जॉन केरी ने पीएम मोदी को ‘अभिव्यक्ति की आज़ादी’ पर पढ़ाया पाठ

0

अमेरिकी विदेश मंत्री जॉन केरी ने भारत में अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर लेक्चर देते हुए पीएम मोदी पर अप्रत्यक्ष निशाना साधा।
जॉन केरी ने फ्रीडम ऑफ स्पीच पर कहा, ‘हमे देश के सभी नागरिकों के अधिकारों का सम्मान करना चाहिए और उन्हे जो डर है कि अगर अपने अधिकारों के लिए वो बोलेंगे तो उन्हे जेल में डाल दिया जाएगा इस डर को उनके दिल से निकाल देना चाहिए’।

Also Read:  Top industrialists pledge support to Narendra Modi's Digital India push

आईआईटी दिल्ली में छात्रों से बात करते हुए केरी ने भारत में धार्मिक ध्रुवीकरण पर टिप्पणी की ,और कहा ‘में किसी अन्य देश की राजनीति में शामिल नहीं होना चाहता’।

उन्होंने कहा कि ध्रुवीकरण कहीं भी अच्छा नहीं था और यह असहिष्णुता और हताश करता है। केरी ने यह भी कहा है कि लोगों ने सरकार को तेजी से समस्याओं को निपटाते हुए नहीं देखी।

Also Read:  Confusion over Delhi's sanitation workers' strike, Unions dispute AAP's claims

उन्होंने कहा, ” सूचना के इस युग में, लोगों को तत्काल जानकारी के लिए उपयोग किया है। मैं सड़क जो किसी अन्य देश की चल रही राजनीति पर मेरी टिप्पणी के रूप में कार्य करेगा पर पाने के लिए नहीं करना चाहती। लेकिन महत्वपूर्ण मुद्दों के माध्यम से काम करने के लिए सहिष्णुता के लिए है। ”

उन्होंने कहा कि इस्लाम एक महान धर्म था, लेकिन कुछ लोगों ने रणनीति के तहत इसे बदनाम कर दिया है।

Also Read:  Indian streams racist abuse live on Facebook in New Zealand

आतंकवाद के मुद्दे पर केरी ने कहा, दाएश,अल कायदा,लश्कर जैसे आतंकी संगठन केवल एक ही राष्ट्र द्वारा नहीं लड़ा जा सकता है।
“हमे हिंसक उग्रवाद के मूल कारणों पर हमला करना चाहिए और हमे कड़ी मेहनत करने के बाद इन कारणों के विभिन्न रूपों को समझना होगा।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here