डॉ. अंबेडकर पर आपत्तिजनक टिप्पणी कर मुश्किल में फंसे क्रिकेटर हार्दिक पांड्या, कोर्ट ने दिया FIR दर्ज करने के आदेश

0

भारतीय क्रिकेट टीम के हरफनमौला खिलाड़ी हार्दिक पांड्या संविधान निर्माता बाबा साहेब डॉ. भीमराव अंबेडकर पर कथित विवादित टिप्पणी के मामले में मुश्किल में घिरते दिख रहे हैं। राजस्थान के जोधपुर की एक अनुसूचित जाति-जनजाति अदालत ने पुलिस को हार्दिक के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का आदेश जारी दिया है। दरअसल, पिछले दिनों हार्दिक पांड्या के खिलाफ कोर्ट में याचिका दायर कर एफआईआर दर्ज करने की मांग की गई थी, जिसको कोर्ट ने स्वीकार कर लिया।

File Photo: AFP

अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक आरोप है कि हार्दिक पांड्या ने बाबा साहेब अंबेडकर को लेकर माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर अभद्र व आपत्तिजनक टिप्पणी की है। दरअसल, पंड्या के खिलाफ याचिका दाखिल करने वाले डी.आर. मेघवाल के मुताबिक भारतीय क्रिकेटर ने पिछले साल 26 दिसंबर, 2017 को अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर एक टिप्पणी लिखी थी, जिसमें उन्होंने बाबा साहेब को अपमानित किया था और दलित समुदाय के लोगों की भावनाओं को आहत किया था।

अखबार के मुताबिक याचिकाकर्ता मेघवाल का कहना है कि पांड्या ने ट्वीट कर कहा था, ‘कौन अंबेडकर? वह व्यक्ति जिसने देश के संविधान का ड्राफ्ट तैयार किया या फिर वह जिसे देश को आरक्षण नाम की बीमारी दे दी।’ खुद को राष्ट्रीय भीम सेना का सदस्य बताने वाले मेघवाल ने कहा कि, ‘जनवरी में सोशल मीडिया के जरिए मुझे हार्दिक पंड्या की टिप्पणी के बारे में जानकारी मिली। यह अंबेडकर जैसी हस्ती के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी थी। इसके अलावा यह समुदायों के बीच नफरत फैलाने वाली थी।”

पंड्या की इस कथित टिप्पणी के खिलाफ मेघवाल ने एससी/एसटी कोर्ट में याचिका दाखिल की थी। मेघवाल ने अपनी शिकायत में बताया कि बाबा साहेब के खिलाफ क्रिकेटर द्वारा की गई अभद्र व आपत्तिजनक टिप्पणी की वजह से उनकी भावनाएं आहत हो रही हैं। अपनी शिकायत में उन्होंने कहा कि महापुरुष को लेकर ऐसी अभद्र टिप्पणी उचित नहीं है। परिवाद पेश होने के बाद अदालत ने मुकदमा दर्ज करने के आदेश जारी कर दिए हैं।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here