जावेद अख्तर ने कहा हिन्दु जाति व्यवस्था की वजह से भारतीय मुसलमानों को झूठी वंशावली अपनाने को मजबूर होना पड़ा

2
3

टाटा स्टील कोलकाता साहित्य महोत्सव में जावेद अख्तर ने इस्लाम और मुसलमानों के बारे में पूर्वाग्रहों से संबंधित एक सत्र में कहा कि “यह हिंदू जाति व्यवस्था है जिसने उसे (भारतीय मुसलमान) को झूठी वंशावली अपनाने पर बाध्य किया है।” आगे उन्होंने कहा कि  भारत में 90 फीसदी मुसलमान यहीं के हैं और धर्म बदलकर मुसलमान बने हैं।

जावेद अख्तर
Photo: Hindustan Times

गीतकार और शायर जावेद अख्तर टाटा स्टील कोलकाता साहित्य महोत्सव में बोल रहे थे।  “किसी आम मुसलमान से पूछिए कि आपकी वंशावली क्या है। वह कहेगा कि उसके पुरखे इराक के बसरा में फल बेचते थे। या यह कि वे अफगानिस्तान से आना (भारत) चाहते थे लेकिन खैबर दर्रे पर रुक गए। फिर उनसे पूछिए कि आखिर क्यों रुक गए।” जावेद अख्तर ने कहा, “ऐसा हिंदू जाति व्यवस्था के कारण हुआ।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, अगर वह स्वीकार कर ले कि उसके दादा ने पंजाब में धर्म परिवर्तन किया था जोकि उन्होंने किया था (हिंदू से मुसलमान बने थे) तो फिर वे (हिंदू) पूछेंगे कि तुम्हारे दादा धर्म परिवर्तन से पहले क्या थे। यह हिंदू जाति व्यवस्था है जिसने उसे (भारतीय मुसलमान) को झूठी वंशावली अपनाने पर बाध्य किया है।”

जावेद अख्तर ने कहा कि मुसलमानों को कहा जाता है कि वे हमलावर हैं, बाहर से आए हैं। मगर ऐसा नहीं है। 90 फीसदी मुसलमान के यहीं के होने के बावजूद उन्हें बाहरी करार दिया जाता है और मुसलमान भी खुद को बाहरी बताते हैं।

जावेद अख्तर ने ‘उम्मा’ शब्द के बारे में भी बात की। इसका अर्थ हर देश में मौजूद मुसलमानों के एकजुट सामूहिक समुदाय से लिया जाता है। उन्होंने कहा, ‘यह शब्द दोनों तरफ से घातक हो गया है। लोग किसी एक समुदाय को देखते हैं तो उसके बारे में राय बनाने लगते हैं। समुदाय के लोग भी अपने अंदर से ही अपने बारे में एक राय कायम कर लेते हैं। यह स्टीरियोटाइप होने की प्रक्रिया दोतरफा है।’

2 COMMENTS

  1. Bhagawana Ram Upadhyay
    22 hrs
    Ramesh Pujari
    रुपया पंहुचा आज तक के सबसे निचले स्तर पर 68.80….
    और पैट्रोल उच्चतम स्तर पर
    आज तीन बयान याद आ गए
    (1) जैसे जैसे रूपए गिरता है वैसे वैसे देश की गरिमा गिरती है।- सुषमा स्वराज ।
    (2) पैट्रोल के बड़े दाम दिल्ली में बैठी सरकार की नाकामयाबी का प्रतीक है – नरेंद्र मोदी।
    (3) दिल्ली में बैठी सरकार और रुपये में होड़ लगी है कौन कितना गिरेगा -नरेंद्र मोदी
    यह उस वक़्त भाजपा नेताओं के बयान है जब भाजपा विपक्ष में थी
    खैर अब तो
    अच्छे दिन है
    इस लिए गिरता रुपया
    राष्ट्र को समर्पित की श्रेणी में माना जायेगा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here