकारों, समाजिक कार्यकर्ताओं और जनता का पूरा समर्थन प्राप्त है।

पीड़ित पत्रकार का मेडिकल रिपोर्ट (जनता का रिपोर्टर)

पुलिसकर्मियों ने क्योंकि मारपीट?

पत्रकार ने बताया कि शामली ट्रैक बदलने के दौरान मालगाड़ी के तीन डिब्बे पटरी से उतर गए थे। शामली-सहारनपुर रेल मार्ग पर इस हादसे की वजह से ट्रैफिक प्रभावित रहा। इस दौरान वे कवरेज के लिए गए थे, जिसके बाद उन्होंने उसे देखते ही मारपीट शुरू कर दी। शर्मा ने बताया कि कुछ दिन पहले ही उन्होंने रेलवे में भ्रष्टाचार पर एक स्टोरी की थी, जिससे वहां के सभी पुलिसकर्मी उनसे काफी चिढ़े हुए थे और उसी का बदला लेने के लिए उन्होंने उनके साथ मारपीट की।

GRP इंस्पेक्टर और कांस्टेबल सस्पेंड

वीडियो वायरल होने के बाद उक्त मामले में पत्रकार की पिटाई करने के आरोपी जीआरपी एसएचओ राकेश कुमार और कांस्टेबल संजय पवार को सस्‍पेंड कर दिया गया है। यूपी के डीजीपी ओपी सिंह ने कहा है कि आरोपी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी। बता दें कि पिटाई की घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here