आपदा के बीच CM योगी के कर्नाटक दौरे को लेकर ट्विटर पर आपस में भिड़े मुख्यमंत्री कार्यालय और पत्रकार

0

उत्तर प्रदेश और राजस्थान में बुधवार शाम आई आंधी में मरने वालों की तादाद 100 से ज्यादा हो गई है। उत्तर प्रदेश में करीब 70 से अधिक लोगों की मौत हुई है जिसमें से 43 लोग आगरा से हैं। राजस्थान के अलवर, धौलपुर व भरतपुर जिलों में आए शक्तिशाली धूल भरी आंधी व तूफान से 31 लोगों की मौत हो गई है। अधिकारियों ने बताया कि मरने वालों की संख्या में इजाफा हो सकता है।मारे गए लोगों में से अधिकतर की जान धूल भरी आंधी चलने के बाद गिरी आकाशीय बिजली के कारण गई। तूफान के बाद भी कई जगहों पर बारिश हुई। उत्तर प्रदेश के क्षेत्रीय मौसम विभाग ने भी राज्य के कई जिलों में दूसरी बार धूल भरी आंधी चलने की चेतावनी दी जिसके बाद सरकार ने भी चेतावनी जारी की।

यूपी में सबसे ज्यादा तबाही

सबसे ज्यादा तबाही उत्तर प्रदेश में हुई है। आगरा के अलावा बिजनौर एवं कानपुर देहात, बरेली, पीलीभीत, चित्रकूट, रायबरेली, उन्नाव, मथुरा, अमरोहा, कन्नौज, बांदा, कानपुर शहर, सीतापुर, संभल और मिर्जापुर में लोगों की मौत हुई है। राज्य में बुधवार की रात आए तूफान में 100 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चली जिससे पेड़ गिर गए, टेलीफोन सेवा, बिजली व जल की आपूर्ति प्रभावित हुई और घरों को नुकसान पहुंचा है।

कितना मिला मुआवजा?

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कार्यालय (@CMOfficeUP) के मुताबिक प्रदेश सरकार ने गुरुवार शाम तक 70 मृतकों के परिजनों व 71 घायलों को सहायता राशि दी गई है। हर मृतक के परिवार को चार-चार लाख रुपये जारी किए गए हैं। सीएम कार्यालय के मुताबिक मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आपदा से प्रभावित परिवारों को मानक के अनुसार 24 घंटे के भीतर सहायता उपलब्ध कराने के निर्देश दिए थे।

पत्रकार और मुख्यमंत्री कार्यालय के बीच वार-पलटवार

इस आपदा के बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कर्नाटक दौरे को लेकर सोशल मीडिया पर हंगामा मचा हुआ है। इसे लेकर शुक्रवार (4 मई) को मुख्यमंत्री कार्यालय और एक वरिष्ठ पत्रकार ट्विटर पर आपस में भीड़ गए। ABP न्यूज के वरिष्ठ पत्रकार और एंकर अभिसार शर्मा ने ट्वीट कर लिखा, “कर्नाटक से यूपी लौट आईये @myogiadityanath …कोई कुछ नहीं कहेगा … @abpnewshindi पर आज सुबह 10 बजे से आज की बड़ी खबर मे लगातार बड़ी कवरेज राज्य मे तूफान ,से मौतें हैं , अलिगढ़ मुस्लिम यूनीवर्सिटी का बवाल है #AMU #Toofan”

अभिसार शर्मा के इस ट्वीट के जवाब में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आधिकारिक कार्यालय (@CMOfficeUP) द्वारा ट्विट कर लिखा गया, “24 घंटे के भीतर ही प्रभावित जनपदों में जनहानि के मामले में राहत सहायता 95.89 प्रतिशत वितरित कर दी गयी। सभी प्रभावितों की हर संभव मदद की जा रही है। प्रभारी मंत्री भी प्रभावित इलाकों का दौरा कर रहे हैं।” 

पत्रकार के मुताबिक इसके बाद मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा एक और ट्वीट कर उन्हें होमवर्क करने की नसीहत दी गई थी।हालांकि बाद में सीएम कार्यालय द्वारा इस ट्विट को डिलीट कर दिया गया। इस बात की जानकारी खुद अभिसार शर्मा ने दी है। नसीहत वाले ट्वीट के जवाब में पत्रकार ने लिखा, “बिल्कुल योगी जी हमने ये भी दिखाया था, मगर ये पूछना भी ज़रूरी है के राज्य मे ऐसी आपदा के वक़्त क्या सीएम का होना ज़रूरी नहीं? पहले भी ऐसी मिसालें हैं सर।”

वहीं, मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा नसीहत वाले ट्वीट को डिलीट किए जाने के बाद अभिसार शर्मा ने एक और ट्विट कर लिखा, “योगी जी मुझे होमवर्क करने की नसीहत देने वाले इस ट्वीट को डिलीट क्यों कर दिया आपने? मैं तो सिर्फ ये पूछ रहा था के आपदा मे सीएम का राज्य मे होना सही नहीं है क्या?”

आलोचना के बाद कर्नाटक का प्रस्तावित कार्यक्रम बीच में छोड़ वापस लौटे CM योगी

इस बीच राज्य में आए विनाशकारी तूफान में करीब 70 से अधिक लोगों की मौत के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कर्नाटक में अपना चुनाव प्रचार बीच में ही छोड़कर लौट आए हैं। बताया जा रहा है कि सीएम योगी शुक्रवार रात में ही आगरा पहुंच गए और वहां राहत कार्यों का जायजा लिया और अस्पताल में जाकर पीड़ितों से मुकाकात की। इसके बाद वह कानपुर जाकर पीड़ित लोगों से मुलाकात की।

शुक्रवार को मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा ट्वीट कर जानकारी दी गई कि सीएम योगी कर्नाटक का अपना दौरा बीच में ही खत्म कर यूपी में वापस लौट आए हैं और आज रात प्राकृतिक आपदा से सर्वाधिक प्रभावित आगरा जनपद पहुंचेंगे। जबकि कल सुबह प्रभावित क्षेत्रों का दौरा कर राहत कार्यों की समीक्षा करेंगे।

दरअसल, ऐसे समय में सीएम योगी के प्रदेश में होने के बजाय कर्नाटक में बीजेपी के लिए चुनाव प्रचार करने की आलोचना की जा रही थी। इस घटना को लेकर यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और कर्नाटक के मुख्‍यमंत्री सिद्धारमैया ने भी सीएम योगी पर तंज कसा था।

गौरतलब है कि बीजेपी के प्रचार के लिए योगी आदित्यनाथ कर्नाटक पहुंचे हुए हैं। उन्हें वहां पांच मई तक चुनाव प्रचार करना था, लेकिन आलोचनाओं के बाद उन्होंने अचानक बीच में ही अपना कार्यक्रम निरस्त कर दिया और यूपी वापस लौट रहे हैं। बता दें कि कर्नाटक में 12 मई को चुनाव होने वाले हैं।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here