J&K: पुलवामा आतंकी हमले में 5 जवान शहीद, कांग्रेस ने PM मोदी की विदेश नीति पर उठाए सवाल

0

कांग्रेस ने जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में रविवार (31 दिसंबर) को सीआरपीएफ के एक शिविर पर हुए आतंकवादी हमले को लेकर सरकार की निंदा की है और कहा कि यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की विदेश नीति की विफलता का संकेत है। पार्टी प्रवक्ता सुष्मिता देव ने कहा कि बार-बार होने वाले ऐसे हमलों से संदेश जाता है कि राष्ट्र विरोधी शक्तियां भारत से नहीं डरतीं।

(Express Photo/Shuaib Masoodi)

न्यूज एजेंसी भाषा की रिपोर्ट के मुताबिक देव ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि चुनाव के वक्त मोदी कहते हैं कि भारत एक मजबूत राष्ट्र है, लेकिन संघर्ष विराम उल्लंघनों में जान गंवाने वालों की संख्या बढ़ती जा रही है। उन्होंने कहा, ‘‘यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की विदेश नीति की विफलता का संकेत है।’’

देव ने कहा कि कांग्रेस चाहती है कि सरकार भारत के बाहरी और अंदरुनी दुश्मनों को नाकाम करने के लिए ठोस कदम उठाएं। देश की सुरक्षा के लिए उनके द्वारा उठाये जाने वाले कदमों पर कांग्रेस उनका समर्थन करेगी। बता दें कि पुलवामा के अवंतिपुरा में दो सशस्त्र आतंकवादियों ने केंद्रीय सेंट्रल रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) की 185 वीं बटालियन पर हमला किया।

आतंकी हमले में पांच जवान शहीद

बता दें कि पठानकोट हमले की तर्ज पर आतंकियों ने रविवार (31 दिसंबर) तड़के करीब 2 बजे दक्षिण कश्मीर के पुलवामा स्थित सीआरपीएफ कैंप को निशाना बनाया। दो से तीन फिदायीन आतंकियों ने इस हमले को अंजाम दिया, जिसमें सीआरपीएफ के एक निरीक्षक सहित पांच जवान शहीद हो गए। जबकि जवाबी कार्रवाई में दो आतंकियों को ढेर कर दिया गया है।

इस हमले की जिम्मेदारी जैश-ए-मोहम्मद ने ली है। सीआरपीएफ के प्रवक्ता राजेश यादव ने बताया कि स्वचालित हथियारों से लैस आतंकियों ने बल के पुलवामा स्थित कैंप पर हमला किया। आतंकियों ने सुरक्षा बलों को निशाना बनाकर पहले ग्रेनेड से हमला किया। जब ड्यूटी पर तैनात सुरक्षाकर्मियों ने जवाबी कार्रवाई की तो आतंकी कैंप स्थित प्रशासनिक भवन में दाखिल हो गए। शहीद निरीक्षक कुलदीप रॉय हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर के रहने वाले थे।

इनके अलावा जम्मू-कश्मीर स्थित बडगाम के रहने वाले कांस्टेबल शरीफ-उद-दीन गनेई, राज्य के राजौरी निवासी हेडकांस्टेबल तौफील अहमद, राजस्थान स्थित चूरू के कांस्टेबल राजेंद्र नैन और ओडिशा स्थित सुंदरगढ़ के कांस्टेबल प्रदीप कुमार पांडा शहीद हुए हैं। इस हमले में तीन जवान घायल भी हुए हैं।

सीआरपीएफ के प्रवक्ता ने कहा कि अब तक दो आतंकियों के शव बरामद किए गए हैं। जम्मू-कश्मीर के पुलिस महानिदेशक एस.पी.वैद ने कहा कि तीन दिन पहले ही सुरक्षा कर्मियों को खुफिया सूचना मिली थी कि इस तरह के हमले हो सकते हैं। उन्होंने कहा कि इस हमले में एक नागरिक भी घायल हुआ है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here