शंकराचार्य जयेंद्र सरस्वती के निधन पर राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, PM मोदी, राहुल गांधी सहित अन्य नेताओं ने शोक जताया

0

उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांची मठ के प्रमुख शंकराचार्य जयेंद्र सरस्वती के निधन पर आज दुख व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि शंकराचार्य ने समाज की अनुकरणीय सेवा की है जिसके कारण वह अनुयायियों के मन-मस्तिष्क में हमेशा जीवित रहेंगे।

Kanchi

न्यूज़ एजेंसी भाषा की ख़बर के मुताबिक, कांची शंकर मठ के 82 वर्षीय प्रमुख का दिल का दौरा पड़ने के बाद आज तमिलनाडु के कांचीपुरम में निधन हो गया। उन्होंने बैचेनी की शिकायत की थी जिसके बाद उन्हें एक निजी अस्पताल ले जाया गया था।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ट्वीट करते हुए लिखा कि, ‘कांची कामकोटि पीठ के 69वें शंकराचार्य श्री जयेन्द्र सरस्वती के निधन से मुझे गहरा दुख हुआ है। उन्होने अध्यात्म और समाज कल्याण के क्षेत्र में अमूल्य योगदान दिया है। उनके अनगिनत श्रद्धालुओं के प्रति मैं शोक-संवेदना व्यक्त करता हूं।’

 

नायडू ने ट्वीट किया, कांची पीठाधिपति श्री जयेंद्र सरस्वती को मेरी श्रद्धांजलि। उन्होंने मोक्ष प्राप्त किया। मानव कल्याण और आध्यात्मिकता के प्रसार में उनका योगदान अन्य लोगों के लिए हमेशा प्रेरणा बना रहेगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि शंकराचार्य अपनी अनुकरणीय सेवा और पावन विचारों के चलते लाखों अनुयायियों के मन-मस्तिष्क में हमेशा जीवित रहेंगे। मोदी ने ट्विटर पर लिखा, जगदगुरु पूज्यश्री जयेंद्र सरस्वती शंकराचार्य अनगिनत सामुदायिक सेवा पहलों के अगुवा थे। उन्होंने उन संस्थानों को बढ़ावा दिया जिन्होंने गरीबों और वंचित तबके के लोगों की जिंदगी बदल दी।

बता दें किस पीएम मोदी अपने इस ट्वीट में शंकराचार्य के साथ अपनी एक तस्वीर भी शेयर की है, जो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here