छत्तीसगढ़: बाढ़ से तमनार में बही सड़क, जिंदल पावर ने रातों रात सड़क का निर्माण कर जीता लोगों का दिल, देखिए वीडियो

0

महाराष्ट्र, कर्नाटक, केरल, गुजरात, छत्तीसगढ़ समेत देश के कई हिस्सों में लगातार हो रही मूसलाधार बारिश ने आम जनजीवन पूरी तरह से चौपट कर दिया है। कई प्रदेशों में बाढ़ जैसे हालात हैं, जिसमे सैकड़ो लोगों की जान चली गई है।इसी बीच, जिंदल स्टील एंड पावर लिमिटेड (जेएसपीएल) की सहयोगी कंपनी जिंदल पावर लिमिटेड (जेपीएल) ने कंपनी सामाजिक दायित्व (सीएसआर) का शानदार उदाहरण पेश किया है।

छत्तीसगढ़

कंपनी ने छत्तीसगढ़ के रायगढ़ जिले में स्थित तमनार में बाढ़ के पानी में बह गई एक पुलिया का रातों रात निर्माण कर स्थानिय लोगों का दिल जीत लिया है। यह सड़क छत्तीसगढ़ को ओडिशा से जोड़ती है और इसका बड़ा कारोबारी महत्व है। इस सड़क को स्थानीय लोगों के लिए जीवन रेखा माना जाता है। जेएसपीएल के दिल्ली कार्यालय से जारी एक प्रेस विज्ञप्ति के मुताबिक जेपीएल तमनार के चहुंमुखी विकास के लिए कटिबद्ध है और वहां के लोगों के साथ कदम से कदम मिलाकर आगे बढ़ने को तत्पर है।

दरअसल, हुआ यूं कि बीते 17 अगस्त को तमनार में मूसलाधार बारिश हुई जिससे आसपास के क्षेत्र जलमग्न हो गए। बाढ़ जैसे पैदा हुए हालात में पानी की धार इतनी तेज थी कि छत्तीसगढ़ के खुरुशुलेंगा से ओडिशा के हमीरपुर को जोड़ने वाली कुलडेग नाले पर बनी पुलिया बह गई। इससे लमडाड, गौरबाहरी और धौराभाटा समेत अनेक गांव आपस में कट गए जिससे लोगों को तमाम परेशानी होने लगी। जैसे ही यह सूचना जेपीएल कार्यालय पहुंची, वहां इससे निपटने की तैयारी होने लगी।

जेपीएल के प्रेसिडेंट और यूनिट हेड जयदेव चक्रबर्ती ने चेयरमैन श्री नवीन जिन्दल की प्रेरणा से विशेषज्ञों की एक टीम तुरंत मौके पर भेजी और इस टीम ने रातों रात मेहनत कर पुलिया का निर्माण कर डाला जिससे लोगों को काफी राहत मिली है। स्थानिय लोग इस कार्य से बेहत खुश है और वे जेपीएल के इस पुनीत कार्य के लिए श्री नवीन जिंदल का धन्यवाद कर रहे हैं।

जयदेव चक्रबर्ती ने बताया कि अब क्षेत्र में हालात सामान्य हैं। हमारी कंपनी की पहली प्राथमिकता तमनार का विकास है क्योंकि हम मानते हैं कि उद्योग का विकास तभी हो सकता है जब क्षेत्र का विकास हो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here