छात्रों में ‘देश भक्ति’ जगाने के लिए JNU कैंपस में ‘आर्मी टैंक’ लगाना चाहते हैं वीसी

0

जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी(JNU) के वाइस चांसलर(VC) एम जगदीश कुमार जेएनयू कैंपस में आर्मी टैंक लगवाना चाहते हैं। जी हां, जेएनयू के छात्रों में देशभक्ति जगाने के लिए अब एक आर्मी टैंक का इंतजाम भी किया जा सकता है।वीसी ने इस मामले में केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान और पूर्व सेना प्रमुख जनरल वीके सिंह से अपील की है कि उन्हें एक भारतीय सेना का टैंक दिलाया जाए, जिसे यूनिवर्सिटी के कैंपस में खड़ा किया जाए, ताकि इसे देखकर छात्रों को हमेशा इस बात की प्रेरणा मिलती रहे कि हमारे देश के लिए जवान कितना बलिदान करते हैं।दरअसल, JNU में रविवार(23 जुलाई) को पहली बार करगिल विजय दिवस का जश्न मनाया गया। इस दौरान जेएनयू गेट से कन्वेंशन सेंटर तक शहीदों की शान में 2200 फीट के झंडे के साथ तिरंगा मार्च निकाला गया। बता दें साल 1999 में हुए कारगिल युद्ध में भारतीय सैनिकों की शहादत की याद में ‘कारगिल विजय दिवस’ मनाया जाता है।

जेएनयू कैंपस में करगिल विजय दिवस पर आयोजिक कार्यक्रम में वीसी जगदीश कुमार ने कहा कि ’हमारे लिए देश की सुरक्षा के लिए सेना के जवानों के बलिदान को याद करने का ये महत्वपूर्ण दिन है। भारतीय सेना के टैंक की मौजूदगी से यूनिवर्सिटी से गुजरने वाले छात्रों को हमेशा भारतीय सेना के त्याग और बहादुरी की याद आती रहेगी।’

जगदीश कुमार ने बताया कि कैंपस में टैंक रखवाने का ख्याल उनके जहन में पहली बार तब आया जब पिछले साल 9 फरवरी 2016 को यूनिवर्सिटी के कुछ छात्रों ती तरफ से राष्ट्र विरोधी नारे लगाने का आरोप लगा था।’ बता दें कि इन छात्रों पर पुलिस ने देशद्रोह का मुकदमा दायर किया था। इसके बाद देश में काफी हंगामा हुआ था। उन पर अभी मामला भी चल रहा है और दिल्ली पुलिस की जांच जारी है।

करगिल विजय दिवस के इस जश्न के मौके पर पूर्व सेना प्रमुख जनरल वीके सिंह और मंत्री धर्मेंद्र प्रधान भी कैंपस पहुंचे। जेएनयू के वीसी ने जनरल वीके सिंह से अपील की कि वह जेएनयू के लिए एक पुराने आर्मी टैंक का इंतजाम करने में मदद करें, ताकि यूनिवर्सिटी की किसी खास जगह उसे रखा जा सके। जेएनयू के वीसी ने कहा कि यूनिवर्सिटी के भीतर एक आर्मी टैंक छात्रों को भारतीय सेना के बलिदान की याद दिलाता रहेगा।

इस मौके पर शहीद हुए जवानों को याद करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि दी गई। इस मार्च का आयोजन विश्वविद्यालय प्रशासन और ‘वेट्रंस इंडिया’ ने किया था। धर्मेंद्र प्रधान और जनरल वी के सिंह के अलावा इस कार्यक्रम में ‘वेट्रंस इंडिया’ के मेंटर मेजर जनरल जी डी बख्शी और क्रिकेटर गौतम गंभीर भी शामिल हुए।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here